• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Dhar
  • : Police Department's SIT Team Increased Four Accused During Investigation, Got Remand After Presenting Them In Court,

एसडीएम पर हुए हमले का मामला:पुलिस विभाग की एसआईटी टीम ने जांच के दौरान बढ़ाए चार और आरोपी, कोर्ट में पेश करने के बाद मिला रिमांड

धार15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

धार में एसडीएम पर हुए हमले की जांच कर रही पुलिस विभाग की एसआईटी टीम ने इस प्रकरण में शामिल चार और आरोपियों के नाम बढ़ाए हैं, जिसमें पुलिस ने उक्त शराब देने वाले व जिस व्यक्ति के लिए शराब लेकर जा रहे थे। उन्हें भी प्रकरण में शामिल कर लिया गया है।

वहीं गुरुवार को गिरफ्तार हुए तीन आरोपियों को शुक्रवार दोपहर के समय थाने की कार्रवाई के बाद कुक्षी कोर्ट में प्रस्तुत किया, जहां से पूछताछ के लिए पुलिस को आरोपी मुकाम, कदम व राकेश व लालसिंह का 21 सितंबर तक का रिमांड प्राप्त हुआ है।

वहीं फरार चल रहे आरोपियों के बारे में पुलिस उनकी चल-अचल संपत्ति की जानकारी मांगने के साथ ही संबंधित जिलों से आरोपियों के अपराधिक रिकार्ड की जानकारी भी एकञित कर रही है। ताकि आगामी दिनों में वैधानिक कार्रवाई फरारी के दौरान की जा सके। साथ ही मुख्य आरोपी सुखराम व दिग्विजय पर पुलिस जल्द ही फरारी का ईनाम भी बढ़ाएगी।

दरअसल दो दिन पूर्व कुक्षी के ढोल्या घाटी से अवैध शराब का परिवहन ट्रक के माध्यम से होने की सूचना 13 सितंबर को सुबह के समय एसडीएम को मिली थी, जिसके बाद नायब तहसीलदार कृणाल अवासिया को साथ में लेकर एसडीएम ने उक्त वाहन का पीछा किया व ग्राम हल्दी में ढाबे के सामने ट्रक क्रमांक एमपी-69 एच-0112 को रोका गया तथा अधिकारी वाहन चालक से ट्रक को लेकर चर्चा कर रहे थे, तभी पीछे से शराब तस्कर सुखराम पिता वेस्ता अपने साथियों को लेकर पहुंचा व अधिकारियों के साथ मारपीट करते हुए जानलेवा हमला किया।

इस दौरान नायब तहसीलदार को बंधक बनाकर भी आरोपी लेकर गए थे अचानक हुए घटनाक्रम के बाद प्रशासन हरकत में आया व इंदौर से भी अधिकारी जांच के लिए पहुंचे थे। इस मामले में अभी 4 आरोपी फरार हैं, जिन पर 10-10 हजार रुपए का इनाम भी घोषित है। वहीं शुक्रवार को धार के सहायक आबकारी आयुक्त यशवंत धनोरे को भी हटा दिया गया हैं, जिन्हें धार से सीधे विभाग के ग्वालियर स्थित कार्यालय पर अटैच कर दिया गया है।

बड़वानी से झाबुआ ले जा रहे थे

एसआईटी टीम एडीशनल एसपी देवेंद्र पाटीदार के मार्गदर्शन में लगातार जार रही हैं, कमेटी की जांच के तीसरे दिन रिमांड के दौरान गिरफ्तार हुए आरोपियों ने पुलिस को सख्ती से हुई पूछताछ में बताया कि उक्त अवैध शराब धर्मेंद्र यादव निवासी ग्राम भीलखेडी के बड़वानी ने दी थी, जिसे आरोपी जिला झाबुआ निवासी राजेश उर्फ भाया के यहां पर ले जा रहे थे। यहां से शराब अलग-अलग स्थानों पर सप्लाई होने की योजना थी।

इस तरह से पुलिस ने शराब देने वाले बड़वानी के व्यक्ति व शराब सप्लाई होने वाले व्यक्ति को भी आरोपी बना लिया है। वहीं गिरफ्तार हुए आरोपी मुकाम ने अपने साथी कदम, राकेश, लालसिंह, रितेश, कैलाश, योगेश, धुन्धा व वेसता का नाम बताया था, जिसमें से राकेश, कमद व लालसिंह को अरेस्ट कर लिया गया है। इस पूरे प्रकरण में अब कुल आरोपियों की संख्या 15 से अधिक हो गई हैं, जिसमें से 4 आरोपी ही अरेस्ट हुए है।

खबरें और भी हैं...