पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

दरिंदे को मिली सजा:किशोरी से दुष्कर्म के आरोपी को 10 साल की जेल

अंबाह3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतिकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
प्रतिकात्मक फोटो

15 साल की किशोरी से उसके घर की छत पर दुष्कर्म करने के अभियुक्त दीपू उर्फ अजय पुत्र सोबरन सिंह कुशवाह को द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश अम्बाह डॉ. धर्मेंद्र टाडा की न्यायालय ने 10 वर्ष के सश्रम कारावास व 7000 रुपए के अर्थदंड की सजा से दंडित किया है।

अभियोजन की मीडिया सेल प्रभारी डॉ. रश्मि वैभव शर्मा के अनुसार दिमनी क्षेत्र के पायकापुरा में 29 मार्च 2019 की रात 2.30 बजे आरोपी दीपू उर्फ अजय एक घर मे घुसकर छत पर पहुंच गया और वहां सो रही 15 साल की किशोरी से उसने दुष्कर्म किया।

किशोरी की छोटा भाई अपनी मां को बुलाकर लाया तब मां ने आकर बेटी को बचाया तो आरोपी ने मां को धक्का दे दिया जिससे उसके हाथ की उंगलियों में चोट आई। आरोपी किशोरी समेत उसकी मां को जान से मारने की धमकी देकर भाग गया। मौके पर आरोपी दीपू का मोबाइल छूट गया।इस मामले में दिमनी पुलिस ने आरोपी दीपू कुशवाह के खिलाफ दुष्कर्म का अपराध दर्ज कर अभियोजन अंबाह कोर्ट में पेश किया।

विशेष लोक अभियोजक गिरजेश खत्री ने बताया कि न्यायालय में अभियोजन साक्ष्य के दौरान पीड़िता का बयान कराने में मशक्कत के सामना करना पड़ा क्योंकि बचाव पक्षकार लगातार राजीनामा करने का दबाव बना रहा था जिससे पीड़िता न्यायालय में बयान देने के लिए उपस्थित नही हो रही थी लेकिन पीड़िता को अभियोजन ओर दिमनी पुलिस के सहयोग से न्यायालय में उपस्थित होने पर पीड़िता का मुख्य परीक्षण कराया जिसमे अभियोजन कहानी का समर्थन किया।

अर्थात दीपू के द्वारा दुष्कर्म करना बताया। एजीपी रामसेवक मिश्रा के मुताबिक, प्रतिपरीक्षण में पीड़िता अपने कथनों से पलट गई। लेकिन अभियोजन ने सजकता के साथ पुनः मुख्य परीक्षण में आपस मे राजीनामा होने के तथ्य अभिलेख पर लाए इसलिए पीड़िता के मुख्य परीक्षण में आए तथ्य व अन्य सुसंगत तथ्यों से अभियोजन ने आरोपी दीपू के विरुद्ध मामला साबित किया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कुछ रचनात्मक तथा सामाजिक कार्यों में आपका अधिकतर समय व्यतीत होगा। मीडिया तथा संपर्क सूत्रों संबंधी गतिविधियों में अपना विशेष ध्यान केंद्रित रखें, आपको कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती हैं। अनुभव...

    और पढ़ें