समस्या:खराब हुए ट्रांसफरों काे नहीं बदला, रोजमर्रा के कार्य प्रभावित होने से लोग हो रहे परेशान

राघौगढ़2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ग्राम तोडरा में खराब हुए ट्रांसफर काे बदले नहीं जाने स्थिति गंभीर बनी हुई रोजमर्रा के कामों के लिए लोगों को परेशान होना पड़ रहा है। तोडरा ग्राम में दोनों ट्रांसफार्मर खराब होने के कारण करीब 5000 हजार लोगों के सामने समस्या खड़ी हो गई है। गांव के कन्हैयालाल धाकड़, जाकिर अली आटा पिसाई का काम करते हैं। उन्होंने बताया कि हम प्रत्येक माह बिल जमा करते हैं, इसके अलावा गांव के रामसिंह धाकड़, दौलतराम धाकड़, मनोज धाकड़ ने बताया कि हम लोग हर माह बिल जमा करते हैं।

यहां तक कि मुख्यमंत्री हेल्पलाइन 181 पर भी मैंने शिकायत की लेकिन आज तक समस्या का निराकरण नहीं हो सका है। हम लोगों को बिल जमा करने के बाद भी बिजली नहीं मिल रही है। नौबत यहां तक आ गई कि आप 10 से 15 किलोमीटर दूसरे गांवों में जाना पड़ रहा है। अनाज पिसाने के लिए यहां तक कि मोबाइल का चार्ज करने के लिए दूसरे गांवों में जाना पड़ रहा है। गांव के लोगों का कहना है कि जनप्रतिनिधि भी सिर्फ चुनावों के समय पर गांवों में आते हैं, उनका भी इस ओर कोई ध्यान नहीं हैं।

बिजली विभाग बहाने बनाता है कि कुछ लोग बिल जमा नहीं कर रहे हैं, इसलिए बिजली ट्रांसफार्मर नहीं बदला जा रहा है।

कर्मचारियों को फोन लगाने पर नहीं आते सुधार करने

अनिकेत अनिल धाकड़ ने बताया कि बिजली जब किसी फाॅल्ट हो जाती है जब लाइनमेन ठाकुरदास व मीटर रीडर सुरेश, हेल्पर रामजीवन को फोन लगाते हैं तो कोई भी नहीं आता है।हम लोगों को अपनी जान जोखिम में डालकर ही खंबों पर चढ़ना पड़ता है और बिजली सुधारना पड़ती है, जबकि विभाग इन लोगों को अच्छी खासा वेतन दे रहा है, गांव के सौरभ प्रसाद ने बताया कि जनप्रतिनिधियों को भी लगातार हम 15 दिनों से शिकायत कर रहे हैं, कोई भी जनप्रतिनिधि इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। जब चुनाव आते तो जनप्रतिनिधि एवं नेताओं का तांता लगा रहता है। समस्या हल करने के लिए लेकिन कोई भी जनप्रतिनिधि हमारी समस्या हल नहीं कर रहा है।

सिंचाई के लिए दी जा रही बिजली में भी कटौती
वहीं अन्य ग्रामों परेवा, चैनपुरा, सालोटा, गणेशपुरा, महू, पीपलखेड़ी, के तीन दर्जन से अधिक किसानों ने बिजली की समस्या बताई। किसानों का कहना है कि बिल जमा करते हैं, लेकिन बिजली विभाग अपनी मनमर्जी से बिजली सप्लाई करता है। किसानों को इस समय सिंचाई के लिए बिजली चाहिए, लेकिन बिजली विभाग कहर बरसा रहा है। अपने मर्जी अनुसार एक घंटे से लेकर 8 घंटे बिजली काट रहा है।

ट्रांसफार्मर भिजवा दिया है
"बिजली कंपनी के एई ने बताया कि एक ट्रांसफार्मर भिजवा दिया गया है। वह क्यों नहीं लगाया गया है, इसकी जानकारी मैं लेता हूं और 1 से दो दिन के अंदर दूसरा ट्रांसफार्मर जो जल गया है। उसको भी एक-दो दिन के अंदर लाइनमैन को भेजकर चालू करवाते हैं।"
-भीम शरण गौतम, एई बिजली कंपनी, राघौगढ़

खबरें और भी हैं...