पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

जेल में कैदी की मौत:बेटा बोला-दो दिन पहले ही संतरी को 3 हजार रु. दिए थे, फिर भी इलाज में की लापरवाही

भिंड2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक फोटो - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक फोटो

हत्या के अपराध में जिला जेल में बंद कैदी विजय गिरी की शनिवार-रविवार की दरमियानी रात जेल में मौत हो गई। कोतवाली पुलिस ने मृतक कैदी का पीएम कराने के बाद प्रकरण जांच में लिया है। मृतक के बेटे मोहनगिरी का आरोप है कि रुपए देने के बाद भी जेल प्रशासन ने उसके पिता का इलाज नहीं कराया।

जानकारी के मुताबिक, जिला जेल के कैदी विजय गिरी निवासी भेलाकलां की शनिवार की रात 10 बजे के बाद तबियत बिगड़ी। उसे पांच दिन से बुखार आ रहा था। विजय गिरी से संतरी से चेकअप कराने के लिए कहा लेकिन किसी ने उसकी बात को रात होने के कारण गंभीरता से नहीं लिया।

विजयगिरी की ऑक्सीजन लेवल डाउन होने व प्लेटलेट कम होने के कारण उसने रात 11.30 बजे अंतिम सांस ले ली। कैदी की मौत के बाद जेल स्टाफ उसे इलाज का नाटक करने के लिए जिला अस्पताल लेकर पहुंचा लेकिन डॉक्टर ने उसे मृत घोषित कर दिया । रविवार को पीएम के बाद मृतक कैदी का शव उसके परिजन को अंतिम संस्कार के लिए सौंप दिया गया। भेलाकलां में विजयगिरी की अंत्येष्टि की गई।

हत्या के आरोप में किया गया था गिरफ्तार
4 दिसंबर 2017 को बानमोर में सरला बाई व उसके परिजन की हत्या के अपराध में पुलिस ने पीड़ित पक्ष की शिकायत पर भेलाकलां निवासी विजयगिरी को भी 302 का आरोपी बना लिया था। जबकि उसके बेटे मोहनगिरी का कहना है कि उसके पिता हत्या में शामिल नहीं थे। दो साल की फरारी के बाद बानमोर पुलिस ने पिता को 19 जनवरी को घर से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया।

जेल में पिता का स्वास्थ्य खराब चल रहा था इसलिए 27 नवंबर की मुलाकात के दिन वह पिता के इलाज के लिए 3000 रुपए जेल प्रहरी राजीव दंडौतिया को देकर आया था लेकिन प्रहरी उक्त रकम जेलर तक नहीं पहुंचाई जिससे उसके पिता को इलाज नहीं मिल सका और जेल स्टाफ की लापरवाही से उनकी जान चली गई।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यस्तता के बावजूद आप अपने घर परिवार की खुशियों के लिए भी समय निकालेंगे। घर की देखरेख से संबंधित कुछ गतिविधियां होंगी। इस समय अपनी कार्य क्षमता पर पूर्ण विश्वास रखकर अपनी योजनाओं को कार्य रूप...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser