• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Damoh
  • The Statue Was Stolen From Rukmani Math In Kundalpur In 2002, Brought To Gyaraspur Museum In 2019

माता रुक्मणी की प्रतिमा मठ में स्थापित कराने की मांग:2002 में कुंडलपुर के रुकमणी मठ से चोरी हुई थी प्रतिमा, 2019 में ग्यारसपुर संग्रहालय लाए थे

दमोह15 दिन पहले

जिले के यादव समाज ने बुधवार को जिला प्रशासन को ज्ञापन देकर मांग की है कि दमोह दमयंती संग्रहालय में रखी माता रुक्मणी की प्रतिमा को कुंडलपुर के प्राचीन मठ में स्थापित किया जाए। यदि ऐसा नहीं होता तो उन्हें सभी धार्मिक संगठनों के साथ मिलकर उग्र आंदोलन करना पड़ेगा, जिसमें यदि कोई समस्या होती है, तो पूरी जवाबदारी जिला प्रशासन की होगी।

यादव महासभा के पदाधिकारी परम यादव ने बताया कि साल 2002 में माता रुक्मणी की प्राचीन प्रतिमा कुंडलपुर के रुकमणी मठ से चोरी हो गई थीं। इस प्रतिमा को राजस्थान पुलिस ने जब्त किया था, जो मध्य प्रदेश के ग्यारसपुर संग्रहालय में रखी थी। स्थानीय लोगों की मांग के बाद 2019 में इस प्रतिमा को ग्यारसपुर संग्रहालय से दमयंती संग्रहालय लाया गया था, लेकिन अब प्रतिमा संग्रहालय में बंद पड़ी है।

वह चाहते हैं कि माता रुक्मणी लोगों की आस्था का केंद्र है, इसलिए प्रतिमा को रुकमणी मठ में स्थापित किया जाए। उन्होंने कहा कि इसके पहले भी कई बार धार्मिक सामाजिक संगठन की मांग कर चुके हैं, लेकिन कोई सुनवाई नहीं हो रही है। इसीलिए उन्होंने फिर से ज्ञापन दिया है। यदि प्रशासन उनकी मांग को गंभीरता से नहीं लेता है, तो वह उग्र आंदोलन करेंगे।

खबरें और भी हैं...