प्राइवेट में आता है एक से डेढ़ लाख का खर्चा:कैंप लगाकर किया ह्योस्पेडियास बीमारी से पीड़ित बच्चों का इलाज

दतिया10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

गवर्नमेंट मेडिकल कॉलेज दतिया के सर्जरी विभाग में गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा और डीन डॉ. दिनेश उदैनिया के अथक प्रयासों से स्पेशल कैंप लगाकर जन्मजात बीमारियों से पीड़ित ह्योस्पेडियास बीमारी (जिसमे बच्चो के पेशाब का रास्ता लिंग में ना होकर ऊपर या नीचे होता है), ऐसी कई सारे बच्चों को कैंप में चिन्हित किया गया। झांसी से विशेष आग्रह पर यूरो सर्जन डॉ. जनक राजपूत के मार्गदर्शन में सर्जरी टीम के द्वारा इन बच्चों की ह्योस्पेडियास के सर्जरी संपन्न की गई।

मेडिकल कॉलेज के सर्जरी विभाग एचओडी डॉ. केदार नाथ आर्य ने बताया कि ये काफी नाजुक और मुश्किल सर्जरी होती है जिसमे लिंग को सीधा करना और पेशाव का नया रास्ता बनाना पड़ता है। मरीज को ये ऑपरेशन करवाने का एक बार ही मौका मिलता है। एक बार की सर्जरी में ही 100% रिजल्ट देना होता है। प्राइवेट में इसका एक से डेढ़ लाख रु. तक का खर्च आता है।

खबरें और भी हैं...