दमोह के प्राचीन तालाब की सफाई शुरू:500 एकड़ में फैला है तालाब, सैकड़ों ट्रॉली जलकुंभियां फेंकी

दमोहएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दमोह के सबसे प्राचीन फुटेरा तालाब की सफाई का कार्य शुरू हो गया। नगरपालिका प्रशासन मछुआ समिति के लोगों को तालाब की सफाई का काम सौंपा है। करीब 2 माह पहले भी नगर पालिका की ओर से तालाब की जलकुंभी की सफाई का काम कराया था। जिसमें सैकड़ों ट्राली जलकुंभी निकालकर फेंकी गई थी। करीब 500 एकड़ में फैली इस प्राचीन तालाब के संरक्षण के लिए स्थानीय युवाओं के द्वारा लगातार प्रशासन से मांग की जा रही थी। जिसके बाद नगर पालिका प्रशासन ने मछुआ समिति के सदस्यों से इस तालाब की जलकुंभी निकलवाई थी। अब एक बार फिर नगर पालिका प्रशासन के द्वारा इस तालाब के गहरीकरण और घाटों की सफाई का काम शुरू किया जा रहा है। क्षेत्र के युवा नित्या प्यासी ने बताया कि यह दमोह का सबसे प्राचीन तालाब है। जिस पर कुछ लोगों के द्वारा अतिक्रमण किया गया है। उन्होंने प्रशासन को आवेदन देकर तालाब का सीमांकन कराने और अतिक्रमण हटाने की भी मांग की है।