पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

धान खरीदी में घोटाला:किसानों के 18 लाख हड़पने वाले हरसी सोसायटी प्रबंधक का मकान तोड़ने पहुंचा अमला, अभद्रता की तो गिरफ्तार

भितरवार5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • निलंबित प्रबंधक का एक प्लॉट व तीन बीघा कृषि भूमि अपेक्स बैंक ने की बंधक

भितरवार नगर के वार्ड क्रमांक 11 में सरकारी जमीन पर बने हरसी सहकारी समिति के निलंबित प्रबंधक के मकान को तोड़ने के लिए सोमवार की रात प्रशासनिक टीम मौके पर पहुंची। मकान तोड़ने को लेकर समिति प्रबंधक और अधिकारियों के बीच बहस हुई और प्रबंधक ने टीम से अभद्रता की।

इसके चलते उसे गिरफ्तार कर पुलिस थाने भिजवा दिया गया। वहीं उसके परिजन द्वारा रुपए जमा कराए जाने के लिए पांच दिन की मोहलत दी गई है। मंगलवार को प्रबंधक की पत्नी के नाम दर्ज एक प्लॉट और तीन बीघा कृषि भूमि को अपेक्स बैंक ने बंधक कर लिया। वहीं गोहिंदा साेसायटी प्रबंधक की प्राॅपर्टी की भी खोजबीन की गई।

हरसी सहकारी संस्था पर 11 किसानों के 18 लाख रुपए बकाया हैं। इसके चलते कलेक्टर कौशलेंद्र विक्रम सिंह ने सोसायटी प्रबंधक जगदीश यादव की निजी भूमि का अधिग्रहण कर अपेक्स बैंक के नाम करने के निर्देश दिए थे।

रात में पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे तहसीलदार

सोमवार की रात तहसीलदार श्यामू श्रीवास्तव के नेतृत्व में राजस्व विभाग की टीम, नगर परिषद का अमला और पुलिस बल के साथ जगदीश यादव के सरकारी जमीन पर बने मकान को तोड़ने के लिए पहुंचा। टीम के पहुंचते ही जगदीश ने हंगामा करते हुए टीम के साथ अभद्रता की। इसके चलते उसे गिरफ्तार कर धारा 151 के तहत मामला दर्ज किया गया।

परिजन बोले- जमा करा देंगे पैसा, मोहलत दीजिए

उसके परिजन ने 18 लाख रुपए जमा कराने के लिए पांच दिन की मोहलत मांगी। इसके चलते तहसीलदार ने मोहलत दे दी, साथ ही यह हिदायत भी दी कि यदि रुपए समय सीमा में जमा नहीं कराए ताे घर से बेदखली की कार्रवाई की जाएगी। इसके बाद मंगलवार को जगदीश की पत्नी रजनी यादव के नाम दर्ज 825 वर्गफीट का एक प्लॉट और मॉडल स्कूल रोड स्थित तीन बीघा कृषि भूमि को अपेक्स बैंक को दी गई। बैंक द्वारा बंधक की कार्रवाई की गई। रुपए जमा नहीं कराए जाने पर इस प्लॉट व जमीन को बेचकर किसानों को रुपया दिया जाएगा।

दाे साल पहले किसानाें से उपज खरीदी लेकिन हरसी प्रबंधक ने हेराफेरी कर हड़प लिए 18 लाख रुपए

दो साल पहले प्राथमिक साख सहकारी समिति हरसी के प्रबंधक जगदीश यादव ने चीनौर में कांटा लगाया। यहां किसानों से उपज खरीदी। इनमें से 11 किसानों के 18 लाख रुपए हेराफेरी कर निकाल लिए लेकिन किसानों को नहीं दिए। किसानों की शिकायत पर जब जांच की गई तो मामला सही पाया गया था। इसके चलते जगदीश और कांटे पर ऑपरेटर रहे उसके पुत्र राहुल सहित दो अन्य पर मामला दर्ज किया गया था।

अमानक धान खरीदी: डबरा एवं भितरवार अंचल में सहकारी समितियों द्वारा इस वर्ष धान की खरीदी की गई। लेकिन इनमें से अधिकांश सोसायटियों पर अमानक धान खरीदी गई। यह धान व्यापारियों द्वारा उत्तर प्रदेश से लाकर तुलवाई गई थी। दरअसल उत्तर प्रदेश में धान 1200 रुपए प्रति क्विंटल के हिसाब से मिल जाती है। जोकि मध्य प्रदेश में सहकारी समितियों के कांटों पर 1800 ₹68 में खरीदी जाती है।

गोहिंदा: क्षेत्र में धान की जो किस्म होती ही नहीं, वह वेयर हाउस में कर दी जमा

धान की जो किस्म डबरा व भितरवार क्षेत्र में होती ही नहीं है, वह अमानक धान सहकारी संस्था गोहिंदा के प्रबंधक मदन तिवारी द्वारा गड़बड़ी करते हुए वेयर हाउस में जमा करा दी गई। अधिकारियों ने जब वेयर हाउस में रखी गई धान की वैरायटी चेक की तो वह अलग ही किस्म की निकली।

इसके चलते 2 हजार क्विंटल खराब धान जो कि कम भाव में उत्तर प्रदेश से लाकर यहां जमा कराई गई थी, उसे रिजेक्ट कर दिया गया। इसी के चलते कलेक्टर ने मदन तिवारी की निजी जमीन का अधिग्रहण शासन हित में करने के निर्देश दिए थे। मंगलवार को स्थानीय प्रशासन द्वारा समिति प्रबंधक की शहर व गांव में स्थित कृषि भूमि सहित अन्य प्रॉपर्टी के बारे में अधिग्रहण करने के लिए जानकारी जुटाई गई। जिसके बाद जमीन अधिग्रहण की जाएगी।

तिवारी पर धोखाधड़ी के कई मामले दर्ज, फिर भी जुगाड़ से लिया कांटा

ज्यादा कमाई के लालच में दूसरे प्रदेश से कम भाव में 2 हजार क्विंटल अमानक धान जो कि घटिया क्वालिटी की थी उसे लाकर सोसायटी के खाते में जमा करने वाले गोहिंदा समिति प्रबंधक मदन तिवारी का यह पहला कारनामा नहीं है। इससे पहले भी गोहिंदा सोसायटी के प्रबंधक द्वारा कई बार ऐसा घोटाला किया जा चुका है।

इसके चलते भितरवार पुलिस थाने में दो तथा ग्वालियर पुलिस थाने में इसके खिलाफ एक मामला पहले से दर्ज है। उसके द्वारा कई बार धोखाधड़ी करने के बाद भी जुगाड़ का ही तरीका अपनाया गया है कि इस साल फिर से खाद्य विभाग के अधिकारियों द्वारा मदन तिवारी को कांटा लगाने की अनुमति दी गई। और उसने फिर से गड़बड़ी की। यह गड़बड़ी पकड़ में आ गई जिसके चलते यह कार्रवाई की गई है।

किसानों के रुपए नहीं दिए तो बेदखली की कार्रवाई करेंगे

जगदीश यादव का मकान शासकीय भूमि पर बना हुआ है, जिसे तोड़ने के लिए अमले के साथ गए थे। उसने अभद्रता की, जिसके चलते उसे गिरफ्तार किया गया था। परिजन द्वारा पांच दिन का समय मांगा गया है। यदि समय पर रुपया नहीं दिया जाता है बेदखली की कार्रवाई की जाएगी।

- श्यामू श्रीवास्तव, तहसीलदार, भितरवार

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज कई प्रकार की गतिविधियां में व्यस्तता रहेगी। साथ ही सामाजिक दायरा भी बढ़ेगा। आप किसी विशेष प्रयोजन को हासिल करने में समर्थ रहेंगे। तथा लोग आपकी योग्यता के कायल हो जाएंगे। कोई रुकी हुई पेमेंट...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser