पशु हाट बाजार पर प्रतिबंध:लंपी वायरस का प्रकाेप 87 गांवों में फैला, 252 पशु चपेट में आए

धार3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बीमार पशुओ का उपचार करती विभाग की टीम। - Dainik Bhaskar
बीमार पशुओ का उपचार करती विभाग की टीम।

पशुओं में लंपी वायरस का प्रकोप बढ़ता जा रहा है। अब अधिकांश गांवाें के पशुओं में वायरस के लक्षण सामने आए हैं। एहतियात के तौर पर कलेक्टर ने धारा 144 लागू करते हुए प्रतिबंधात्मक आदेश जारी कर दिए है। आदेश के अनुसार जिले में समस्त पशु बाजार में क्रय- विक्रय प्रतिबंधित रहेंगे। साथ ही पशुओं का परिवहन नहीं कर सकेंगे। पशुपालन विभाग के अनुसार जिले के 87 गांवों के करीब 252 गाेवंश में लंपी वायरस के लक्षण दिखे हैं। बीमारी के बढ़ते प्रभाव को देखते हुए वैक्सीनेशन भी तेजी से किया जा रहा है।

जिले में लंपी वायरस का प्रकोप अब धार, मनावर, उमरबन व बदनावर ब्लॉक से बढ़कर पूरे जिले में फैल चुका है। इसका सबसे ज्यादा असर गोवंश पर देखने को मिल रहा है। जिले के 87 गांव के पशुओं में इस वायरस के लक्षण दिखे हैं। चिंता की बात यह है कि धार जिले से भेजे गए सैंपल की रिपोर्ट अब तक विभाग को प्राप्त नहीं हुई है। इधर वायरस की रोकथाम के लिए वैक्सीनेशन तेजी से किया जा रहा है। अब तक जिले में 8950 पशुओं को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। लंपी वायरस के बढ़ते प्रकोप के कारण जिले में साप्ताहिक लगने वाले पशु हाट पर रोक लगा दी गई है।

कलेक्टर डॉ. पंकज जैन ने जिले में पशुहाट व पशुओं के परिवहन को लेकर धारा-144 के तहत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए थे। इसके तहत 30 अक्टूबर तक साप्ताहिक हाट बंद कर दिए गए। पशुओं के परिवहन करते हुए पकड़ाए जाने पर भी पाबंदी लगाई गई है। जिले के सुंद्रैल, धार, मनावर, राजगढ़ और कानवन में हर सप्ताह बड़े पशु हाट लगते है। लंपी वायरस के कारण इस पर रोक लगा दी है। जिले में 6.36 लाख गाेवंश हाेकर 9.43 लाख भैंस है।

वायरस तेजी से फैल रहा, वैक्सीनेशन जारी है
लंपी वायरस तेजी से फैल रहा है। 87 गांवों के 252 पशुओं में संक्रमण चिह्नित किया है। जिले के साप्ताहिक हाट और परिवहन पर प्रतिबंध लगाए जा चुका है। संक्रमण को देखते हुए विभाग की टीम लगातार वैक्सीनेशन कर रही है। 8950 पशुओं काे टीका लगाया जा चुका है। एडवांस वैक्सीन के लिए भी डिमांड भेज दी है। -डॉ. जीडी वर्मा, उप संचालक, पशुपालन विभाग धार

खबरें और भी हैं...