• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Damoh
  • Patera
  • After The Code Of Conduct, The Amount Was Withdrawn For The Panchayat Works, Even After The Investigation, The Officers Are Not Taking Action.

निर्माण कार्यों में गड़बड़ी की बात आई सामने:आचार संहिता के बाद पंचायत कार्यों के लिए राशि आहरण की गई, जांच के बाद भी कार्रवाई नहीं कर रहे अधिकारी

पटेरा24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जनपद पंचायत अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत कुम्हारी में पूर्व सरपंच के कार्यकाल में निर्माण कार्यों में गड़बड़ी की बात सामने आई है। जिसमें सचिव पर आरोप लगाए गए और सचिव को हटाने के लिए सरपंच, उप सरपंच एवं पंचों द्वारा आवेदन दिए गए। लेकिन आज तक कोई कार्रवाई नहीं की गई। साथ ही पंचायत के कार्यों की जांच कराई गई जिसमें 16 लाख रुपए की राशि बगैर काम के पंचायत से आहरण की गई है। लेकिन यह जांच जनपद पंचायत पटेरा के सीईओ अपने पास दबाए बैठे हैं।

बताया गया है कि कुम्हारी सचिव को भाटिया में स्थानांतरण किया गया है, लेकिन कुम्हारी पंचायत का अतिरिक्त प्रभार करीब 4 वर्ष से चल रहा है, यहां किसी सचिव की पदस्थापना नहीं की गई। पंचायत चुनाव के पूर्व कुम्हारी सरपंच एवं सचिव जाते जाते पंचायत को कंगाल कर गए। कुम्हारी पंचायत के नवागत सरपंच को पंचायत के खाते में मात्र 18 हजार रुपए ही मिले। जबकि कई घोटाले सामने आए जिसकी शिकायत की गई और उच्च अधिकारी द्वारा जांच की गई। जांच अधिकारी सुनील असाटी एईओ, सुमन उपयंत्री, ध्रुव श्रीवास्तव एडीओ द्वारा कुम्हारी पंचायत में गड़बड़ी की जांच की गई थी।

पूर्व सरपंच सियारानी आदिवासी एवं सचिव विजय कुमार पर आंगनवाड़ी भवन की राशि तालाब के घाट के नाम पर राशि का बंदरबांट करने के आरोप लगाए गए। सीसी नाली निर्माण की राशि निकाल लिए गए प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र के पास बाउंड्रीवॉल के 15 लाख की स्वीकृति की गई थी जिसमें से 12 लाख तीन हजार निकाल लिए गए। जबकि बाउंड्रीवॉल का उपयंत्री द्वारा मूल्यांकन किया गया।

गौर करने वाली बात है कि ग्राम पंचायत चुनाव की आचार संहिता 25 मई से लग गई थी। जैसे ही आचार संहिता लगी उसके तुरंत बाद जनप्रतिनिधियों के समस्त प्रकार के अधिकार समाप्त हो जाते हैं, इसके बाद भी किस अधिकार के तहत राशि आहरण कर दी गई यह समझ के परे है। ग्रामीणों ने बताया कि जो राशि निकाली गई है उसकी जांच हुई जिसमें 16 लाख रुपए की वसूली भी निकाली गई। वर्तमान सरपंच रश्मि यादव का कहना है कि ग्राम पंचायत का चार्ज लिया तो मुझे केवल 18 हजार ही खाते में मिले। फेसबुक के माध्यम से जानकारी लगी की लाखों की राशि पहले ही आहरण कर ली गई।

कुम्हारी सचिव विजय खंपरिया का कहना है कि कुछ निर्माण कार्य पूर्ण हो चुके हैं और कुछ निर्माण कार्य अभी अधूरे पड़े हैं जो पूर्ण किए जाएंगे, 16 लाख रुपए की रिकवरी थी कुछ भर दी गई है लगभग 6 लाख और रिकवरी बची है।

खबरें और भी हैं...