• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Datia
  • Saddened By Non receipt Of Cash, The Farmer Said The Traders In The Market Understand Our Thunder, If You Want To Sell Then Sell, Otherwise Take Away

किसानों को नगद भुगतान नहीं:नगद पैसे न मिलने से दुखी किसान बोले- मंडी में व्यापारी हमारी गर्ज समझ रये, बेचने है तो बेंचो, नहीं तो ले जाओ

दतिया2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कृषि उपज मंडी में राेज 15 हजार क्विंटल से अधिक उपज की खरीद हो रही है। इसमें सबसे ज्यादा धान है। किसान दो-दो दिन मंडी में रुकने के बाद उपज बेच पा रहे हैं लेकिन उपज बेचने के बाद किसानों को खाली हाथ घर लौटना पड़ रहा है क्योंकि व्यापारी उन्हें नगद भुगतान नहीं कर रहे। गल्ला व्यापारी भुगतान के लिए किसान को 15 से 20 दिन की आगे की तारीख दे रहे हैं।

दैनिक भास्कर ने मंगलवार शाम कृषि मंडी में पहुंचकर धान बेचकर घर लौट रहे किसानों से बात की तो उनका दर्द झलक आया। इन किसानों का कहना था- व्यापारी हमारी गर्ज समझकर फसलें खरीद रये हैं, बेचने है तो बेंचो अन्यथा घरे ले जाओ। पैसा देवे के लाने 15 दिन बाद की तारीख दे रये। घर में दो दिन बाद मोड़ी की शादी है और शादी के 10 दिन बाद पैसा मिले।

इन दिनों जिले की सभी मंडियों में खरीफ सीजन की उपज बिकने के लिए पहुंच रही हैं। अक्टूबर और नवंबर महीने में दतिया मंडी में 3 लाख 64 हजार 339 क्विंटल धान खरीदी जा चुकी है। मूंगफली 22 हजार 699 क्विंटल और तिल 6378 क्विंटल खरीदी जा चुकी है। धान का वर्तमान रेट 3500 रुपए क्विंटल चल रहा है जबकि मूंगफली 4400 से 5200 रुपए प्रति क्विंटल है। हालांकि इस साल मंडी में मूंग और उड़द की फसल बिकने नहीं आई। बरसात के कारण हजारों हेक्टेयर में खड़ी उड़द की फसल सड़कर खराब हो गई। जो किसान मंडी में उपज लेकर पहुंच रहे हैं, उन्हें व्यापारी नगद भुगतान नहीं दे रहे। 10 हजार से ऊपर भुगतान होने पर लौटा रहे व्यापारी, तौल और मजदूरी भाड़ा भी जबरदस्ती काट रहे, किसान बोले- पैसों के लिए 15 दिन के बाद ही बुला रहे

2.9 लाख की धान बेची, व्यापारी ने 7 हजार रुपए देकर कहा- अब 13 तारीख को आना जबकि 7 दिसंबर को घर में शादी
रानीपुरा के किसान मनोज लोधी के घर 7 दिसंबर को बेटी की शादी है। मनोज ने दतिया कृषि उपज मंडी में पीपल के पेड़ के बगल में दुकान पर 3545 रुपए प्रति क्विंटल के भाव से 2 लाख 9 हजार 155 रुपए की धान बेची। व्यापारी ने उन्हें इसके बदले में सिर्फ 7 हजार रुपए ही दिए। शेष 2 लाख 2 हजार 155 रुपए रोक लिए। अब 13 दिसंबर को शादी के बाद ही रुपए लेने के लिए कहा। मनोज का कहना है कि घर में शादी की खरीददारी होना बाकी है। व्यापारी रुपए नहीं दे रहे हैं कैसे काम चलेगा। खुद की रकम व्यापारी के पास फंस गई है और दूसरों से उधार लेकर शादी करना पड़ेगी।

बीमार दादी अस्पताल में भर्ती है इलाज के लिए पैसों की जरूरत, व्यापारी ने 15 दिसंबर बुलाया
मंगलवार को प्यावल से दतिया आए किसान गुलाब पाल ने बताया कि उन्होंने 24 नंबर दुकान पर 3450 रुपए प्रति क्विंटल के भाव से 39 हजार 675 रुपए में 11 क्विंटल 45 किलो धान बेचा है। व्यापारी ने 7900 रुपए दिए और शेष रुपए लेने के लिए पर्ची थमा दी। व्यापारी ने कहा 30 हजार रुपए 15 दिसंबर के बाद लेने के लिए आना। पाल के मुताबिक उनकी बीमार दादी झांसी के अस्पताल में भर्ती हैं। इलाज के लिए रुपए चाहिए अब 15 दिन और इंतजार करना पड़ेगा।

61 हजार का धान बेचा, व्यापारी ने सिर्फ 200 रुपए दिए, शेष राशि के लिए 20 को बुलाया

मंगलवार को सरसई से दतिया कृषि उपज मंडी में धान की फसल बेचने के लिए विपिन राय ने बताया कि उन्होंने 24 नंबर दुकान पर 18 क्विंटल धान बेचा है। धान का भाव व्यापारी ने 3400 रुपए दिया। इस हिसाब से 61 हजार 200 रुपए में उनका धान बिका। व्यापारी ने उन्हें धान बेचने के बाद सिर्फ 8 हजार रुपए दिए, बाकी 53 हजार रुपए रोक लिए। शेष राशि देने के लिए व्यापारी ने उन्हें 20 दिसंबर को बुलाया है।

हम संबंधित व्यापारियों पर कार्रवाई करेंगे
"जो व्यापारी नगद भुगतान नहीं कर रहे हैं, उन्हें हम नोटिस जारी करेंगे। अगर कोई व्यापारी अनावश्यक कटौत्रा कर रहा है तो किसान हमें बताएं। हम संबंधित व्यापारियों पर कार्रवाई करेंगे।"
-रविंद्र सिंह परिहार, सचिव, कृषि उपज मंडी, दतिया

खबरें और भी हैं...