रेप के आरोपियों के मकान ढहाए:छात्राएं बोलीं-लड़के गलत करते हैं, भुगतते हम हैं

गुना3 महीने पहलेलेखक: आशीष रघुवंशी

'लड़के गलत काम करते हैं, भुगतना हमें पड़ता है। मम्मी कह रही है कि अकेले घर से बाहर मत जाना। क्या अब स्कूल-कोचिंग जाना भी छोड़ दें' -ये गुस्सा है गुना की छात्राओं का। हालांकि प्रशासन ने गैंगरेप के आरोपियों के घरों पर बुलडोजर चलवा दिया है। लेकिन छात्राओं की एक ही मांग है - लड़कों का गुंडाराज खत्म हो।

गुना में 15 साल की छात्रा से गैंगरेप की घटना से लोगों में गुस्सा है। घटना के दूसरे दिन भी लोग सड़कों पर उतर आए। इनमें बड़ी संख्या में महिलाएं और छात्राएं हैं। प्रशासन ने गैंगरेप के आरोपियों के मकानों के अवैध हिस्सों पर बुलडोजर चला दिया। इसके बाद भी लोगों का गुस्सा कम नहीं हुआ। छात्राओं का कहना है कि आरोपियों का गली-गली जुलूस निकाला जाए।

चांचौड़ा में गैंगरेप की घटना के दूसरे दिन लोग बीनागंज चौराहे पर धरने पर बैठ गए। छात्राओं का कहना है कि चांचौड़ा से बीनागंज रोड पर लड़के खड़े रहते हैं। कोचिंग-स्कूल से निकलने पर छेड़खानी करते हैं। हमारी स्कूटी में कट मारकर गिरा तक देते हैं। प्रशासन को सख्ती करना चाहिए। उन्हें गुंडाराज खत्म करना चाहिए।

आरोपियों के घर गिराए
गैंगरेप के आरोपियों के घर पर बुलडोजर चलाने की कार्रवाई पूरी हो गई है। चांचौड़ा के प्रभारी SDM वीरेंद्र सिंह ने बताया कि तीन घरों पर कार्रवाई की गई है। लगभग 6 घंटे तक चली इस कार्रवाई में आरोपियों के घर पूरी तरह जमींदोज कर दिए गए। उधर, घटना के विरोध में राघोगढ़ में कैंडल मार्च निकाला गया। चांचौड़ा विधायक लक्ष्मण सिंह के नेतृत्व में कैंडल मार्च निकाला गया।

7 लोगों ने किया था छात्रा से गैंगरेप
बता दें, 15 साल की 10वीं की छात्रा के साथ 7 आरोपियों ने गैंगरेप किया। छात्रा शुक्रवार देर शाम एक मकान में बेहोश मिली थी। शनिवार को स्थानीय लोगों ने आरोपियों पर कार्रवाई की मांग को लेकर बड़ा प्रदर्शन किया था। आरोपियों के घर गिराने की मांग की गई थी। 5 आरोपियों को पुलिस अरेस्ट कर चुकी है। दो अज्ञात हैं।

आरोपियों का घर गिराने जाता बुलडोजर। छात्रा से गैंगरेप की घटना के बाद लोगों में गुस्सा है। शनिवार को प्रदर्शन के बाद आज भी लोग सड़कों पर उतर आए।
आरोपियों का घर गिराने जाता बुलडोजर। छात्रा से गैंगरेप की घटना के बाद लोगों में गुस्सा है। शनिवार को प्रदर्शन के बाद आज भी लोग सड़कों पर उतर आए।

शनिवार को भी महिलाओं ने SDM ऑफिस घेरा था
छात्राओं और महिलाओं ने शनिवार को भी SDM ऑफिस और थाने पहुंचकर विरोध जताया था। चांचौड़ा थाना प्रभारी रवि गुप्ता को हटाकर लाइन भेज दिया गया है। उनकी जगह यातायात TI बलवीर गौर को थाना प्रभारी बनाया गया है।

चांचौड़ा के प्रभारी SDM वीरेंद्र सिंह ने बताया कि तीन घरों पर कार्रवाई की गई है। लगभग 6 घंटे तक चली इस कार्रवाई में आरोपियों के घर पूरी तरह जमींदोज कर दिए गए।
चांचौड़ा के प्रभारी SDM वीरेंद्र सिंह ने बताया कि तीन घरों पर कार्रवाई की गई है। लगभग 6 घंटे तक चली इस कार्रवाई में आरोपियों के घर पूरी तरह जमींदोज कर दिए गए।
घटना के विरोध में आज सर्व समाज भी उतर आया है। गुना में सर्व समाज ने प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। आरोपियों पर सख्त कार्रवाई की मांग की।
घटना के विरोध में आज सर्व समाज भी उतर आया है। गुना में सर्व समाज ने प्रशासन को ज्ञापन सौंपा। आरोपियों पर सख्त कार्रवाई की मांग की।
चांचौड़ा में आज प्रदर्शन का दूसरा दिन है। बड़ी संख्या में छात्राएं और महिलाएं लोग बीनागंज चौराहे पर पहुंचीं। आरोपियों को फांसी देने की मांग की।
चांचौड़ा में आज प्रदर्शन का दूसरा दिन है। बड़ी संख्या में छात्राएं और महिलाएं लोग बीनागंज चौराहे पर पहुंचीं। आरोपियों को फांसी देने की मांग की।

छात्राओं ने दैनिक भास्कर से चांचौड़ा के खराब होते माहौल और सुरक्षा के मुद्दे को लेकर बातचीत की, पढ़िए...

गलत काम लड़के करते हैं, भुगतना लकड़ियों को पड़ता है...
छात्रा सुनिधि शर्मा ने कहा, मम्मी-पापा पहले कहते थे कि टाइम-टेबल से बाहर निकला करो। इस घटना के बाद से तो मम्मी ने कह दिया है कि अब बाहर मत जाओ, जाना है तो भाई के साथ जाया करो। गलत काम लड़के करते हैं और भुगतना लड़कियों को पड़ता है। कोचिंग-स्कूल जाना थोड़ी छोड़ सकते हैं।

छात्रा साक्षी चौकसे और सुनिधि शर्मा। (लेफ्ट टू राइट)
छात्रा साक्षी चौकसे और सुनिधि शर्मा। (लेफ्ट टू राइट)

ये गुंडाराज खत्म होना चाहिए
छात्रा साक्षी चौकसे ने शासन-प्रशासन से तीखे सवाल किए। साक्षी ने कहा कि शाम के समय स्कूटी से जाते हैं, तो लड़के छेड़ते हैं। कुछ भी कमेंट पास कर देते हैं। ऐसे कट मार करके जाते हैं कि गिरते-गिरते बचते हैं। घरवाले कहते हैं कि शाम को 7 बजे के बाद घर से बाहर मत निकलो। प्रशासन को अब सख्ती करनी चाहिए, ताकि लड़कों का जो गुंडाराज है, वो खत्म हो।

छात्राओं की ये है डिमांड...

  • चांचौड़ा में आवारा-फालतू घूमने वाले लड़कों पर कार्रवाई होनी चाहिए।
  • आरोपियों का गली-गली में जुलूस निकाला जाए।
  • रूल बना दिया जाए कि 8 बजे के बाद कोई भी लड़का फालतू नहीं निकले।
  • बीनागंज से चांचौड़ा रोड तक लड़के खड़े रहते हैं। इस पर एक्शन लिया जाए।
  • प्रशासन सख्ती करके लड़कों का गुंडाराज खत्म करे।
  • जहां भी ऐसे लड़के अड्‌डा बनाए रहते हैं, वहां CCTV कैमरे लगाए जाएं।

अब तक इन्हें गिरफ्तार किया गया

1- रामजीवन मीना (22) 2- मोहित मीना (21) 3- संजय उर्फ संजू माली (28) 4- नाबालिग 5- नाबालिग

ज्यादा जानकारी के लिए पढ़ें ...

गुना में 15 साल की छात्रा से गैंगरेप हुआ। खुद लड़की ने अपने बयान में ये बात बताई। चांचौड़ा के प्रभारी SDM वीरेंद्र सिंह ने बच्ची के इस बयान की पुष्टि की है। अभी तक 7 आरोपियों की जानकारी सामने आई है। 5 नामजद और दो अज्ञात हैं। 5 को अरेस्ट कर लिया गया है। सभी आरोपी संपन्न परिवार से हैं। पकड़े गए आरोपियों को बिल्डिंग परमिशन के नोटिस दिए गए हैं। पूरी खबर पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

गैंगरेप पीड़िता के पिता बोले- जिस हालत में बेटी मिली थी, लगा वो नहीं रही

बेटी 10वीं में पढ़ती है। पढ़ने में होशियार है। अच्छे स्कूल में पढ़ा रहे हैं, ताकि कुछ बन जाए। शुक्रवार सुबह 10 बजे के आस-पास वह स्कूल गई। मैं भी खेत पर चला गया। स्कूल की छुट्टी शाम 4 बजे होती है। रोजाना 4.30 बजे तक बेटी घर आ जाती है, लेकिन शुक्रवार को देर शाम तक नहीं आई। उसकी तलाश शुरू की। घरवालों ने मुझे फोन किया कि बेटी नहीं आई। पढ़िए, पिता की आपबीती

LIVE गुना में गैंगरेप के खिलाफ प्रदर्शन:बीनागंज में बच्चियां सड़क पर उतरीं