• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Dewas
  • Estimated To Be More Crowded On Mata Tekri On Navratri, But Still Construction Work Incomplete

लेटलतीफी:नवरात्रि पर माता टेकरी पर भीड़ ज्यादा हाेने का अनुमान, लेकिन अब भी निर्माण कार्य अधूरे

देवास15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
माता टेकरी सीढ़ी द्वार के सामने चल रहा निर्माण कार्य कब हाेगा पूरा। - Dainik Bhaskar
माता टेकरी सीढ़ी द्वार के सामने चल रहा निर्माण कार्य कब हाेगा पूरा।

शक्ति की भक्ति का बड़ा पर्व नवरात्रि इस बार 26 सितंबर से शुरू हाे रहा है। माता टेकरी पर मां चामुंडा और तुलजा भवानी के दर्शन के लिए लाखाें की संख्या में भक्त आएंगे। नवरात्रि पर्व में मात्र 1 सप्ताह बचा है फिर भी एबी राेड के पुराने डिवाइडराें काे ताेड़कर नए बनाने का काम चल रहा है। यह कार्य एक सप्ताह में पूरा हाेता नहीं दिख रहा, क्याेंकि अभी भी डिवाडर बन रहे हैं, उसके ऊपर लाेहे की जालियां नहीं लगाई हैं। नवरात्रि पर रात में अचानक से जनसैलाब उमड़ता है और श्रद्धालु बिना जाली के डिवाइडराें से इधर से उधर निकलेंगे ताे यातायात प्रभावित हाेगा।

दाे साल से महामारी की वजह से इतनी भीड़ नहीं आई थी, जितनी इस बार आने का जिला प्रशासन भी अनुमान लगा रहा है। रात में भीड़ बढ़ी ताे टेकरी पर चढ़ने के लिए सिर्फ एक ही रास्ता रपट मार्ग चालू रहेगा। सीढ़ी द्वार और धूनी मार्ग पुलिस लाइन की तरफ वाले से लाेगाें काे नीचे उतारा जाएगा। इसके अलावा राेप-वे का भी उपयाेग किया जाएगा। भीड़ हाेने पर टेकरी के पाथवे पर भी श्रद्धालुअाें काे घूमाकर रपट मार्ग की तरफ ले जाया जाएगा। रपट मार्ग पर जिकजैक लगाए जा रहे हैं, जिससे भीड़ एक साथ ऊपर न चढ़ते हुए धीरे-धीरे आगे बढ़ सके।

सबसे ज्यादा फ्लाे इंदाैर के श्रद्धालुओॆ का रहता है
हर बार माता टेकरी पर सबसे ज्यादा दर्शन करने के लिए इंदाैर की तरफ से श्रद्धालु आते हैं। रात में इतनी भीड़ बढ़ जाती है कि टेकरी से 4 किमी दूर ही वाहनाें काे राेकना पड़ता है। वाहनाें काे पार्क कर लाेग रात में पैदल-पैदल माता टेकरी तक आकर ऊपर चढ़ते हैं। इंदाैर के अलावा उज्जैन, भाेपाल, मक्सी राेड के व ग्रामीण क्षेत्राें से भी दर्शनार्थी दर्शन के लिए आते हैं।

भीड़ बढ़ते ही बसाें काे शहर से बाहर कर दिया जाएगा
ट्रैफिक टीआई सुप्रिया चाैधरी ने बताया, नवरात्रि के प्रारंभिक दिनाें में माता टेकरी पर दर्शन करने वालाें की संख्या कम रहती है, इसलिए शहर में आने वाली यात्री बसाें काे रूटीन की तरह आने दिया जाएगा। जैसे ही भीड़ बढ़ती है वैसे ही बसाें काे शहर से बाहर कर दिया जाएगा। इंदाैर की बसाें का मधुमिलन चाैराहा, उज्जैन की तरफ बस इटावा बस स्टैंड, भाेपाल की तरफ से आने वाली बसाें का मीठा तालाब के सामने और मक्सी-शाजापुर रूट की बसाें का स्टैंड कृषि उपज मंडी क्रमांक दाे काे बनाया जाएगा। शहर के ट्रैफिक काे भी घुमाया जाएगा।

भीड़ बढ़ने पर इंदाैर उज्जैन की तरफ से आने वाले वाहनाें काे स्टेशन राेड से गजरा गियर्स चाैराहे हाेते ही भाेपाल चाैराहा निकाला जाएगा। बाहर से आने वाले प्राइवेट वाहन चालकाें से अपील है कि वह नवरात्रि में अपने वाहन शहर में नहीं लाते हुए बायपास से अपने रूट के लिए निकल जाएं। शहरी लाेग ही अपने वाहन लेकर प्रवेश करें।

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रहेंगे
ज्यादा श्रद्धालुओं के आने का अनुमान है। तीनाें प्रवेश द्वार पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम रहेंगे, अधिकारियाें की ड्यूटी 24 घंटे लगेगी। दाेनाें माताओँ के आसानी से दर्शन करवाएंगे। नवरात्रि के पहले दिनाें में गाैरव दिवस भी मनाया जाएगा। -प्रदीप साेनी, एसडीएम व देव स्थान प्रबंध समिति सचिव

ट्रैफिक प्लाॅन पर कर रहे काम
नवरात्रि के दाैरान भीड़ विकेंड, सप्तमी और अष्टमी पर बढ़ती है। इसकाे लेकर ट्रैफिक प्लाॅन तैयार कर रहे हैं। माता टेकरी पर श्रद्धालुओं के आसानी से दर्शन करवाए जाएंगे। -किरण शर्मा, ट्रैफिक डीएसपी देवास।

खबरें और भी हैं...