भास्कर एक्सक्लूसिव15 साल की बेटी को 7 दरिंदों ने नोंचा...:​​​​​​​गैंगरेप पीड़िता के पिता बोले- जिस हालत में बेटी मिली थी, लगा वो नहीं रही

गुना3 महीने पहलेलेखक: आशीष रघुवंशी

गुना में 15 साल की छात्रा से गैंगरेप की वारदात ने प्रदेश को झकझोर दिया। सात आरोपियों ने बच्ची के शरीर को बुरी तरह नोंचा। परिवार और बच्ची इस दर्द को शायद ही कभी भूल पाए। बच्ची अस्पताल में भर्ती है। पिता के चेहरे पर गुस्सा है। गुमसुम हैं। बेटी को देखकर फफकते हैं, लेकिन आंसू नहीं निकलते। उनके आंसू सूख गए हैं। बच्ची के पिता कहते हैं- जीवन में अब कुछ नहीं बचा। हमारी आत्मा अंदर से मर चुकी है।

बच्ची के पिता ने दैनिक भास्कर को उन कठिन पलों के बारे में बताया...

पढ़िए, 24 घंटे की पूरी कहानी…

बेटी 10वीं में पढ़ती है। पढ़ने में होशियार है। अच्छे स्कूल में पढ़ा रहे हैं, ताकि कुछ बन जाए। शुक्रवार सुबह 10 बजे के आस-पास वह स्कूल गई। मैं भी खेत पर चला गया। स्कूल की छुट्टी शाम 4 बजे होती है। रोजाना 4.30 बजे तक बेटी घर आ जाती है, लेकिन शुक्रवार को देर शाम तक नहीं आई। उसकी तलाश शुरू की। घरवालों ने मुझे फोन किया कि बेटी नहीं आई।

मैं भी उसे ढूंढने गया। कहीं नहीं मिली। सहेलियों के यहां भी पता किया, लेकिन पता नहीं चला। परेशान होकर घर लौट आया। घरवालों से पूछा- आई क्या? जवाब मिला- नहीं। हताश होकर थाने गया। यहां पूरी बात बताई। गुमशुदगी भी दर्ज कराई। पुलिस ने कहा- उसकी मार्कशीट और फोटो लेकर आओ। मैंने कहा, ये अभी उपलब्ध नहीं हैं। मैं घर चला गया।

जैसे ही घर पहुंचा, तो पत्नी ने बताया कि अननोन नंबर से कॉल आ रहा है। उस नंबर पर फोन लगाया तो रिसीव नहीं हुआ। एक-दो बार और ट्राई किया, तो स्विच ऑफ बताने लगा। कुछ देर बाद उधर से कॉल आया। बोला- तुम्हारी लड़की हमारे पास है, कहते हुए फोन काट दिया। फिर दोबारा कॉल कर दूसरी जगह बताई। वह गुमराह करने लगे। बोले- हम छोड़ने आ रहे हैं, बताओ कहां आ जाएं। हमने कहा- तुम छोड़ने क्यों आ रहे हो, हम लेने आते, हमारी बच्ची कहां है।

मैंने तुरंत पुलिस को इस बारे में बताया। ये लोकेशन बता रहे हैं। TI मुझे मंडी की तरफ ले गए। मैं जल्दी लौट कर आया। मैंने 2 लड़कों को वहां खड़े देखा। लगा- ये लोग यहां क्यों खड़े हैं? इधर की ही चर्चा चल रही थी। मैंने दोनों को पकड़ लिया। इनमें से एक लड़का फोन लगाने वाला था। उन्हें चांटे मारे, तब उन्होंने पूरी बात बताई। इतने में ही पुलिस आ गई।

उनसे पूछा लड़की कहां है, तो बताया कि इस मकान में है ऊपर। मकान में ताला लगा था। ऊपर जाकर देखा, तो एक कमरे को पैक किया था। कुंडी लगी थी। कुंडी खोलकर अंदर देखा, तो लड़की बेहोश थी। बिल्कुल मरणासन्न स्थिति में। मैंने हाथ उठाकर देखा, तो घबरा गया। मुझे लगा- बेटी नहीं रही।

टीआई साहब ने नब्ज चेक की। बताया कि धड़कन चल रही है। उसे तुरंत लेकर हॉस्पिटल की ओर दौड़े। वहां बोला- यहां देखते ही गुना के लिए रेफर कर दिया। उसे गुना जिला अस्पताल लेकर आए। शनिवार को उसे होश आया। उसने बताया कि कुछ लोगों ने उसके साथ गलत काम किया है। ये सुनकर हम सन्न रह गए।

न्याय नहीं मिलता है, तो इच्छामृत्यु दे दो...

हमें ही पता है कि हम पर क्या गुजर रही है। सब कुछ अस्त-व्यस्त है। दिमाग काम नहीं कर रहा। कुछ भी नहीं सूझ रहा कि क्या करें और क्या नहीं। जिस स्थिति में बच्ची मिली, उसके बाद तो परिवार की हालत और खराब हो गई। इस तरह की घटना हुई है हमारे साथ, ये तो हमारा दिल ही जानता है। हम तो न जीने के रहे और न मरने के।

घटना से इतना दुखी हूं कि मैं राष्ट्रपति से गुजारिश करता हूं कि मुझे, पत्नी और तीनों बच्चियों को आत्मदाह की अनुमति दे दें। अगर आरोपियों पर कार्रवाई नहीं हुई, तो हम अपना शरीर त्याग देंगे। हमारे जीवन में कुछ नहीं बचा अब। हमारी आत्मा अंदर से मर चुकी है।

वारदात के विरोध में चांचौड़ा विधायक लक्ष्मण सिंह भी मौके पर पहुंचकर धरने पर बैठ गए थे। उनकी मांग थी कि सभी आरोपियों के घर गिराए जाएं। पूर्व विधायक और भाजपा नेता ममता मीणा भी प्रदर्शन में शामिल हुईं। मीणा के साथ उनके पति रिटायर्ड IPS रघुवीर सिंह भी थे।
वारदात के विरोध में चांचौड़ा विधायक लक्ष्मण सिंह भी मौके पर पहुंचकर धरने पर बैठ गए थे। उनकी मांग थी कि सभी आरोपियों के घर गिराए जाएं। पूर्व विधायक और भाजपा नेता ममता मीणा भी प्रदर्शन में शामिल हुईं। मीणा के साथ उनके पति रिटायर्ड IPS रघुवीर सिंह भी थे।

अब तक इन्हें गिरफ्तार किया गया

1- रामजीवन मीना (22) 2- मोहित मीना (21) 3- संजय उर्फ संजू माली (28) 4- नाबालिग 5- नाबालिग

ज्यादा जानकारी के लिए पढ़ें ...

गुना में 15 साल की छात्रा से गैंगरेप हुआ। खुद लड़की ने अपने बयान में ये बात बताई। चांचौड़ा के प्रभारी SDM वीरेंद्र सिंह ने बच्ची के इस बयान की पुष्टि की है। अभी तक 7 आरोपियों की जानकारी सामने आई है। 5 नामजद और दो अज्ञात हैं। 5 को अरेस्ट कर लिया गया है। सभी आरोपी संपन्न परिवार से हैं। पकड़े गए आरोपियों को बिल्डिंग परमिशन के नोटिस दिए गए हैं। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

ये भी पढ़ें...

हरदा जिले के हंडिया थाना क्षेत्र के एक गांव में स्कूल से घर लौट रही कक्षा 10वीं की छात्रा का रास्ता रोककर छेड़छाड़ का वीडियो सामने आया है। 19 सितंबर को शाम करीब 5 बजे छात्रा स्कूल से लौट रही थी तब सिरफिरे युवक ने रास्ता रोककर बाइक पर बैठने के लिए कहा। जब छात्रा ने मना कर दिया। इससे गुस्साए युवक ने बीच रास्ते पर मारपीट शुरू कर दी। इस दाैरान उसके दोस्तों ने वीडियो बना लिया। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...

भोपाल के एक निजी स्कूल में नर्सरी की बच्ची से दुष्कर्म मामले में नया खुलासा हुआ है। रेप के आरोपी ड्राइवर हनुमत जाटव को शाहपुरा थाना पुलिस ने पुलिस वेरिफिकेशन में क्लीनचिट दी थी, जबकि उस पर तीन केस दर्ज हैं। इधर बाल आयोग की जांच में स्कूल प्रबंधन की बड़ी लापरवाही सामने आई है। जांच के मुताबिक बस के सीसीटीवी से मेमोरी कार्ड गायब कर दिया गया था। घटना के दूसरे दिन बस खराब होना संदेह पैदा करता है। पता चला है कि घटना 8 सितंबर को हुई थी। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें...