बीएसएफ में महिला सशक्तिकरण विषय पर सेमिनार:गौतम ने कहा- ज्यादातर आपराधिक घटनाएं नशे की वजह से होती हैं, इससे बचें और दूसरों को बचाएं

डबराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बीएसएफ में महिला सशक्तिकरण विषय पर सेमीनार में मौजूद महिला जवान। - Dainik Bhaskar
बीएसएफ में महिला सशक्तिकरण विषय पर सेमीनार में मौजूद महिला जवान।

नशा व्यक्ति को शारीरिक, आर्थिक तथा मानसिक रूप से खत्म कर देता है। इसलिए हम सभी को नशे से दूर रहना चाहिए। अधिकतर अपराधिक घटनाएं नशे की वजह से होती हैं जिसका शिकार महिलाएं भी होती हैं यह बात हरिओम गौतम ने कहीं। रमन शिक्षा समिति द्वारा मंगलवार को बीएसएफ अकादमी टेकनपुर में महिला प्रशिक्षणार्थियों के लिए महिला सशक्तिकरण विषय पर सेमीनार का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम में 200 से अधिक प्रशिक्षण प्राप्त कर रही महिलाओं ने भाग लिया। इस दौरान वक्ता के रूप में मौजूद डॉ. मंदाकिनी शर्मा ने कहा कि नारी, भारतीय संदर्भ में शक्ति का पर्याय है, वो शक्ति स्वरूपा है इसलिये समाज, परिवार और देश की रक्षा जैसे दायित्व बहुत सरलता के साथ निभा पा रही है। डॉ. करुणा सक्सेना ने कहा कि जब हम विद्यालयों से बालिकाओं के समूह प्रवेश करते तथा निकलते हुए देखते हैं।

जब हम कार्यालयों में बराबरी से महिलाओं को काम करते हुए, राजनीति में एक महिला द्वारा देश-समाज के नेतृत्व को स्वीकार करते हैं और आर्थिक रूप से सशक्त आत्मनिर्भर स्त्री को उसकी पहचान बनाते हुए सराहते है, तब हमें यह स्वीकार करना ही पड़ता है कि अब महिलाओं के लिए सामाजिक परिवेश में परिवर्तन आने लगा है।

सीमा जैन ने कहा भारतीय क्रांति का इतिहास सशक्त नारी के उल्लेख से भरा पड़ा है। कार्यक्रम के अंत में बीएसएफ कमाडेंट विपिन पंथारी ने अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट किए कार्यक्रम में सहायक कमांडर मनदेव सिंह भुल्लर विशेष रूप से उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...