फिर ठप हो सकती है डोर टू डोर कचरा गाड़ी:एक माह पहले भी संकट खड़ा हो गया था शहर में

गुना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

डोर टू डोर कचरा कलेक्शन करने वाले वाहनों के ड्राइवरों ने एक बार फिर विरोध का झंडा उठा लिया है। तीन दर्जन से ज्यादा कर्मचारियों ने सेामवार को कलेक्ट्रेट में ज्ञापन देकर आरोप लगाया कि उन्हें समय पर वेतन नहीं मिल रहा है। तीन-चार माह में वेतन का भुगतान होता है। इसके अलावा 19 माह के ओवर टाइम का भुगतान भी ठेकेदार ने रोक रखा है। अभी एक माह पहले ही ड्राइवरों ने तीन-चार दिन कचरा कलेक्शन नहीं किया था। इससे शहर संकट की स्थिति बन गई थी।

सोमवार को राष्ट्रीय सफाई मजदूर संघ के बैनर तले इन कर्मचारियों ने कलेक्टोरेट पहुंचकर प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। उन्होंने बताया कि 19 ड्राइवरों को तो बीते 11 माह से वेतन नहीं दिया गया है। बाकी को समय पर भुगतान नहीं होता है। इसके अलावा कर्मचारियों का यह भी कहना है कि उन्हें संविदा पर रखा जाए। ठेकेदार उनका लगातार शोषण कर रहा है।

कर्मचारियों के अनुसार उनकी वर्ष 2020 में 19 लोगों की संविदा पर नियुक्ति हुई थी। वर्तमान में नपा द्वारा 1 जनवरी 20 से 30 नवंबर 20 तक इन चालकों से ओवर टाईम काम कराया, लेकिन वेतन नहीं दिया। वहीं फरवरी 21 में 14 लोगों को संविदा पर नियुक्ति की। इस तरह 33 लोगों को संविदा से हटाकर ठेकेदार के हवाले कर दिया।

खबरें और भी हैं...