पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रशासन की लापरवाही:बाढ़ पीड़ितों को नहीं बांट पाए आटे की बोरियां, अब वापस भेजी

भितरवार11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बाढ़ पीड़ितों के लिए आए आटे के बोरे वापस ले जाते कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
बाढ़ पीड़ितों के लिए आए आटे के बोरे वापस ले जाते कर्मचारी।
  • नगर परिषद कार्यालय में एक महीने से रखी हुई थीं 300 आटे की बोरिया

प्रशासन की लापरवाही के चलते बाढ़ पीड़ितों को आटा की बोरियों का वितरण नहीं किया गया। जिसके चलते अब एक महीने बाद इन बोरियों को वापस भेजा जा रहा है। खास बात यह है कि अभी भी कई बाढ़ पीड़ितों के पास खाने के लिए अनाज नहीं है। वहीं अधिकारियों का कहना है कि जितना बांटा जाना था उतना बांट दिया गया है।

दरअसल क्षेत्र में विगत माह नदियों में आई बाढ़ के चलते कई गांव डूब क्षेत्र में आ गए थे। जिसकी वजह से लोगों के घर भी क्षतिग्रस्त हो गए और खाने पीने का सामान भी नहीं बचा। इसी के चलते शासन द्वारा बाढ़ पीड़ितों के लिए आटे की बोरियां भेजी गई थीं। नगर परिषद कार्यालय में भी विगत एक माह से आटे की 300 बोरियां रखी हुई थीं। लेकिन इन बोरियों को जरूरतमंद बाढ़ पीड़ितों में नहीं बांट कर अब वापस भेजा जा रहा है। जबकि क्षेत्र में अभी भी कई ऐसे बाढ़ पीड़ित लोग हैं जिनके पास खाने-पीने के लिए राशन नहीं बचा है। जिसके चलते वह अधिकारियों से बार-बार राशन दिलाए जाने की मांग भी कर चुके हैं। लेकिन अफसरों की अनदेखी के चलते बांटने के लिए आए इस आटे को 1 महीने से नगर परिषद कार्यालय में ही रखा गया।

बांटने के बाद जो आटा बचा है उसे वापस भेज रहे हैं
इलाके में जितने बाढ़ प्रभावित लोग थे उन्हें आटे की बोरियों का वितरण किया जा चुका है। जो बोरियां बच गई हैं उन्हें वापस भेजा जा रहा है।
श्यामू श्रीवास्तव , तहसीलदार, भितरवार

खबरें और भी हैं...