पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

विरोध:हड़ताल पर गए सहकारी समिति प्रबंधक, राशन बंटने, गेहूं पंजीयन का काम अटकेगा

भिंड24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शहर के जिला पंचायत परिसर में धरना देते सहकारी समिति के कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
शहर के जिला पंचायत परिसर में धरना देते सहकारी समिति के कर्मचारी।
  • जिला पंचायत परिसर में सहकारी समिति कर्मचारियों ने धरना देकर की नारेबाजी

जिले की सहकारी समितियों के प्रबंधक सहित सभी कर्मचारी हड़ताल पर चले गए हैं, जिससे न सिर्फ जिले में खाद्यान्न वितरण का कार्य अटकेगा। बल्कि समर्थन मूल्य पर गेहूं, सरसों की खरीदी के लिए पंजीयन का कार्य भी प्रभावित हो सकता है। शुक्रवार को जिला पंचायत परिसर में बैठकर सहकारी समिति कर्मचारियों ने धरना दिया। साथ ही अपनी मांगों को लेकर नारेबाजी की। यहां बता दें कि 168 सहकारी समितियां हैं, जिन पर जिले की 508 शासकीय उचित मूल्य की दुकानें हैं।

लेकिन अचानक शुक्रवार से उनके हड़ताल पर चले जाने के बाद इन दुकानों पर ताले लटक गए हैं, जिससे इन दुकानों से राशन मिलने का संकट खड़ा हो गया है। इसी प्रकार से वर्तमान में समर्थन मूल्य पर गेहूं और सरसों की खरीदी के लिए पंजीयन का कार्य भी चल रहा है। वहीं समिति प्रबंधकों और उनके कर्मचारियों के हड़ताल पर जाने की वजह से किसानों को पंजीयन के लिए प्राइवेट दुकानों पर जाना पड़ेगा। जिले में करीब 40 हजार किसान समर्थन मूल्य पर फसल बेचने के लिए पंजीयन कराते हैं, जिनमें ज्यादातर समिति समितियों पर ही पंजीयन कराते हैं।

समिति प्रबंधक बोले कोरोना काल में हमने बांटा राशन

  • मध्यप्रदेश सहकारिता समिति कर्मचारी महासंघ के जिलाध्यक्ष प्रदीप सिंह परिहार ने बताया कि हमारी मुख्य है कि हमें भी शासन के अन्य कर्मचारियों की भांति नियमित कर सुविधाएं दी जाए। उन्होंने बताया कि कोरोना काल में जब अन्य सभी विभागों के कर्मचारी अपने घरों में बंद थे। तब हमने दुकानें खोलकर गरीबों को राशन बांटा। साथ ही समर्थन मूल्य पर फसल खरीदी। हम लोगों को आज भी चार से पांच हजार रुपए वेतन मिलता है। ऊपर से सरकार ने राशन में भी कटौती कर दी है। कर्मचारियों ने अपनी मांगों को लेकर मंत्री डॉ. अरविंद सिंह भदौरिया को भी एक ज्ञापन दिया है।
  • धरना देने वालों में शैलेष उपाध्याय, हरि बाबू शर्मा, हारिश अली काजी, सूर्यप्रकाश, बृजेंद्र सिंह, लोकेंद्र सिंह, सतीश सिंह, अरविंद सिंह, अशोक सिंह, अनुरुद्ध सिंह, संग्राम सिंह, जितेंद्र सिंह, रामनिवास शर्मा सहित अन्य कर्मचारी शामिल रहे।

इधर, भाजपा नेता डॉ. दुबे ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन
भाजपा नेता डॉ. रमेश दुबे ने समर्थन मूल्य पर उपज बेचने के लिए किसानों पंजीयन कराने में जो समस्याएं आ रही है, उसे लेकर कलेक्टर डॉ. वीरेंद्र सिंह रावत से ज्ञापन दिया। उन्होंने कहा कि नए नियमों के तहत कृषि भूमि के खसरा नंबरों को आधार से लिंक होने के उपरांत ही पंजीयन किया जा रहा है, जिससे किसानों को परेशानी आ रही है। साथ ही प्रशासन द्वारा पंजीयन के लिए अंतिम तिथि 20 फरवरी तय की गई है। यह समय अपर्याप्त है।

समितियों के कर्मचारियों की यह हैं मांगें

1. सहकारी समितियों के प्रभारी प्रबंधक, सहायक प्रबंधक, विक्रेताओं, लेखापाल, लिपिक, कंप्यूटर ऑपरेटर, भृत्य, चौकीदारों को शासकीय कर्मचारी घोषित करते हुए सरकार के अन्य कर्मचारियों की तरह उन्हें भी सुविधाएं दी जाए। 2. सार्वजनिक वितरण प्रणाली में सरकार द्वारा जो राशन काटा गया है उसका तुरंत आवंटन जारी किया जाए। साथ ही कर्मचारियों पर मामले दर्ज कराए गए हैं, उन्हें वापस लिया जाए। इसके अलावा पीडीएस कमीशन का भुगतान किया जाए।

3. गेहूं, चना, सरसों, धान, ज्वार, बाजरा, मक्का आदि उपार्जन कार्य का कमीशन, प्रासंगिक व्यय का भुगतान नहीं किया गया है उसका भी भुगतान हो।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज जीवन में कोई अप्रत्याशित बदलाव आएगा। उसे स्वीकारना आपके लिए भाग्योदय दायक रहेगा। परिवार से संबंधित किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर विचार विमर्श में आपकी सलाह को विशेष सहमति दी जाएगी। नेगेटिव-...

    और पढ़ें