नगरीय निकाय चुनाव:नाम वापसी के बाद भी नहीं थम रही नाराजगी, कन्नौद में नगर कांग्रेस अध्यक्ष ने दिया इस्तीफा

खातेगांव2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नाम वापसी का समय निकलने के बाद अब कई वार्डों में कांग्रेस-भाजपा के बागी निर्दलीय उम्मीदवार के रूप में टक्कर दे रहे हैं। दोनों पार्टियों के नेताओं ने अपने-अपने स्तर से इन्हें समझाने के भरपूर प्रयास किए लेकिन सफल नहीं हुए। अब इन बागियों ने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में अपना चुनाव अभियान/प्रचार शुरू कर दिया है।

नगर कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष संतोष पंडा ने टिकट वितरण में उज्जैन संभाग प्रभारी पूर्व मंत्री सज्जन सिंह वर्मा पर हठधर्मिता करने का आरोप लगाते हुए पद से इस्तीफा दे दिया है। पंडा पिछले 13 साल से नगर कांग्रेस अध्यक्ष का दायित्व संभाल रहे थे।

इस्तीफा पत्र में बताया कि नगर परिषद चुनाव में टिकट वितरण में निष्ठावान कार्यकर्ताओं की अनदेखी की गई और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ की गाइड लाइन का उल्लंघन करते हुए वार्ड के निवासी को टिकट न देकर अन्य वार्ड के निवासियों को पार्षद पद के टिकट दिए, जिससे कार्यकर्ताओं में रोष व्याप्त है।

वार्ड 4 के अधिकृत प्रत्याशी को अंतिम समय में बदला

कांग्रेस के अधिकृत किए वार्ड 4 के पार्षद प्रत्याशी आमीन पिता हबीब खां को नाम वापसी के अंतिम समय में बदल दिया। इस कारण आमीन खां अपना नमांकन पत्र वापस नहीं ले सके और निर्दलीय उम्मीदवार बन गए। जिला कांग्रेस अध्यक्ष अशोक कप्तान ने कन्नौद नगर के 15 वार्ड के लिए प्रत्याशियों की जो सूची जारी की थी। उसमें वार्ड 4 से आमिन खां को पार्टी का अधिकृत प्रत्याशी घोषित किया था। लेकिन नेताओं ने नाम वापसी के अंतिम दिन, अंतिम समय में आमीन के स्थान पर रफीक के नाम का बी फॉर्म जमा करा दिया। आमिन ने पार्टी/संगठन के वरिष्ठ पदाधिकारियों से इस मामले में उचित कार्रवाई करने की मांग की है।

जिलाध्यक्ष ने कहा

बी फॉर्म के दौरान नाम बदलने की शिकायत मिली है। ब्लॉक अध्यक्ष ने पार्टी की रीति-नीति के विरूद्ध काम किया है। संगठन के वरिष्ठ पदाधिकारियों को सूचित कर उनकी सहमति से ब्लॉक अध्यक्ष को हटाने की कार्रवाई की जाएगी।

  • अशोक कप्तान, कांग्रेस जिलाध्यक्ष देवास
खबरें और भी हैं...