पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोरोना का कहर:कलेक्टर से बोले व्यापारी- हमारे काम-धंधे चौपट, अब लॉकडाउन का डर मत दिखाओ

अंबाह/सबलगढ़11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • शादी विवाह समारोह से जुड़े व्यवसायियों ने कलेक्टर को दिया ज्ञापन
  • शादियों में लोगों की संख्या 100 तक सीमित करने से व्यवसाइयों को नुकसान
  • साहब; अब हमारे काम पर रोक लगाई तो बेरोजगारी से तंग हो जाएंगे

शहर के किराना व्यापारी, बैंड व्यवसायी यूनियन सहित हलवाई, फोटोग्राफर, टेंट, सजावट एवं कैटरर्स, इवेंट मैरिज होम व्यवसाय से जुड़े व्यापारियो ने बुधवार को कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। उन्होंने कहा कि कोरोना गाइडलाइन के नाम पर शादियों में लोगों की संख्या 100 तक सीमित करने से उन्हें नुकसान हो रहा है। इसके विरोध में जनपद अध्यक्ष रामसिंह तोमर एवं ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष उमाचरण शर्मा दाऊ के नेतृत्व में कलेक्टर बीकार्तिकेयन को ज्ञापन सौंपा। इस दौरान मौजूद लोगों ने कहा कि कर्ज लेकर विवाह समारोहों के लिए इंतजाम किए थे।

मैरिज होम व धर्मशाला बुक कराए गए थे व कैटरिंग वाले को ठेका दिया । बैंड-ट्रॉली सभी कुछ इंतजाम किए लेकिन प्रतिबंध से अब नुकसान है। कलेक्टर को ज्ञापन सौंपने पहुंचे व्यापारियों ने कहा कि एक साल से बेरोजगारी से जूझ रहे थे। महीनों बाद काम मिला। किंतु अब लॉकडाउन का डर दिखाकर प्रशासन रोजी रोटी छीनने का काम कर रहा है। ज्ञापन में कहा गया है कि निमंत्रण पत्र बांट दिए गए हैं। ऐसे में शादियों में सीमित लोगों की इजाजत स्थगित किया जाए।

रैली निकालकर व्यवसायी पहुंचे जनपद कार्यालय

अगर आदेश में संशोधन नहीं हुआ तो कांग्रेस आंदोलन को बाध्य होगी। इस अवसर पर कलेक्टर बी कार्तिकेयन ने मौजूद लोगों को आश्वस्त किया कि वह इस समस्या को राज्य सरकार तक पहुचाएंगे। जिससे समस्या का समाधान हो सके। इससे पहले शादी समारोह में बैंड बाजे की अनुमति पर शर्तें लगाने के विरोध में बैंड यूनियन के कार्यकर्ताओं ने बाजार में रैली निकालकर प्रदर्शन किया। इसी दौरान उनको सूचना मिली की जनपद कार्यालय में जिला कलेक्टर बी कार्थिकेयन बैठक लेने के लिए आ रहे हैं।

तो सभी व्यवसाई जनपद कार्यालय पहुंचे जहां उन्होंने जिलाधीश से कहा कि लॉकडाउन के बाद शादी विवाह के साहलग से कुछ उम्मीद थी किंतु अब फिर लॉकडाउन के नाम पर शर्तें लगा दी गई हैं। अगर शर्ते नहीं हटाई तो बैंड का काम करने वालों के लिए बड़ी मुश्किल हो जाएगी। राशन पानी एवं अन्य खर्चे की व्यवस्था ना होने के चलते उन्हें आत्महत्या के लिए मजबूर होना पड़ेगा। बैंड संचालक राजेश शाह का कहना था कि बैंड कर्मियों को परेशानी है।

36 घंटे का लॉकडॉउन, बुधवार को तो खोलने दें

जौरा कस्बे में पूर्व घोषित बुधवार के साप्ताहिक अवकाश को लेकर मंगलवार को प्रशासन की मुनादी के बाद मेडिकल, फल, सब्जी, दूध की दुकानों को छोड़कर सभी बाज़ार पूरी तरह बंद नजर आए। हालांकि बंद को लेकर व्यापारियों ने कहा कि कोरोना को लेकर जिले में शनिवार रात्रि से सोमवार की सुबह तक 36 घंटे का लॉकडॉउन घोषित किया जा चुका है। शादियों का समय होने से सप्ताह में दो दिन बाज़ार बंद करना पड़ा तो व्यवसाय में नुकसान होगा।

रैली निकालकर मुख्यमंत्री के नाम सौंपा ज्ञापन
सबलगढ़| सबलगढ़ में टेंट व हलवाई का काम करने वालों ने एसडीएम को एक ज्ञापन सौंपा। उन्होंने कहा कि बैंड वाले, टेंट वाले, फूल सजावट वाले हलवाई, क्रोकरी, लाइट वाले सभी मजदूरों का व्यवसाय करने वालों का व्यवसाय को ध्यान में रखकर गाइड लाइन में कुछ संशोधन किया जाए। क्योंकि सहलग पर काम नहीं चलेंगे तो वह सब बर्बाद हो जाएंगे। उन्हें खाने के लाले पड़ जाएंगे।

बेरोजगार बैठी है लेबर
^पिछले एक साल से काम धंधा चौपट हो गया है। कोरोना के कहर से हम लोग परेशान है। बाजा बजाने वाली लेबर पिछले एक साल से बेरोजगार है और तंगहाली में जीवन जी रहे हैं।
- राजेश शाह, बैंड बाजा संचालक

सरकार को भेजेंगे प्रस्ताव
^शादी समारोहों में काम करने वाले लोगों की समस्याओं को लेकर राज्य सरकार को प्रस्ताव भेजेंगे। जैसा शासन से आदेश मिलेगा वैसा ही किया जाएगा।
- बी कार्तिकेयन, कलेक्टर

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- कुछ रचनात्मक तथा सामाजिक कार्यों में आपका अधिकतर समय व्यतीत होगा। मीडिया तथा संपर्क सूत्रों संबंधी गतिविधियों में अपना विशेष ध्यान केंद्रित रखें, आपको कोई महत्वपूर्ण सूचना मिल सकती हैं। अनुभव...

    और पढ़ें