सैंपल लेने का समय किया सीमित:मार्च में 1669 सैंपल में निकले 16 संक्रमित, अप्रैल में 2261 सैंपल में 389 संक्रमित, अब सैंपल सीमित

डबरा6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अस्पताल में पंजीयन करते हुये स्वास्थ्य विभाग की टीम। यहां रोजाना सैकड़ों मरीजों का आना जारी है। - Dainik Bhaskar
अस्पताल में पंजीयन करते हुये स्वास्थ्य विभाग की टीम। यहां रोजाना सैकड़ों मरीजों का आना जारी है।
  • वापस जा रहे सैंपल देने आ रहे मरीज

अंचल में निरतंर संक्रमितों की संख्या में बढ़ोत्तरी हो रही है। मार्च में जहां संक्रमितों की दर 2 प्रतिशत थी, वहीं अप्रैल में संक्रमण दर 15 प्रतिशत हो गई। निरंतर बढ़ रही संक्रमितों की संख्या के कारण अब जिला प्रशासन के निर्देश पर जांच के लिए लिए जा रहे सैंपलों की संख्या सीमित कर अधिकतम 100 करने के निर्देश दिए हैं। जिसके चलते जांच के अभाव में खुले में संक्रमित घूमकर संक्रमण को और बढ़ा सकते हैं। मार्च माह में सिविल अस्पताल में 1669 सैंपल लिए गए थे, जिनमें से महज 16 संक्रमित निकले थे। लेकिन अप्रैल माह में 27 अप्रैल तक 2661 सैंपल लिए जा चुके हैं, जिनमें से 389 संक्रमित निकले हैं। अभी तक प्रतिदिन अधिकतम 150 सैंपल लिए जा रहे थे। इलाज में आ रही परेशानियों के चलते अब प्रतिदिन 100 तक ही सैंपल लेने के निर्देश दिए हैं। जिससे समय पर जांच पर जांच न होने के चलते अब संक्रमितों की हालत खराब हो सकती है।

जांच के लिए दोपहर 1 बजे तक ही लिए जा रहे अस्पताल में आने वालों के सैंपल

सीमित संख्या में सैंपल लेने के निर्देश मिलते ही सिविल अस्पताल में महज 1 बजे तक ही सैंपल लिए जा रहे हैं। जिसके चलते कई बार सैंपल देने आ रहे मरीजों एवं सैंपल लेने बैठी टैक्नीशियन टीम के बीच विवाद भी हो रहे हैं। टेक्नीशियन टीम द्वारा दोपहर 1 बजे तक सैंपल लेने के पीछे तर्क दिया जा रहा है। सैंपल जांच के लिए ग्वालियर भेजे जाते हैं। यदि वहां सैंपल देरी से पहुंचते हैं, तो ज्यादा लोड होने की वजह से जीआरएमसी से सैंपल लौटा दिए जाते हैं।

उनका कहना है कि मंगलवार को कुछ ही देरी से सैंपल पहुंचने पर 137 सैंपलों को लौटा दिया गया था। इसलिए सैंपल खराब न हो जाए इसलिए 1 बजे तक ही सैंपल लिए जा रहे हैं। अभी महज सिविल अस्पताल में सैंपल लिए जा रहे हैं । जो कि महज शहरी क्षेत्र के ही हैं। ग्रामीण अंचल में किसी प्रकार की सैंपलिंग नहीं की जा रही है, यदि ग्रामीण अंचल में भी सैंपलिंग बढ़ा दी जाए तो काफी संख्या में संक्रमित निकल कर सामने आ सकते हैं। अब इस समय सहालग चल रहा है।

इस समय सहालग के चलते ग्रामीण अंचल से ज्यादा भीड़ खरीददारी करने शहर में आ रही है। जिससे संक्रमण फैलने का खतरा बना हुआ है। हालांकि अभी संक्रमण का खतरा कम नहीं हुआ है फिर भी सावधानी जरूरी है।

खबरें और भी हैं...