पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

वारदात:मारपीट की रिपोर्ट लिखाई तो कुल्हाड़ियों और डंडों से बेरहमी से पीटकर की युवक की हत्या

भिंडएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गोहद पुलिस थाना में रिपोर्ट दर्ज कराते मृतक के परिजन।
  • गोहद क्षेत्र के हनुमंतपुरा की घटना, 11 लोगों ने मिलकर किया हमला, बचाने आए 2 लोग घायल

गोहद थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले हनुमंतपुरा में गुरुवार की सुबह करीब 8.30 बजे 10 से ज्यादा लोगों ने एक युवक को घेरकर सिर्फ इसलिए बेरहमी से पीटकर हत्या कर दी। क्योंकि पांच दिन पहले भी उन्होंने जब उसके साथ मारपीट की थी तो वह गोहद थाना में रिपोर्ट दर्ज करा आए थे। गुरुवार को हुई इस घटना में युवक को बचाने आए परिवार के दो ओर लोगों को आरोपियों ने कुल्हाड़ी से हमला कर घायल कर दिया। पुलिस इस मामले में 11 नामजद लोगों के खिलाफ अपराध पंजीबद्ध कर दिया है।

हनुमंतपुरा निवासी रामवीर सिंह (28) पुत्र परशुराम सिंह ने गोहद थाना पुलिस को बताया कि गुरुवार की सुबह 8.30 बजे उनके बड़े भाई गजेंद्र सिंह (32) गोहद से सामान लेकर गांव लौट रहे थे। वे गांव में घर के पास रोड पर आ ही गए थे कि तभी गांव के वीरबल गोले, अकबर गोले, बादशाह गोले, सुरेंद्र पुत्र राजाराम, जीतू पुत्र मुन्नालाल, भारत पुत्र रबादीलाल, मुन्नालाल पुत्र रबादीलाल, धर्मेंद्र पुत्र नरोत्तम, सुरेंद्र सिंह पुत्र बाबू सिंह, रामअवतार पुत्र गोपीराम एवं वृंदावन का लड़का अजब ने गजेंद्र को घेर लिया और पुराने विवाद को लेकर गालियां देने लगे। जब गजेंद्र ने गालियां देने से रोका तो सभी एक राय होकर उन पर कुल्हाड़ी, डंडे से हमला बोल दिया।

गजेंद्र के चिल्लाने की आवाजें सुनकर रामवीर, होतम सिंह, ओमवती बाई, जंडेल सिंह उन्हें बचाने के लिए दौड़े तो आरोपियों ने कुल्हाड़ियों से हमला करते हुए होतम सिंह और ओमवती को भी घायल कर दिया। इसके बाद वे लोग भाग गए। वहीं रामवीर और जंडेल सिंह ने घायल गजेंद्र, होतम सिंह और ओमवती को लेकर गोहद अस्पताल आए। जहां गजेंद्र की हालत गंभीर होने के चलते उन्हें उपचार के लिए ग्वालियर रैफर कर दिया। वहां गजेंद्र ने उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। जबकि अन्य दो घायलों का उपचार चल रहा है। सूचना मिलने पर पुलिस मौके पर पहुंची और मृतक के भाई रामवीर की फरियाद पर 11 नामजद आरोपियों के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज कर लिया है।

5 दिन पहले भी पीटा था
मृतक के भाई रामवीर के अनुसार आरोपियों ने पांच दिन पहले 20 सितंबर को भी उनके भाई फिरंगी के साथ मारपीट कर दी थी, जिसकी रिपोर्ट उन्होंने गोहद थाना में दर्ज कराई थी। इसी बात से गुस्सा कर गुरुवार की सुबह उन्हें उनके भाई गजेंद्र को घेरकर उसकी हत्या कर दी। रामवीर का आरोप है कि बीट प्रभारी प्रधान आरक्षक भानुप्रताप सिंह यदि उसी दिन ठीक से कार्रवाई कर देते तो आज उनके भाई की जान बच जाती। वहीं पुलिस के मुताबिक मृतक और आरोपी पक्ष के बीच वर्ष 2015 में रेप के किसी केस को लेकर विवाद चल रहा है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले कुछ समय से आप अपनी आंतरिक ऊर्जा को पहचानने के लिए जो प्रयास कर रहे हैं, उसकी वजह से आपके व्यक्तित्व व स्वभाव में सकारात्मक परिवर्तन आएंगे। दूसरों के दुख-दर्द व तकलीफ में उनकी सहायता के ...

और पढ़ें