पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

स्वच्छ भारत अभियान :ग्राम पंचायतों ने बड़ी संख्या में कराया था शौचालयों का निर्माण

बैराड़15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पोहरी की 10 पंचायतों में कई शौचालय अधूरे कई जगह पानी की कमी, खुले में जा रहे लोग
Advertisement
Advertisement

केंद्र सरकार की स्वच्छ भारत अभियान योजना के तहत पोहरी जनपद की ग्राम पंचायतों में बड़ी मात्रा में शौचालयों का निर्माण करवाया गया था। शौचालय निर्माण में पंचायतें ओडीएफ भी हुई थीं। सरकार की ओर से शौचालय निर्माण के लिए अनुदान दिया गया था। सरकार की योजना  पूरी करने के लिए अधिकारियों ने लोगो के शौचालयों का निर्माण तो करवा दिया, लेकिन ब्लॉक की 10 से अधिक ग्राम पंचायतों में शौचालय में उपयोग होने वाले पानी की कोई व्यवस्था नहीं है। इसके चलते शौचालय नाकारा साबित हो रहे हैं। गौरतलब यह है कि अगर ये कहा जाए कि ये अधूरे शौचालय स्वच्छता अभियान की धज्जियां उड़ा रहे हैं तो गलत नहीं होगा। भले ही रिकॉर्ड में गांव शत प्रतिशत शौच से मुक्त हो गए हो, लेकिन सच्चाई ये है कि गांवों में ग्रामीणों ने शौचालयों को पानी रखने की जगह तो किसी ने कंडे भर दिए हैं। घर में शौचालय बने होने के बाद भी ग्रामीण बाहर शौच के लिए जा रहे हैं। ऐसे में सरकार की योजना जिस पर करोड़ों की राशि खर्च हुई है। उस पर सवालिया निशान उठने लगे हैं। ग्रामीण इलाकों में अधिकांश परिवारों में अनुदान लेकर शौचालय का निर्माण हुआ है। वहीं कुछ गांवों में सामूहिक शौचालयों का भी निर्माण हुआ था, लेकिन ग्रामीण इलाकों में पानी की किल्लत होने व अधूरे शौचालयों का निर्माण होने से शौचालयों का उपयोग नहीं हो पा रहा है। ग्रामीणों की मानें तो शौचालय बना तो दिए, लेकिन  शौचालयों में पानी तक नहीं है। ग्रामीणों के अनुसार शौचालय के उपयोग में अधिक मात्रा में पानी की आवश्यकता होती है। ग्रामीण इलाकों में हम हमारी ज़रूरत का ही पानी नही जुटा पा रहे हैं। ऐसे में शौचालय के लिए कहा से पानी लाएं। वहीं कई जगह अधूरी शौचालय होने के कारण ग्रामीण खुले  में शौच जा रहे हैं।

कई पंचायतों में शौचालयों में ताला तो कई खराब हो गए
ब्लॉक की ग्राम पंचायत भिलौड़ी, हर्रई, आकुंर्सी, गुरिच्छा, रय्यन, देवपुरा, ऐनेपुरा, टोरिया, सांपरारा, देवरी सहित अन्य ग्राम पंचायतों में सरकार द्वारा चलाए गए स्वछ भारत अभियान के तहत करोड़ों की राशि खर्च कर शौचालय तो बनाए गए, लेकिन उनका इस्तेमाल कई जगह आज तक नहीं किया गया। अधूरे निर्माण के कारण शौचालयों पर या तो ताला लगा हुआ है या वो कबाड़ घर बन चुके हैं। ग्रामीणों का कहना है कि इस राशि से पूरा निर्माण नहीं हो सकता है। मजदूर वर्ग के लोग हैं एक वक्त कमाते हैं तब दूसरे वक्त खाते हैं। ऐसे में शौचालय का निर्माण पूरा करना हमारे बस की बात नहीं है। जितना रुपया मिला उसका निर्माण करवा चुके हैं। शौचालय में पानी की व्यवस्था न होने के कारण ग्रामीण शौच के लिए बाहर जाते हैं।

हमारे यहां पानी की समस्या
हमारे यहां पानी की समस्या है शौचालय बना दिए हैं, लेकिन शौचालय अधूरे होने की वजह से बाहर जाते हैं इसलिए खुले में बाहर शौच जाते हैं।
जगनू राम जाटव, निवासी हर्रई

घर के पास आती है बदबू
सरकार ने गांव में शौचालय तो बनवा दिया है लेकिन शौचालय घर के पास बना हुआ है इस कारण शौच करने पर बदबू आती है, इसलिए हम खुले में शौच जाते हैं।
संतोष आदिवासी, देवरीकलां

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज का दिन पारिवारिक और आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदायी है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति का अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ निश्चय से पूरा करने की क्षमत...

और पढ़ें

Advertisement