जागरूकता कार्यशाला:डीएसपी ने कहा- साइबर अपराध से सतर्क रहकर ही बच सकते हैं

धार24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
जागरूकता कार्यशाला में माैजूद मातृशक्ति। - Dainik Bhaskar
जागरूकता कार्यशाला में माैजूद मातृशक्ति।

साइबर अपराधी ठगी करने की नियत से अलग-अलग तरह के तरीके अपनाते रहते हैं। किसी व्यक्ति को झांसा देते हुए पैसा प्राप्त करने के लिए अलग-अलग तरह के प्रलोभन दिए जाते हैं। ऐसे में हम जागरूक रहकर ही इस प्रकार की ठगी से बच सकते हैं। यह बात भारत विकास परिषद द्वारा मध्यभारत दक्षिण प्रांत की महिलाओं के लिए स्थानीय हाेटल में आयोजित कार्यशाला में अजाक डीएसपी निलेश्वरी डावर ने महिलाओं के साथ हो रहे क्राइम एवं उनसे बचने के उपायों के साथ-साथ वर्ष 2012 से महिला सशक्तिकरण के तहत महिलाओं की सुरक्षा के लिए शासन द्वारा बनाए गए नियमों की जानकारी देते हुए कही। मातृशक्ति द्वारा पूछे गए सवालाें के जवाब भी डावर ने दिए। शुरुआत में बाहरी शाखाओं से आई महिला प्रमुखों एवं उप प्रमुखों को तिलक लगाकर स्वागत किया। धामनोद, धार, धरमपुरी, राजगढ़, इंदौर से मालवा शाखा, अहिल्या शाखा, तिलक शाखा, भोपाल से अयोध्या शाखा की महिला प्रमुख व उप प्रमुख माैजूद रही। सत्र की शुरुआत में परिषद गीत माधुरी गंगवाल, छाया लुहाड़िया एवं राष्ट्रीय गीत अनिता जोशी व नीता गर्ग ने प्रस्तुत किया।

मुख्य अतिथि प्रांतीय महिला प्रमुख प्रफुल्ल जटाले थे। अध्यक्षता प्रांतीय महा सचिव अनिल जैन, अध्यक्ष वीरेंद्र जैन, सचिव मुरलीधर बुटे ने दीप जलाकर की। द्वितीय सत्र का प्रारंभ सभी शाखाओं की महिला प्रमुख व उप प्रमुख के प्रतिवेदन वाचन से हुआ। तृतीय सत्र की शुरुआत प्रांतीय संगठन मंत्री सेवा भारती रुप सिंह के उद्बोधन से हुआ। रीजनल संपर्क प्रमुख डाॅ. अशोक जैन ने प्रोजेक्टर के माध्यम से एनीमिया के कारण, बचाव व आहार के बारे में जानकारी दी।

खबरें और भी हैं...