• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Dhar
  • Small Children Passing Through Unpaved Road, Students Go To School Through Mud For Education

अनदेखी:कच्ची सड़क से गुजर रहे छोटे-छोटे बच्चे, शिक्षा के लिए कीचड़ से होकर स्कूल जाते हैं छात्र-छात्राएं

बलवारी19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
इस तरह से पानी से हाेकर स्कूल जाते हैं बच्चे। - Dainik Bhaskar
इस तरह से पानी से हाेकर स्कूल जाते हैं बच्चे।

शिक्षा के लिए माता पिता अपने नौनिहालों को स्कूल भेज रहे हैं। वहीं बच्चे इस उम्मीद से स्कूल की ओर रुख कर रहे हैं कि हमारा भविष्य स्कूल जाने से सुधरेगा। लेकिन पंचायत विभाग और शिक्षा विभाग की लापरवाहियों से बच्चों का भविष्य अब कीचड़ में ही दौड़ लगा रहा है। यही कारण है कि शिक्षा का स्तर ग्रामीण क्षेत्रों में गिरता रहता है, लेकिन शिक्षा विभाग के उच्च पदों पर विराजमान अधिकारी स्कूलों मे बच्चो की समस्या को देख भी नहीं पाते हैं।

गौरतलब है कि धरमपुरी तहसील के ग्राम पंचायत बलवारी की हाई स्कूल के बच्चे उस रास्ते से स्कूल गुजरते हैं, जहां बारिश के दिनों में पानी बहता रहता है। कीचड़ में ही अन्य ग्रामीणों को भी परेशानी भरा सफर करना पड़ रहा है। बच्चों को स्कूल पहुंचाने के लिए हर प्रकार की सुविधाओं के लिए प्रयत्न किए जा रहे हैं, लेकिन यहां के पंचायत और स्कूल प्रशासन की जमीनी हकीकत इससे अलग है। ग्राम पंचायत बलवारी के अंतर्गत मजरा खारपुरा से नयापुरा हाई स्कूल मुख्य मार्ग कीचड़ से भरा रहता है। अब इसका खामियाजा छोटे-छोटे बच्चाें को भुगतना पड़ रहा है।

200 मीटर लंबे बहते हुए पानी से व कीचड़ भरे रास्ते में विद्यार्थी कई बार फिसल कर गिर जाते हैं। जिससे उनकी ड्रेस व बैग की सामग्री भी गंदी हो जाती है। ग्रामीणों ने बताया कि वे सडक के सुधार के लिए कई बार संबंधित अधिकारी व जनप्रतिनिधि लिखित व मौखिक शिकायत कर चुके हैं। लेकिन किसी अधिकारी या जनप्रतिनिधि ने आज तक इस ओर ध्यान नहीं दिया है।

ग्रामीणों ने चेतावनी दी है कि जल्द ही इस मार्ग का निर्माण नहीं किया गया तो स्कूली विद्यार्थियों के साथ चरणबद्ध आंदोलन करेंगे। छात्र छात्राओं ने कहा कि कीचड़ के कारण उनकी किताबें खराब हाे जाती हैं। जयस के राहुल कटारे ने बताया कि सरपंच सचिव को सड़क निर्माण के लिए कई बार लिखित व मौखिक सूचना दी गई, लेकिन आजतक मार्ग यथावत ही है। ग्राम पंचायत बलवारी सचिव प्रताप डावर व सरपंच सुरेश गिरवाल ने बताया कि एस्टीमेट तैयार करवाकर जनपद पंचायत धरमपुरी मे भेज दिया गया है। मंजूरी मिलना के बाद कार्य शुरू करेंगे ।

क्या कहते हैं जिम्मेदार मनावर एसडीएम भूपेंद्र रावत का कहना है कि छात्रों को यदि परेशानी आ रही है तो संबंधित जवाबदारों को मौके पर निराकरण के लिए भेज देते हैं। बीआरसी धरमपुरी ओमेंद्र सिंह चाैहान ने कहा कि शीघ्र रोड के दुरस्तीकरण के लिए संबंधित जवाबदारों को अवगत करा देते हैं।

खबरें और भी हैं...