जमानत निरस्त / नाबालिग को धमकी देकर विवाह किया गर्भवती होने पर छोड़ा, आरोपी के परिवार के 4 लोगों की जमानत निरस्त

X

  • 7 अक्टूबर 2019 को नाबालिग को जबरदस्ती ले गए थे

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

भिंड. षष्टम अपर सत्र न्यायाधीश ने नाबालिग से विवाह रचाकर उसके साथ दुष्कर्म करने वाले युवक सहित चार आरोपियों के जमानत आवेदन को निरस्त कर दिया है। आरोपियों के परिवार के चार लोगों ने सोमवार को न्यायालय में जमानत के लिए आवेदन लगाया गया था।
एडीपीओ इंद्रेश कुमार प्रधान ने बताया कि 7 अक्टूबर 2019 को नाबालिग अपनी नानी के यहां भिंड आई थी। 10 अक्टूबर को शब्बीर की बहन सद्दो ने नाबालिग को अपने घर बुलाया। इकबाल ने नाबालिग से कहा कि तुम शब्बीर के साथ चले जाओ। जब उसने मना किया तो उन्होंने उसके घर के लोगों को जान से मारने की धमकी दी। इसके बाद शब्बीर, बशीर, आजाद, शहजाद, सद्दो का पति सेंगर नाबालिग को लेकर ग्वालियर पहुंचे। जहां एक मस्जिद में नाबालिग का शब्बीर से निकाह करा दिया। इस दौरान शब्बीर ने नाबालिग के साथ कई बार दुष्कर्म किया, जिससे नाबालिग गर्भवती हो गई। 9 जून 2020 को शब्बीर के घर वालों ने उन्हें गोहद बुलाया और श्ब्बीर को अपने साथ ले गए। इसके बाद नाबालिग ने अपने माता पिता के पास पहुंची अाैर पूरी बात बताई। इसके बाद कोतवाली पुलिस ने शहजाद खान (62) पुत्र बस्सू खान, पप्पन उर्फ आजाद खान (36) पुत्र शहजाद खान, पप्पू उर्फ यूनिस खान (55) पुत्र बस्सू खान निवासी वार्ड क्रमांक पांच, बसीन खान (26) पुत्र शहजाद खान निवासी नूरगंज गोहद के खिलाफ केस दर्ज किया है। वहीं सोमवार आरोपियों की जमानत के लिए उनके वकील ने आवेदन दिया, जिसे न्यायालय ने निरस्त कर दिया।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना