• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Bhind
  • After a year and a half, the Congress district president made his team, in that also made such leaders, who are not only in the party, they themselves speak with us with Sindhi

नियुक्ति पर सवाल / डेढ़ साल बाद कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने बनाई अपनी टीम, उसमें भी एेसे नेताओं को पदाधिकारी बना दिया जो पार्टी में ही नहीं, ये खुद बाेले- हम ताे सिंधिया के साथ

X

  • जसवीर सिंह जस्सा को महामंत्री और कुलवंत सिंह को कार्यकारिणी सदस्य बनाया तो यही नेता बोले- हमें क्यों बना दिया
  • पद मिलने वालों ने ही पूछा- एक बार हमसे पूछ तो लिया होता

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

भिंड. पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया के समर्थन में गोहद और मेहगांव के विधायकों के इस्तीफा देने और कांग्रेस छोड़कर भाजपा में जाने के बाद इन सीटों पर उपचुनाव की तैयारी में भाजपा और कांग्रेस पूरी ताकत झोंक रही है। लेकिन इस बीच कांग्रेस में अंतर्कलह थमने का नाम नहीं रहा है। कांग्र्रेस नेताओं और कार्यकर्ताओं के बीच सामंजस्य ही नहीं है। कांग्रेस जिलाध्यक्ष बनने के डेढ़ साल बाद जयश्रीराम बघेल ने भारी भरकम नेताओं को पद देकर कार्यकारिणाी का गठन किया। लेकिन इसमें भी वे चूक कर गए। उन्होंने दो ऐसे नेताओं (जसवीर सिंह जस्सा और सरदार कुलवंत सिंह) को पदाधिकारी बना दिया जो पार्टी में ही नहीं हैं। 
इन नेताओं ने ही कार्यकारिणी में पद मिलने के बाद आपत्ति जताते हुए जिलाध्यक्ष से पूछ लिया कि आपने पद देने से पहले कुछ पूछा भी नहीं। ये ताे पता कर लिया कराे कि जिन्हें पद दे रहो, वो पार्टी में हैं भी या नहीं। इन दोनाें नेताओं ने जिलाध्यक्ष से कह दिया कि वो पार्टी में नहीं हैं, वाे ताे सिंधिया के साथ चले गए हैं। इस वाकया के बाद जिलाध्यक्ष ने इन दोनों नेताओं को निष्कासित करने के लिए प्रदेश संगठन को चिट्‌ठी लिखी है। इस चूक का नतीजा यह हुआ कि मंगलवार को गोहद की बैठक में कांग्रेस के वे नेता भड़क गए जो सालों से पद के इंतजार में थे। कांग्रेस नेताओं ने जिलाध्यक्ष पर फर्जी नियुक्तियां करने का आरोप लगा दिया। बाद में जिलाध्यक्ष ने इन्हें बड़ी मुश्किल से शांत कराया। खास बात तो यह पूरा वाक्या बैठक लेने पहुंचे कांग्रेस के भिंड प्रभारी सुधांशु त्रिपाठी और संगठन प्रभारी अजय चोरे सहित अन्य कांग्रेस के नेताओं के सामने घटित हुआ।

महामंत्री बोले- बिना पूछे दिया पद, हम तो सिंधिया के साथ
इधर चार दिन पहले कांग्रेस जिलाध्यक्ष जयश्रीराम बघेल के द्वारा घोषित की गई जिला कार्यकारिणी को लेकर भी सवाल खड़े हो गए हैं। बघेल ने अपनी कार्यकारिणी में 34 महामंत्री बनाए हैं, जिसमें गोहद से जसवीर सिंह जस्सा का कहना है कि उनसे पूछे बगैर ही उन्हें यह पद दे दिया गया। जबकि वे कांग्रेस में नहीं सिंधिया के साथ ही हैं। इसी प्रकार से 18 कार्यकारिणी सदस्यों में शामिल सरदार कुलवंत सिंह का भी कहना है कि जिलाध्यक्ष बघेल ने बगैर किसी से चर्चा किए घर बैठे कार्यकारिणी बना दी। जबकि वे अब कांग्रेस में नहीं सिंधिया के साथ हैं।

पदाधिकारियों को निष्कासित करने लिखा पत्र 

कुछ लोग चाय नाश्ता कराकर लोगों को भड़का रहे थे। लेकिन हमने एक घंटे में ही सामंजस्य बना लिया। अब कोई अंसतुष्ट नहीं है। वहीं जसवीर सिंह जस्सा और सरदार कुलवंत सिंह को निष्कासित किए जाने के लिए हमने प्रदेश पदाधिकारियों को लिख दिया है।

 जयश्रीराम बघेल, जिलाध्यक्ष, भिंड

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना