तरबूज में पाइन एप्पल का टेस्ट:MP के किसान ने उगाया पीले रंग का वाटरमेलन, ताइवान से बुलाया बीज; दिल्ली में भी मांग

मनोज साेलंकी . बदनावर3 महीने पहले

मप्र के तरबूज की एक खास किस्म स्वाद लेने वालों को हैरान कर रही है। इस तरबूज को खाने पर पाइनएप्पल का स्वाद आता है। अंदर से पीले रंग का यह तरबूज लोगों को काफी पसंद आ रहा है। इंदौर के साथ ही दिल्ली में इसकी अच्छी मांग है।

धार जिले में बदनावर के ढोलाना गांव में किसान ललित व मुकेश रामेरिया ने खेत पर यह विशेष तरबूज उगाया है। गर्मियों के मौसम में लोग पीले रंग के इन तरबूज का खूब आनंद ले रहे हैं। लाल तरबूज की तुलना में यह स्वादिष्ट भी ज्यादा है। आसपास के लोग इस तरबूज को देखने और खाने के लिए सीधे खेत पर पहुंच रहे हैं।

32 रुपए प्रति किलो तक बिका

किसान ललित व मुकेश ने बताया कि एक ही खेत में अलग अलग वैरायटी के तरबूज लगाए गए थे। कुछ वैरायटी गर्मी व वायरस से खराब हो गई। अंदर से पीले रंग वाली नई किस्म ठीक रही। इसका स्वाद नया होने से पहला प्रयास अच्छा रहा। मालवा की उपजाऊ जमीन में पहली बार में ही अच्छी पैदावार हुई है। बदनावर, इंदौर सहित प्रदेश के अन्य शहरों के अलावा यह तरबूज दिल्ली भी भेज चुके हैं। वहां 32 रुपए किलो में यह तरबूज बिका था।

ताइवान से 70 हजार रुपए प्रति किलो बुलाया बीज

किसान मुकेश ने बताया कि यह तरबूज उन्होंने यूट्यूब पर देखा था। जिसके बाद उन्होंने अपने खेत मे उत्पादन का निश्चय किया। यह ताइवान का बीज है। जो 70 हजार रुपए किलो के भाव से बुलवाया था। एक बीघा जमीन में 250 ग्राम बीज बोया था। इसमें सिंचाई व खाद की आवश्यकता होती है। हालांकि कई लोग पहली बार में इसे खाने में संकोच करते हैं। एक बार जो इसे खा लेता है, वह उसके टेस्ट को भूल नहीं पाता।

खेत से तरबूज तोड़कर दिखाता किसान।
खेत से तरबूज तोड़कर दिखाता किसान।
खबरें और भी हैं...