पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

मनमानी:गोहद से सूरत का किराया था 600 रुपए, अब कर दिया दोगुना, ऑपरेटर बाेले- अभी टैक्स माफी की सिर्फ घोषणा

भिंड11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
भिंड से सूरत जा रही बस में बैठे अधिकांश यात्री बिना मास्क के बैठे हुए। सोशल डिस्टेंस का भी नहीं रखा जा रहा ध्यान।
  • भिंड ग्वालियर रोड पर दौड़ती थीं 70 से अधिक बसें, अभी 25 से 30 का हो रहा संचालन, वसूल रहे मनमाना किराया
  • बस ऑपरेटर्स का टैक्स माफ करने की सरकार कर चुकी है घोषणा

अनलॉक-4 में भले ही यात्री बसों को क्षमता के अनुसार परिवहन करने की सुविधा मिल गई हो। लेकिन छोटे रूट पर जहां बस ऑपरेटर को सवारियां नहीं मिल रही है। वहीं लंबे रूट पर बस ऑपरेटर यात्रियों से दोगुना किराया वसूल रहे हैं। बावजूद इसके वे बस न तो सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करा रहे हैं और न ही संक्रमण की रोकथाम के लिए अन्य इंतजाम कर रहे हैं।

दरअसल लॉकडाउन खुलने के बाद जिस तरह से कोरोना संक्रमण के मरीज बढ़ रहे हैं उसे लेकर भास्कर ने यात्री परिवहन वाहनों पर पड़ताल की, जिसमें सामने आया कि भले ही अनलॉक-4 में भले ही सरकार ने बस ऑपरेटर को क्षमता के अनुसार सवारियां ले जाने की अनुमति दे दी हो। लेकिन इससे यात्रियों को कोई राहत नहीं मिली है। हालात यह है कि भिंड से दिल्ली, अहमदाबाद, सूरत जैसे लंबे रूट पर बस ऑपरेटर यात्रियों से दोगुना किराया वसूल रहे हैं। बावजूद इसके बस में सोशल डिस्टेंसिंग का कोई पालन नहीं हो रहा है। गोहद से सूरत का किराया कोरोना काल से पहले मात्र 600 रुपए प्रति सवारी था। लेकिन अब 1200 रुपए वसूला जा रहा है। इसके बाद भी बस में कोरोना संक्रमण रोकने के कोई इंतजाम नहीं किए जा रहे हैं।

छोटे रूट पर नहीं मिल रहे यात्री
मंगलवार दोपहर करीब डेढ़ बजे दैनिक भास्कर की टीम भिंड बस स्टैंड पर पहुंची। यहां भिंड से ग्वालियर, मुरैना, इटावा को जाने वाली बसों को यात्री नहीं मिल रहे हैं। पहले भिंड से ग्वालियर के लिए हर पांच मिनट में एक बस रवाना होती थी। जबकि मंगलवार को 30 मिनट बाद भी एक बस पूरी क्षमता के अनुसार सवारियां लेकर रवाना नहीं हो पा रही थी। हालांकि इसी के चलते बस ऑपरेटर किराए में 10 से 15 रुपए से ज्यादा की वृद्धि नहीं कर पाए हैं।

बिना मास्क के कर रहे यात्रा
छोटे रूट हो या लंबे रूट इन दोनों ही बसों में सफर करने वाली सवारियों में कोरोना का भय कतई नजर नहीं आ रहा रहा है । भास्कर टीम ने जब दोपहर 2.30 बजे भिंड ग्वालियर बस का नजारा देखा तो उसमें 70 प्रतिशत यात्री बिना मास्क के बैठे हुए थे। वहीं दोपहर तीन बजे गोहद चौराहा पर गोहद से सूरत को रवाना होने वाली बस में भी यही नजारा था। यानि बस में सफर करने वाले यात्रियों में कोरोना का भय खत्म हो चुका है।

ऑपरेटर बोले- खर्च भी नहीं निकल रहा
बस ऑपरेटर यूनियन के जसवीर सिंह की माने तो कोरोना काल में सबसे ज्यादा घाटा बस ऑपरेटर को उठाना पड़ा है। लॉकडाउन में उनकी गाडि़या खड़ी रहने के बाद भी सरकार ने टैक्स माफ नहीं किया है, सिर्फ कोरी घोषणा की है। ऐसे में 60 प्रतिशत गाड़ियां अभी भी खड़ी हुई है। सरकार की शर्तों के चलते जो गाड़ियां वे चला रहे हैं उनमें भी उनका डीजल और स्टाफ का खर्चा नहीं निकल रहा है। मजबूरी में बसों को चलाना पड़ रहा है।

मजबूरी में देना पड़ रहा दोगुना किराया
मुझे सूरत जाना है। पहले सूरत का किराया सेंवढ़ा से 650 रुपए लगता था । लेकिन इस बार 1400 रुपए लिए हैं। अब मजबूरी है इसलिए जो किराया लग रहा है, इसमें ही जा रहे हैं। - रमा, सेंवढ़ा

पहले 650 रुपए में पहुंच जाते थे सूरत
मैं सूरत जा रहा हूं। भिंड से सूरत का किराया इस बार 1300 रुपए लिया है। जबकि पहले तो इससे आधा था। अब कोरोना के चलते जो भी किराया लग रहा है उसमें जाने की मजबूरी है। - बृजेश, भिंड

ज्यादा किराया लेने वालों पर कार्रवाई करेंगे
बस ऑपरेटर के टैक्स माफी को लेकर सरकार ने घोषणा कर दी है। यदि यात्रियों से ज्यादा किराया वसूला जा रहा है तो इस संबंध में जांच कराकर कार्रवाई की जाएगी।
- स्वाति पाठक, डीटीओ, भिंड

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- समय की गति आपके पक्ष में हैं। आपकी मेहनत और आत्मविश्वास की वजह से सफलता आपके नजदीक रहेगी। सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा तथा आपका उदारवादी रुख आपके लिए सम्मान दायक रहेगा। कोई बड़ा निवेश भी करने के लिए...

और पढ़ें