पंचायत मंत्री:जरूरतमंदों को रोजगार और छत दिलाना मेरा धर्म

बमोरी10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बमोरी। कार्यक्रम में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री । - Dainik Bhaskar
बमोरी। कार्यक्रम में पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री ।

विधानसभा के ग्राम नाैनेरा में मप्र राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन एवं एकता परिषद के संयुक्त तत्वावधान में स्व-सहायता समूह की महिलाओं का उन्मुखीकरण एवं ऋण वितरण कार्यक्रम आयोजित किया गया। जिसमें प्रदेश सरकार के पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया मुख्य आतिथ्य के रूप में शामिल हुए। कार्यक्रम में आसपास के दर्जनों गांवों कि सैकडों की संख्या में सहरिया आदिवासी समुदाय की महिलाएं उपस्थित रहीं। कार्यक्रम में स्व-सहायता समूह द्वारा निर्मित उत्पादों की प्रदर्शनी लगाई गई एवं ग्रामीण बेरोजगार युवक-युवतियों को रोजगार एवं प्रशिक्षण के अवसर प्रदान करने के उद्देश्य से रोजगार मेले का आयोजन किया गया।

इस दौरान 55 सहायता समूहों को एक करोड़ 11 लाख रुपए की राशि का बैंक लिंकेज सीसीएल राशि का प्रतीकात्मक चेक भेंट किया गया। एकता परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष रन सिंह परमार, जीआईजेड के प्रतिनिधि तरुण ने भी कार्यक्रम को संबोधित किया।

कार्यक्रम में ज़िला पंचायत सीईओ प्रथम कौशिक, जनपद अध्यक्ष गायत्री भील, उपाध्यक्ष बिहारी लोधा, जिला पंचायत सदस्य राजकुमारी सहरिया, वीर बहादुर सिंह यादव, कल सिंह पटेलिया, रामनाथ परांठ मंचासीन थे।

बच्चाें काे शिक्षा दिलाने का किया आह्वान
कार्यक्रम को संबोधित करते हुए पंचायत मंत्री सिसोदिया ने कहा कि परियोजना भारत सरकार और जर्मन सरकार की संयुक्त परियोजना है। जिसका उद्देश्य ग्रामीण क्षेत्रों में रहने वाले युवक-युवतियों को प्रशिक्षित करके उन्हें आत्मनिर्भर बनाना है।

उन्होंने उपस्थित सहरिया समाज की महिलाओं से आह्वान किया कि आज सभी समाजों के बच्चे पढ़ा-लिखाकर उन्नति कर रहे हैं पर सहरिया समाज में अभी शिक्षा को लेकर और अधिक जागरूकता की आवश्यकता है। साथ ही पुरुषों में नशा करने की लत को समाज की प्रगति में सबसे बड़ा अवरोध बताया।

खबरें और भी हैं...