पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Bhind
  • MP's Sand Charii Benefits UP For Crores, Traffic Jams Due To Checking, People Of Bhind Are Suffering

फायदे का ट्रैफिक जाम:मप्र की रेत चाेरी से यूपी को करोड़ों का फायदा चेकिंग से ट्रैफिक जाम, भुगत रहे भिंड के लोग

भिंड8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
इटावा रोड पर ट्रैफिक जाम में फंसे वाहन, इंसेट में कार्रवाई से बचने रेत खाली करता डंपर चालक। - Dainik Bhaskar
इटावा रोड पर ट्रैफिक जाम में फंसे वाहन, इंसेट में कार्रवाई से बचने रेत खाली करता डंपर चालक।
  • 20 दिन में 180 वाहनों से इटावा प्रशासन ने वसूला 1.80 करोड़ रुपए का जुर्माना
  • ओवरलोड वाहनों के वजन से गिर सकता है चंबल पुल फिर भी चेकिंग बंद नहीं

नेशनल हाईवे-92 की भिंड इटावा रोड पर उदी से बरही तक लगने वाला ट्रैफिक जाम उत्तरप्रदेश सरकार के लिए फायदा का सौदा साबित हो रहा है। यही वजह है कि इस ट्रैफिक जाम से चंबल पुल के कभी भी क्षतिग्रस्त होने के संबंध में बार-बार चेतावनी मिलने पर भी इटावा प्रशासन इसे बंद नहीं कर रहा है। आलम यह है कि पिछले 20 दिनों में इटावा प्रशासन ने उदी पर चेकिंग प्वाइंट लगाकर 180 वाहनों से करीब 1 करोड़ 80 लाख रुपए का राजस्व वसूला है। जबकि खनिज की चोरी मध्यप्रदेश से हुई।

यहां बता दें कि नेशनल हाईवे-92 की ग्वालियर भिंड इटावा रोड पर सबसे ज्यादा ट्रैफिक खनिज परिवहन करने वाले ट्रक, डंपरों का है। 80 प्रतिशत यह वाहन ग्वालियर, दतिया सहित अन्य जिलों से रेत, गिट्टी लेकर इसी रोड से उत्तरप्रदेश की सीमा में प्रवेश करते हैं। इनमें से कई वाहनों में खनिज बिना राॅयल्टी का होता है तो कई राॅयल्टी होने के बाद भी ओवरलोड होते हैं। लेकिन इनकी जिले में सतत निगरानी न होने की वजह से उसका भरपूर फायदा उत्तरप्रदेश सरकार को हो रहा है। स्थिति यह है कि यूपी सीमा में चंबल पुल पार करते ही इटावा एआरटीओ, खनिज विभाग और पुलिस संयुक्त रूप से चेकिंग प्वाइंट लगाकर एमपी से चोरी कर लाए गए खनिज का राजस्व वसूल करती है।

यूपी ने एक दिन में पकड़े 105 वाहन
सोमवार मंगलवार की दरम्यानी रात उदी के पास इटावा प्रशासन द्वारा लगाए चेकिंग प्वाइंट में भिंड की ओर से गए रेत, गिट्टी से 105 ट्रक, डंपरों को पकड़ा गया। बढ़पुरा थाना प्रभारी राजाराम के अनुसार इन सभी वाहनों के टायर पंचर कर रखवा दिए गए हैं। साथ ही इन पर परिवहन विभाग द्वारा 41 लाख का जुर्माना लगाया गया है। इसी प्रकार से खनिज विभाग ने 60 लाख और सेल टैक्स ने 25 हजार रुपए का जुर्माना किया है। इससे पहले 20 दिनों में 75 वाहन पकड़े गए हैं, जिन पर भी करीब 75 लाख रुपए का जुर्माना लगाया गया है।
जिले में चेकिंग हो तो राजस्व का लाभ
पड़ोसी राज्य के इटावा जिले में हो रही खनिज वाहनों की सघन जांच यदि अपने जिला भिंड में शुरू हो तो प्रदेश सरकार को करोड़ों रुपए के राजस्व का लाभ हो सकता है। साथ ही इसका एक फायदा यह होगा कि भिंड इटावा रोड पर बरही के पास हो रहे ट्रैफिक जाम से भी निजात मिल सकती है। बताया जा रहा है इटावा एसडीएम सिद्धार्थ सिंह ने भी भिंड जिला प्रशासन को खनिज वाहनों की सघन जांच शुरू कराने की बात कही है। अब यह देखना है कि भिंड प्रशासन कब स्थायी चेकिंग शुरू कराता है।

चेकिंग जारी रखने यूपी ने किया रूट डायवर्ट
इधर इटावा जिले के उदी में खनिज परिवहन करने वाले वाहनों की सघन जांच के कारण हाईवे पर हो रही ट्रैफिक जाम की स्थिति को लेकर इटावा प्रशासन ने दूसरा रास्ता अख्तियार किया है। इसके लिए मंगलवार रात से इटावा की ओर से भिंड जाने भारी वाहनों का चकननगर से हनुमंतपुरा, छूछरी होते हुए फूप भेजा जा रहा है।

अब स्थायी प्वाइंट लगाने के लिए निर्देश देंगे
^बिना राॅयल्टी खनिज परिवहन करने वालों और ओवरलोडिंग रोकने के लिए लगातार चेकिंग की जाती है। फिर भी स्थाई प्वाइंट लगाकर चेकिंग की बात है तो इस संबंध में अफसरों को निर्देश देकर कार्रवाई की जाएगी।
डॉ. वीरेंद्र सिंह रावत, कलेक्टर, भिंड

खबरें और भी हैं...