• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Dabra
  • Teams Were Formed For Dengue Survey, But The Survey Did Not Start Because The Entire Staff Of The Health Department Was Involved In Vaccination.

जागरुकता अभियान:डेंगू के सर्वे के लिए टीमें तो बनाई, पर सर्वे शुरू नहीं क्योंकि स्वास्थ्य विभाग का पूरा अमला वैक्सीनेशन में

डबरा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सिविल अस्पताल की ओपीडी में लगी मरीजों की भीड़। - Dainik Bhaskar
सिविल अस्पताल की ओपीडी में लगी मरीजों की भीड़।
  • कागजों में सर्वे की दिखाई जा रही खानापूर्ति

अंचल में वायरल फीवर के मरीज बढ़ने लगे हैं। प्रतिदिन अस्पताल की ओपीडी में वायरल फीवर के 250 से 300 मरीज आ रहे हें। इसके साथ ही दो डैंगू के मरीज भी निकल चुके हैं। लेकिन इसके बाद भी स्वास्थ्य विभाग द्वारा सर्वे और इलाज में लापरवाही बरती जा रही है। डैंगू और मलेरिया के डोर-टू-डोर सर्वे के लिए टीमें तो बनाई गई है पर सर्वे न कर महज कागजों में खाना पूर्ति की जा रही है।

दरअसल अंचल में वायरल फीवर के साथ ही मलेरिया एवं डैंगू के मरीज भी निकल कर सामने आ रहे हैं। इन बीमारियों की रोकथाम के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा एमपीडब्लयू, एएनएम, और आशा कार्यकर्ताओं की डोर-टू-डोर सर्वे के लिए टीमें बनाई गई है। लेकिन टीमे महज कागजों में कार्य कर रही है।

कारण सर्वे के लिए टीम में शामिल किए गए यह कार्यकर्ता वैक्सीनेशन का कार्य कर रहे हैं,जिसके चलते बुखार और मलेरिया, डैंगू की जांच के लिए किए जाने वाला सर्वे नहीं हो रहा है। टीमें अब सर्वे को दिखाने के लिए प्रतिदिन कागजों में खाना पूर्ति कर रहा है।

जहां डेंगू के मरीज निकले सिर्फ वहीं किया लार्वा नष्ट और दवा का छिड़काव

पूरा शहर डेंजर जोन में हैं,लेकिन स्वास्थ्य विभाग द्वारा मलेरिया एवं डैंगू की रोकथाम के लिए लार्वा नष्ट नहीं किया जा रहा है। लार्वा नष्ट करने के लिए बनाई गई टीमें महज जहां डैंगू के मरीज निकले वहीं लार्वा नष्ट करने पहुंची है। इसके साथ ही नगर पालिका द्वारा मच्छरों को मारने के लिए फोगिंग भी नहीं कराई जा रही है।

खबरें और भी हैं...