• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Guna
  • Madhya Pradesh Guna Police Attack Case | Guna Encounter Important Updates And Latest News

गुना पुलिसकर्मी हत्याकांड में राघौगढ़ किले की हो सर्चिंग:पंचायत मंत्री का बड़ा आरोप- वहां छिपे हो सकते हैं फरार दो आरोपी

गुना से रोहित श्रीवास्तव और आशीष रघुवंशी2 महीने पहले

प्रदेश के पंचायत मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने दिग्विजय सिंह के घर राघौगढ़ किले की सर्चिंग करने की मांग की है। उन्होंने कहा कि वो जो दो आरोपी पकड़े नहीं जा रहे हैं, कहीं ऐसा तो नहीं है कि वो राघौगढ़ किले में छुपे हों। इस बारे में भी मुझे SP से बात करनी है कि पूरी निगाह होनी चाहिए राघौगढ़ किले के ऊपर की कहीं वो आरोपियों को छिपाए तो नहीं बैठे हैं।

इधर, गुना पुलिस ने पुलिसकर्मी हत्याकांड मामले में फरार चल रहे आरोपी छोटू पठान को मंगलवार सुबह हरिपुर के जंगल में मार गिराया। देर रात पुलिस को रुठियाई इलाके में आरोपी की लोकेशन मिली थी, तभी से पुलिस उसका पीछा कर रही थी।

इस खबर के आने के बाद मध्यप्रदेश भाजपा व भाजपा नेताओं ने अपने ट्विटर हैंडल से एक युवक को छोटू पठान बताकर उसके फोटो जारी कर दिए। युवक के साथ फोटो में राघौगढ़ विधायक जयवर्द्धन सिंह भी नजर आ रहे थे। साथ ही एक फोटो में दिग्विजय सिंह भी दिखे। BJP ने लिखा- तस्वीरें बता रही हैं कि अपराधियों को किसका संरक्षण प्राप्त था।

हालांकि, भाजपा ने जिस युवक की फोटो जारी की, उसने सोशल मीडिया पर एक VIDEO जारी कर कहा- मेरा एनकाउंटर होने की अफवाह उड़ाई जा रही है। आरोपियों पर सख्त कार्रवाई की जाए, मुझे इस पर कोई आपत्ति नहीं। लेकिन, मुझे न तो शिकार का शौक है और न ही मेरे पास कोई हथियार है। गलती का अहसास होने पर BJP व अन्य नेताओं ने ट्वीट डिलीट कर दिए।

एनकाउंटर की जांच मामले में अब 19 को सुनवाई
इधर पुलिस हत्याकांड में आरोपियों के हुए एनकाउंटर की जांच के लिए लगाई गई याचिका में कोर्ट ने डेट बढ़ा दी है। सरकारी वकील ने याचिका पर जवाब देने के लिए कोर्ट से समय मांगा। कोर्ट ने उनके निवेदन को स्वीकार करते हुए सुनवाई आगे बढ़ा दी है। मामले की अगली सुनवाई अब 19 मई को होगी।

अब तक एनकाउंटर में तीन ढेर
यह तीसरा एनकाउंटर है। इससे पहले पुलिस ने शहजाद खान को बिदोरिया के जंगल में मार गिराया था। शनिवार तड़के 3 बजे पुलिस और शिकारियों में हुई मुठभेड़ में तीन पुलिसवालों की हत्या कर दी गई थी। इस मुठभेड़ में शहजाद खान का भाई नौशाद खान मारा गया था। बता दें कि पुलिस हत्याकांड में 9 को नामजद आरोपी बनाया गया है। अब तक 3 आरोपी नौशाद, शहजाद और छोटू खान को मुठभेड़ में मार गिराया गया है। 4 को गिरफ्तार किया है। गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा बोले- अपराधियों को तत्काल सरेंडर करना चाहिए। अभी दो और फरार हैं।

BJP ने इस ट्वीट को बाद में डिलीट कर दिया।
BJP ने इस ट्वीट को बाद में डिलीट कर दिया।

जंगल के रास्ते राजस्थान जाना चाहता था छोटू पठान
छोटू पठान जंगलों में चल रही लगातार सर्चिंग से दबाव में था। पुलिस पिछले 3 दिन से छोटू पठान की लाइव लोकेशन मुखबिरों के जरिए ट्रेस कर रही थी। सोमवार-मंगलवार की रात पुलिस छोटू पठान का मूवमेंट धरनावदा थाना क्षेत्र के भदौडी जंगलों में मिला था। यहां से राजस्थान के बारा जिले की सीमा करीब 20 किलोमीटर है। पुलिस अफसरों के मुताबिक छोटू, जंगल के रास्ते राजस्थान जाना चाहता था। इसी मकसद से वह बाइक से भदौड़ी पहुंचा था। जहां पुलिस मुठभेड़ में सड़क किनारे छोटू मारा गया। गुना एसपी राजीव मिश्रा ने इसकी पुष्टि की है।

19 पुलिस टीम कर रही गुना के जंगलों में सर्चिंग
एसपी गुना राजीव मिश्रा ने बताया कि पुलिसकर्मी हत्याकांड के फरार आरोपी गोलू और विक्की को पकड़ने के लिए 19 टीम लगाई गई हैं। आरोपी को जिंदा पकड़ने को कहा गया है। साथ ही अगर आरोपी सरेंडर नहीं करता अथवा पुलिस पार्टी पर हमला करता है, तो जवाबी कार्रवाई पूरी ताकत से करने के निर्देश भी दिए गए हैं।

सुबह 5:20 बजे एनकाउंटर
पुलिस सूत्रों के मुताबिक छोटे पठान का एनकाउंटर मंगलवार अल सुबह करीब 5:20 बजे हुआ। आरोपी छोटू गुना के मुरादपुर गांव की तरफ से लक्ष्मण पुरा राजस्थान की तरफ जा रहा था। छोटू जब भदोडी गांव से 2 किलोमीटर आगे हरीपुरा गांव के जंगल के नजदीक पहुंचा, तभी पुलिस पार्टी से आरोपी का सामना हो गया। पुलिस ने पहले छोटू को सरेंडर करने की चेतावनी दी। जवाब में देसी पिस्टल से पुलिस पर फायरिंग करना शुरू कर दिया। पुलिस की जवाबी कार्यवाही में छोटू मौके पर ही ढेर हो गया। पुलिसकर्मी हत्याकांड तीसरे आरोपी छोटू पठान के एनकाउंटर में एक आरक्षक भी घायल हुआ है। उसे हाथ में छर्रा लगा है। घायल आरक्षक को इलाज के लिए गुना जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

पिता बोले- छोटू के भाई उठा ले गई थी पुलिस
एनकाउंटर में मारे गए छोटू पठान के पिता का कहना है कि नौशाद की मौत की जानकारी छोटू ने सुबह 6 बजे फोन पर दी थी। पिता ने छोटू से सरेंडर करने के लिए भी कहा था, लेकिन उसने ये कहकर टाल दिया कि उसका नाम सामने नहीं आ रहा। फिर छोटू के भाई को पुलिस घर से उठा ले गई। उस दिन से सभी लोग छोटू की तलाश कर रहे थे, लेकिन वह नहीं मिला। फिर छोटू से किसी का भी संपर्क नहीं हुआ।

विश्नोई महासभा पुलिसवालों के परिवारजनों को देगी एक-एक लाख रुपए
अखिल भारतीय विश्नोई महासभा के अध्यक्ष देवेंद्र विश्नोई ने गुना में मारे गए तीनों पुलिसवालों के परिवारों को 1-1 लाख रुपए देने की घोषणा की है। उन्होंने कहा कि जून महीने में शहीद पुलिसवालों के घर जाकर उन्हें यह सम्मान राशि देंगे। देवेंद्र विश्नोई ने सरकार से काले हिरण के शिकार के खिलाफ सख्त कानून बनाने की भी मांग की है। इस संबंध में उन्होंने अपने फेसबुक पेज पर भी लिखा है।

शहजाद-नौशाद के पिता-भाई पर भी FIR
गुना पुलिस हत्याकांड में दो और आरोपियों की गिरफ्तारी हुई है। पुलिस ने नौशाद और शहजाद के पिता निसार खान और बड़े भाई सिराज खान पर FIR की है। इन्हें नौशाद का शव छिपाने और सरकारी राइफल फेंकने का आरोपी बताया गया है। घटना के दो दिन बाद गिरफ्तारी दिखाई गई, जबकि इन्हें उसी दिन सुबह पुलिस घर से उठा ले गई थी। राइफल बरामद होने की कहानी भी समझ से परे है। रविवार को दो कुओं में दिनभर पुलिस और SDERF की टीम ने सर्चिंग की थी। देर रात तक राइफल बरामद नहीं हो सकी थी। सोमवार को अचानक पुलिस ने इसी कुएं से राइफल बरामद होने की बात कही है।

पुलिस और SDERF ने गांव के दो कुएं में राइफल खोजी, लेकिन नहीं मिली। फिर अचानक से कुएं से ही राइफल बरामद होने की बात कही।
पुलिस और SDERF ने गांव के दो कुएं में राइफल खोजी, लेकिन नहीं मिली। फिर अचानक से कुएं से ही राइफल बरामद होने की बात कही।

घर से उठाने के 10 घंटे बाद छोड़ा
शनिवार को सुबह इन्हें गांव से उठाया गया। वहां से इन्हें बजरंगगढ़ थाने ले जाया गया। बजरंगगढ़ थाने में इनको ले जाने की VIDEO भी सामने आई थी। पुलिस सूत्रों की मानें, तो सख्ती से हुई पूछताछ में निसार ने बेटों के बारे में बता दिया था। दिन भर इन्हें बजरंगगढ़ थाने में रखकर इनसे पूछताछ की गई। शाम करीब 8 बजे निसार और सिराज को पुलिस की गाड़ी से घर भेज दिया गया। निसार ने बताया कि सुबह से थाने में बिठा रखा था। अब गांव में वापस छोड़ दिया है।

रात 10 बजे, दोनों को लेने पहुंची पुलिस
घर छोड़ने के बाद शनिवार की रात 10 बजे फिर पुलिस गांव में पहुंची। इन दोनों को गाड़ी में बिठाकर ले जाने लगी। निसार ने बताया कि पुलिस फिर बजरंगगढ़ थाने ले जा रही है। यह कहकर ले जाया जा रहा है कि कुछ पूछताछ करनी है। यह वही समय था, जब बिदौरिया गांव के पीछे जंगल में पुलिस और शहजाद के बीच मुठभेड़ हो रही थी।

रात 10.40 बजे, जंगल में लेकर आई पुलिस
दोबारा ले जाने के करीब 40 मिनट बाद ही पुलिस दोनों को लेकर गांव के पीछे जंगल में पहुंची। दोनों को उसी जगह ले जाया गया, जहां शहजाद का एनकाउंटर पुलिस ने किया था। उसकी शिनाख्ती के लिए दोनों को लाया गया था। निसार ने ही शहजाद के शव की शिनाख्ती की थी। वहां से पुलिस फिर इन्हें गाड़ी में बिठाकर ले गई। शनिवार को ले जाने के बाद सोमवार को पुलिस ने इनकी गिरफ्तारी बताई है।

दोनों आरोपियों का मिला रिमांड
सोमवार को गिरफ्तार किए गए आरोपी निसार और सिराज को गिरफ्तार करने के बाद उन्हें आरोन कोर्ट में पेश किया। पुलिस ने अदालत से दोनों को पुलिस रिमांड पर देने का निवेदन किया। कोर्ट ने दोनों आरोपियों को18 मई तक रिमांड पर सौंपा है।

आरोपी की बेटी के बयान की होगी जांच
सोमवार को दैनिक भास्कर से बातचीत में आरोपी सिराज की बेटी ने गांव के सरपंच पर गंभीर आरोप लगाए। उसने कहा कि घटना के बाद सरपंच देवेंद्र उर्फ कल्ला और उसका बेटा गगन नौशाद को लेकर घर आए थे। वे भी शिकार में शामिल थे। ADG ग्वालियर डी श्रीनिवास वर्मा ने बताया कि बच्ची के आरोप ही नहीं, हम हर एंगल, हर पहलू, हर इनपुट की जांच करा रहे हैं। जो भी इस मामले में लिप्त पाया जाएगा, उस पर कार्रवाई की जाएगी।

वो दुल्हन...जिसकी डोली से पहले उठी 5 अर्थियां:बोली-हिरण के शिकार पर चाचा के साथ कल्ला सरपंच भी था, वह कैसे बचा...

अब तक ये कार्रवाई हुई
पुलिस ने मामले में 9 को नामजद आरोपी बनाया है। पुलिस पर हमले के आरोपी सोनू उर्फ शफाक खान और मोहम्मद जिया खान को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है। इन दोनों ने भागने की कोशिश की। पुलिस ने शॉर्ट एनकाउंटर में इनके पैर में गोली मारी थी। आरोपी गुल्लू खान उर्फ गोलू और विक्की उर्फ दिलशाद फरार हैं। नौशाद और शहजाद के भाई सिराज खान और पिता निसार खान को सोमवार को गिरफ्तार किया गया है।

इनपुट: गुना से शिवांकर द्विवेदी

ये भी पढ़ें:-