नाबालिग बच्ची ने किया चार प्रदेशों का सफर:सहेली ने कोल्डड्रिंक में दिया नशीला पदार्थ; घर जाने की जगह पकड़ ली ट्रेन

गुना4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

उत्तरप्रदेश के कानपुर से एक नाबालिग डर के कारण घर से भाग आयी। वह कानपुर से लखनऊ, दिल्ली, वडोदरा होते हुए ट्रैन से गुना पहुंच गई। वह रुठियाई रेलवे स्टेशन पर RPF को मिली। RPF ने उसको नीचे उतारा और CWC व पुलिस को सूचना दी। दोनों के प्रयासों से उसके परिवार वालों का पता किया गया। शुक्रवार को उसके भाई-बहन कानपुर से गुना पहुंचे, जहां बच्ची को उन्हें सौंप दिया गया।

बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष अनुसुईया रघुवंशी ने बताया कि रुठियाई स्टेशन पर RPF को एक 17 वर्षीय बच्ची मिली। उन्होंने इसकी सूचना बाल कल्याण समिति अध्यक्ष को दी। बच्ची को विशेष किशोर पुलिस इकाई अनिल सिंह तोमर के सहयोग से बाल कल्याण समिति के समक्ष प्रस्तुत किया। एहम CWC की टीम ने बच्ची से जानकारी ली और उसकी काउंसलिंग की।

कोल्डड्रिंक में दिया नशीला पदार्थ

CWC अध्यक्ष अनुसुईया रघुवंशी ने बताया कि बच्ची काफी डिप्रेशन में लग रही थी। वह अपने बारे में ज्यादा कुछ बता नहीं पा रही थी। धीरे-धीरे उससे बातचीत की तो पता चला कि वह कानपुर के चौबेपुर की रहने वाली है। वह कक्षा 12 की छात्रा है। तीन दिन पहले वह अपनी सहेली के साथ स्कूल गयी थी। वहां सहेली ने उसे कोल्डड्रिंक में मिलाकर नशीला पदार्थ(शराब) पिला दी। इससे उसका सिर घूमने लगा। अपनी ऐसी हालत से वह काफी देर गयी।

घर जाने की जगह पकड़ी ट्रैन

बच्ची को लगा कि ऐसी हालत में वह कैसे घर जाए। इसलिए वह रेलवे स्टेशन आ गयी। वहां से वह बिना टिकट ट्रैन में बैठ गयी। कानपुर से वह लखनऊ पहुंची। वहां से ट्रेन में बैठकर दिल्ली और दूसरी ट्रैन से वडोदरा पहुंच गई। वहां से वह उड़ीसा जाने वाली ट्रेन में बैठ गयी। वह पूरी यात्रा बिना टिकट ही कर रही थी। गुना के रुठियाई स्टेशन पर RPF ने चेकिंग के दौरान उसे देखा।

उन्होंने बताया कि बच्ची के पिता की मौत हो चुकी है। उसकी मां गांव में रहती है। वह अपने ताऊजी की बेटी के साथ चौबेपुर में रहती है। वहीं पर पढ़ाई करती है। पुलिस और CWC की टीम ने चौबेपुर ASP से संपर्क किया। वहां पता चला कि गुरुवार को ही उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई गई है। जानकारी मिलने के बाद उसके परिवार वालों से संपर्क कर जानकारी दी गयी। शुक्रवार को उसके भाई गुना पहुंचे, जहां पुलिस ने उसे परिवार वालों को सौंप दिया।

परिवार वालों ने SP से मिलकर उनका धन्यवाद किया।
परिवार वालों ने SP से मिलकर उनका धन्यवाद किया।