प्रधानमंत्री आवास योजना में गड़बड़ी का मामला:जिला पंचायत CEO ने किया ग्राम पंचायत सचिव निलंबित, सड़क निर्माण में भी अनियमितता

डिंडौरी17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

जिला पंचायत CEO ने डिंडौरी जनपद पंचायत क्षेत्र के कसईसोढा ग्राम पंचायत सचिव को सीसी सड़क के निर्माण में गड़बड़ी,प्रधानमंत्री आवास में गड़बड़ी की शिकायत और संतोषजनक जवाब न पेश करने पर निलंबित कर दिया है। जिला पंचायत के ए पी ओ रामजीवन वर्मा ने जानकारी में बताया कि शिकायत प्राप्त हुई थी गांव में सीसी सड़क,सामुदायिक भवन ,प्रधानमंत्री आवास योजना में गड़बड़ी की जा रही है । जिसकी जांच भी अधिकारियों द्वारा कराई गई थी जो कि सही पाई गई है।

ग्राम पंचायत सचिव राजेश परस्ते को नोटिस जारी कर जवाब के लिए बुलाया गया था। लेकिन सचिव का जवाब संतोषप्रद नही है। इन कार्यो में सचिव की भूमिका संदिग्ध प्रतीत होती है। इसलिए जिला पंचायत CEO अंजू अरुण विश्वकर्मा द्वारा ग्राम पंचायत सचिव राजेश परस्ते को निलंबित किया गया है। निलंबन अवधि के दौरान जनपद कार्यालय में सचिव अपनी उपस्थिति दर्ज कराएंगे।

विधायक ने की थी जांच, दोषियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराने की शिकायत

विधायक प्रतिनिधि अमित गुप्ता ने जनपद पंचायत सीईओ डिंडौरी से शिकायत दर्ज कराई थी कि कसईसोढा ग्राम पंचायत में प्राथमिक शाला से अनुसुईया के घर तक सीसी सड़क निर्माण के लिए 23 अगस्त 2021 को आदिवासी विकास विभाग के द्वारा 09 लाख रुपए जारी किए गए थे। इसका भूमिपूजन केंद्रीय राज्यमंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते और शहपुरा विधायक भूपेंद्र मरावी द्वारा किया गया था।ग्राम पंचायत ने बिना सड़क निर्माण कराए ही पैसा निकाल लिया। आठ महीने गुजर रहे हैं। सड़क निर्माण नही कराया जा रहा है।

इस मामले को लेकर शहपुरा विधायक भूपेंद्र मरावी का कहना है कि उस समय मैंने मांग की थी कि इस मामले में जो भी लिप्त है उनकी जांच करवाकर दोषियों के खिलाफ FIR दर्ज कराई जाए। सचिव को निलंबित करने की कार्रवाई की गई है। मैं जिला पंचायत सी ई ओ से बात करूंगा।

खबरें और भी हैं...