पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Bhind
  • Drain Water Contained In The Foundation Of The Houses, The Slab Of The House Collapsed, The Three year old Girl Survived.

हादसा:घरों की नींव में समा रहा नाली का पानी, मकान की पटिया टूटकर गिरी, तीन साल की बच्ची बची

भिंड13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
छत की पटिया टूट कर गिरने से बिखरा पड़ा गृहस्थी का सामान।
  • रविवार की सुबह शहर के वार्ड 11 विक्रमपुरा में हुआ हादसा, लोग बोले- कई साल में भी नहीं बन सका नाला
  • लोग बोले- जल्द नाला नहीं बना तो गिर सकते हैं कई मकान

शहर के वार्ड क्रमांक 11 विक्रमपुरा में एक मकान की दीवार धंसकने से कमरे की पटिया टूटकर नीचे गिर पड़ी। इस घटना के समय कमरे में सो रही 3 साल की बच्ची बाल- बाल बच गई। इसके बाद इस इलाके के भवन स्वामियों में दहशत व्याप्त हो गई है। इन्होंने नगर पालिका परिषद से जल्दी से जल्दी नाला निर्माण कराए जाने की मांग की है जिससे फिर किसी भवन की दीवार धंसकने से पटिया टूटने की घटना घटित न हो।

यहां बता दें विक्रमपुरा में विद्यावती कॉलेज के पीछे की बस्ती में एक गली घरों के निस्तार के पानी निकास के लिए छोड़ी गई थी। इसमें नाला निर्माण कराया जाना था लेकिन सालाें से नाला निर्माण कराए जाने की सुध न लिए जाने से घरों से निकलने वाला पानी इसी गली में समा रहा है। इस कारण पानी भवनों की नींव में समा रहा है। इसी के चलते आज सुबह 8 बजे के करीब मुमताज हुसैन पुत्र मोहम्मद हुसैन के मकान की छत भरभरा के गिर गई।

इस मकान के कमरे में सो रही तीन साल की बेटी नाजरीन बाल बाल बच गई। छत की पटिया टूटने का आभास मुमताज की पत्नी नसरीन बेगम को तब हुआ जब वह परिवार के लिए सुबह का नाश्ता बना रही थी। मुमताज मजदूरी करके अपने परिवार का भरण पोषण करता है ऐसे में गरीब की छत टूटना उसके लिए मुसीबतों का पहाड़ टूटने के जैसा है। इसी इलाके में महीने भर पहले मुन्नी बानो का मकान गिर गया था। तब से यह नयापुरा में भाड़े का मकान लेकर रहने को मजबूर हो गई हैं।

20 साल से नहीं हुए विकास कार्य, न पानी की व्यवस्था, न ही सड़क बनाई
विक्रमपुरा की मुस्लिम बाहुल्य बस्ती में न पानी निकास की व्यवस्था है और न ही आवागमन के लिए सड़क का ही निर्माण कराया गया है। इस कारण बारिश के दिनों रहवासियों को बहुत अधिक समस्या का सामना करन पड़ता है। यहां के लोगों का कहना है कि सब कामकाजी लाेग हैं सुबह निकल जाते हैं शाम को लौटते हैं।

स्थानीय लोगों की पीड़ा
फातिमा बानो- करीब तीन साल से नाला निर्माण की मांग कर रहे हैं लेकिन अब तक नाला का निर्माण नहीं हो सका है। जिससे मकानों के गिरने हालात बनने लगे हैं। अब तक दो मकान गिर चुके हैं। इरफान सिद्दिकी- करीब 8 साल पहले घरों के पीछे दो फीट का नाला बनाने के लिए जगह छोड़ी गई थी। इस गली में 20 घरों का पानी चल रहा है। जिससे मकान गिरने के हालात बन रहे हैं। छोटे खान- नाला बनाने के लिए छोड़ी गई जगह में दो मकान बन जाने से समस्या अधिक बढ़ गई है। इससे खाली प्लाट में भी पानी भर रहा है मच्छर पनप रहे हैं।

समस्या का समाधान होगा
विक्रमपुरा में मकान की पटिया गिरने की घटना हुई है। समस्या का समाधान कराया जाएगा।
सुरेंद्र शर्मा, सीएमओ, नपा, भिंड

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- किसी अनुभवी तथा धार्मिक प्रवृत्ति के व्यक्ति से मुलाकात आपकी विचारधारा में भी सकारात्मक परिवर्तन लाएगी। तथा जीवन से जुड़े प्रत्येक कार्य को करने का बेहतरीन नजरिया प्राप्त होगा। आर्थिक स्थिति म...

और पढ़ें