• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Dewas
  • It Is Necessary For All The Employees In The School To Have A Police Character Certificate.

सुरक्षा को लेकर पहल:स्कूल में सभी कर्मचारियों का पुलिस चरित्र प्रमाण-पत्र होना जरूरी

देवास16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पांच दिन पहले भोपाल में एक निजी स्कूल के बस ड्राइवर नर्सरी की साढ़े तीन साल की मासूम बच्ची के साथ स्कूल आते-जाते छेड़खानी करता था और फिर दुष्कर्म किया। घटना के बाद पालकों में चिंता और डर बन गया। एेसी घटना काे लेकर स्थानीय शासन और पुलिस प्रशासन ने भी बच्चों की सुरक्षा को लेकर पहल की है।

पुलिस आईजी और संभागायुक्त उज्जैन संदीप यादव के निर्देशानुसार शनिवार को एसपी कार्यालय के कंट्रोल रूम में शहर एवं जिले समस्त अशासकीय शिक्षण संस्थानों के संचालकों-प्राचार्यों को बुलाकर स्कूल के बच्चों की सुरक्षा और सुप्रीम कोर्ट की गाइडलाइन का पालन करने के निर्देश दिए। बैठक में एडीएम महेंद्र कवचे, एडीशनल एसपी मनजीतसिंह चावला ने स्कूल संचालकों से चर्चा करते हुए भोपाल में बच्ची के साथ हुई घटना का जिक्र करते हुए कहा आप लोग स्पष्ट सुन लें, सुप्रीम कोर्ट की जो गाइडलाइन है स्कूल वाहनों को लेकर सबको जानकारी होना चाहिए। वाहन अपडेट होना चाहिए।

स्कूल में चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी से लेकर समस्त स्टाफ का पुलिस चरित्र प्रमाण पत्र होना चाहिए। साथ विशेष तौर पर बस चालक वाहन चालकों का एक फार्म भराना है जिसमें उसमें उसकी जानकारी रहेगी।

परिवहन अधिकारी जया वसावा ने स्कूल संचालकों को बिंदुवार सुप्रीम कोर्ट गाइडलाइन की जानकारी दी और यह भी कहा कि जिन्होंने अभी वाहनों को अपडेट नहीं कराया है वे तत्काल करा लें नहीं तो चेकिंग करने के बाद फिर समस्या आती है। बैठक में 200 से अधिक स्कूल संचालक, जिला शिक्षा अधिकारी एच एल खुशाल और सीएसपी विवेक सिंह चौहान, ट्रैफिक टीआई सुप्रिया चौधरी, कोतवाली टीआई महेन्द्र सिंह परमार उपस्थित रहे। बैठक दोपहर 1 बजे से 3 बजे तक चली।

खबरें और भी हैं...