विद्युत समस्या:हर सप्ताह मेंटेनेंस के नाम पर कटौती, फिर भी फॉल्ट, दिन में कई बार गुल हो रही बिजली

डबरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पिछोर तिराहा क्षेत्र में रात के समय फॉल्ट दुरुस्त करते बिजली कंपनी कर्मचारी। - Dainik Bhaskar
पिछोर तिराहा क्षेत्र में रात के समय फॉल्ट दुरुस्त करते बिजली कंपनी कर्मचारी।
  • मेंटेनेंस पर लाखों खर्च होने के बाद भी दिन में 4 से 5 बार बंद हो रही सप्लाई
  • दीपावली का त्योहार निकट है लेकिन बिजली बार-बार हो रही गुल

बिजली कंपनी द्वारा प्रतिदिन मेंटेनेंस का कार्य किया जा रहा है। मेंटेनेंस में लाखों रुपए खर्च हो रहे हैं। लेकिन उसके बाद भी दिन में कई बार बिजली गुल हो रही है। जिससे लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। अघोषित रुप से हो रही इस बिजली कटौती को लेकर बिजली कंपनी के अधिकारियों द्वारा चोरी और अवैध रुप से बिजली जलाने पर लोड बढ़ना बताया जा रहा है।

दरअसल शहर में बिजली कंपनी द्वारा सितंबर माह में एक दो दिन छोड़कर ट्रांसफार्मर, सब स्टेशन और फीडरों पर मेंटेनेेंच के लिए बिजली की कटौती की जा रही है। सुबह से लेकर दिन में मेंटेनेंस के नाम पर यह कटौती करीब तीन से चार घंटे तक की जा रही है। लेकिन मेंटेनेंस के बाद ही उन्हीं फीडरों से दिन में कई बार बिजली बंद की जा रही है।

जिससे लोग अब त्योहार के सीजन में भी परेशान होने लगे हैं। सबसे ज्यादा परेशानियां बुर्जुग क्षेत्र ग्वालियर रोड क्षेत्र और पिछोर रोड क्षेत्र के लोगों को झेलनी पड़ रही है। हालांकि बिजली गुल होने पर बिजली कंपनी द्वारा यहां तार खींचने और फॉल्ट होने की बात कही जा रही है। लेकिन लोगों का कहना है कि जब लाइन और सब स्टेशनों का मेंटेनेंस किया जा रहा है तो फिर क्यों फॉल्ट हो रहे हैं।

लाइनों में फॉल्ट होने पर घंटों तक चली जाती है बिजली

मेंटनेंस के लिए चार से पांच घंटे की कटौती की ताकि बाद में समस्या नहीं आए। इसके बावजूद भी फॉल्ट हो रहा है और फॉल्ट होने पर ही घंटों तक बिजली बंद रहती है। विगत 1 सप्ताह में करीब चार से पांच घंटे तक कई क्षेत्रों में बिजली ठप रही। गुरुवार को भी पिछोर तिराहा क्षेत्र में बिजली गुल रही।

इन इलाकों में दिन में कई बार बिजली कटौती से लोग हो रहे परेशान, पानी भी नहीं मिलता

बिजली की कटौती तो वैसे पूरे शहर में ही की जा रही है। लेकिन सबसे ज्यादा ब्रिजपुर, अर्रु, डबरा गांव, अयोध्या कॉलोनी, अंबेडकर कॉलोनी, जेल रोड, खेरी, हनुमानगंज डाड़ा, पुराना गाड़ी अडडा रोड, लक्ष्मी कॉलोनी, दीदार कॉलोनी, भीमनगर, रामनिवास कॉलोनी, चीनौर रोड, प्रेमनगर, विवेक विहार कॉलोनी, शिक्षक कॉलोनी आदि इलाकों में भी पिछले कई दिन से रोज लाइनें ट्रिप हो रही हैं और लोगों को 3 से 4 घंटे कटौती झेलनी पड़ रही है।

शहर में लगे पॉवर ट्रांसफार्मर की क्षमता 250 एंपीयर की है लेकिन इन पर 100-100 एंपीयर तक लोड सामान्य तौर पर सहन कर पाते हैं। इन ट्रांसफार्मर पर 150 एंपीयर तक लोड पड़ रहा है। इसलिए बिजली कंपनी को एक-एक ट्रांसफार्मर को ठंडा करने सप्लाई बंद कर रहे हैं। जिसके चलते कॉलोनियां में बत्ती गुल हो जाती है।

काॅलोनियों में डायरेक्ट तार डालकर कर रहे बिजली चोरी

बिजली कंपनी द्वारा लगातार चैकिंग और वसूली अभियान चलाया जा रहा है। इस दौरान अधिकांश क्षेत्रों में बिजली चोरी निकल कर सामने आ रही है। विगत एक माह में ही बिजली चोरी करते हुए आधा सैकड़ा से अधिक लोगों को पकड़ा जा चुका है। जिनके खिलाफ प्रकरण भी बनाए गए हैं। लेकिन अभी भी शहर के कई क्षेत्र ऐसे हैं जहां सबसे अधिक बिजली चोरी हो रही है। कॉलोनियों में लोग कटिया डालकर चोरी करते हैं।

फाॅल्ट होता है तो मेंटेनेंस के बाद सप्लाई चालू होती है

लोगों के द्वारा कटिया डालकर बिजली चोरी करने से ट्रांसफार्मरों पर कई बार लोड बढ़ जाता है जिससे फॉल्ट की समस्या आती है। ऐसे में मेंटेनेंस के बाद बिजली की सप्लाई शुरु कर दी जाती है। किसी भी तरह की अघोषित कटौती नहीं की जा रही है। मेंटेनेंस के चलते कभी-कभी सप्लाई बंद की जाती है।
पीयूष कुमार दलोदरे, एई बिजली कंपनी, डबरा

खबरें और भी हैं...