पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रधानमंत्री आवास:271 आवास के लिए 400 आवेदन, डोर टू डोर पहुंचकर आठ टीमें करेंगी भौतिक सत्यापन

भांडेर3 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आवेदन देने के बाद भी झोपड़ी में रह रहे वार्ड 14 के प्रमोद पुत्र मनोहर अहिरवार। - Dainik Bhaskar
आवेदन देने के बाद भी झोपड़ी में रह रहे वार्ड 14 के प्रमोद पुत्र मनोहर अहिरवार।
  • भौतिक सत्यापन के लिए एसडीएम ने गठित की टीमें, जांच करने के बाद होगी कार्रवाई

कच्चे झोपड़ी में रहने वाले लोगों के लिए अच्छी खबर है। ऐसे लोगों के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत नगर पंचायत द्वारा 271 आवास स्वीकृत किए गए हैं। इसमें आवेदन आमंत्रित किए गए थे, करीब 400 लोगों ने आवेदन जमा किए थे। इन आवेदनों की जांच के बाद उन्हें आवास योजना के तहत लाभ दिया जाएगा।

आवेदनों की जांच के लिए प्रत्येक हितग्राही के मकान व आर्थिक स्तर देखने के लिए एसडीएम ने टीमें गठित की है। करीब आठ टीमें इन हितग्राहियों की जांच कर पात्र अपात्र हितग्राहियों को चिन्हित करेगी। जिसके बाद इन्हें आवास योजना के तहत मकान बनाने के लिए राशि जारी की जाएगी।

बता दें कि अब तक 613 आवास स्वीकृत किए गए हैं। पहली डीपीआर 17-18 में तैयार हुई थी। जिसमें 484 आवास का लक्ष्य रखा गया था। वहीं कुछ समय पहले 400 मकानों की डीपीआर बनाई गई थी। जिसमें से 129 आवास पहले ही स्वीकृत हो चुके थे। शेष 271 आवासों के लिए फिर से प्रक्रिया शुरू हो गई है। नगर पंचायत के पास करीब 400 लोगों ने आवास के लिए आवेदन किया है। नगर पंचायत ने हितग्राहियों की सूची तैयार कर एसडीएम कार्यालय भेज दी थी। एसडीएम के निर्देश पर अब पात्र सभी हितग्राहियों के आर्थिक स्तर व आवास का भौतिक सत्यापन किया जाएगा। यदि वह प्रधानमंत्री आवास योजना के क्राइट एरिया में आते हैं, तो उन्हें पात्रता की सूची में रखा जाएगा। हालांकि 400 में से महज 271 लोगों को ही आवास योजना लाभ मिल पाएगा। फिर जो पात्र हितग्राही रह जाएंगे, उन्हें अगले चरण में इस योजना से लाभान्वित किया जाएगा।

आठ टीमें करेगी जांच

एसडीएम के निर्देश पर पात्र हितग्राहियों की जांच के लिए आठ टीमें गठित की गई है। जिसमें वार्ड क्रमांक एम व दो में शिक्षक विवेकानंद सोनी, अनिल दिनकर, वार्ड क्रमांक 3 व 4 में शिक्षक राजेंद्र वर्मा, वार्ड प्रभारी अमित एवं लक्ष्मीनारायण शर्मा, वार्ड क्रमांक 5 से 7 में शिक्षक मुकेश शर्मा, वार्ड प्रभारी अखिलेश अहिरवार, अनुराग खेमरिया, अमित श्रीवास्तव, वार्ड 8 से 10 में शिक्षक श्याम सुंदर गुप्ता, वार्ड प्रभारी माधुरी कुशवाहा, हरदास कुशवाहा, वार्ड 11 में शिक्षक महेश शर्मा, वार्ड प्रभारी राधारमण उपाध्याय, वार्ड 12-13 में शिक्षक मुकेश पार्लिया, वार्ड प्रभारी कोमल प्रजापति, रामू दुबे, वार्ड 14 में शिक्षक शिव सिंह यादव, वार्ड प्रभारी तेज सिंह अहिरवार, वार्ड 15 में शिक्षक संजीव नामदेव, वार्ड प्रभारी आकाश चौहान द्वारा हितग्राहियों के घर पहुंचकर उनका भौतिक सत्यापन किया जाएगा।

450 लोगों को जारी हुई दूसरी किस्त

2017-18 सितंबर महीने में आवास स्वीकृत होने के बाद पहली किश्त के रूप में 484 लोगों को एक लाख रुपए दिए गए। रुपए मिलने के बाद लोगों ने अपनी झोपड़ी गिराकर काम शुरू करा दिया, लेकिन वह पैसे मकान की बुनियाद व कुछ दीवारें खड़ी करने में ही खत्म हो गया। अधिकांश लोगों का यह काम एक दो महीने यानि नवंबर दिसबंर तक पूरा हो गया था। बावजूद दूसरी किश्त के लिए लोगों को लंबा इंतजार करना पड़ा। करीब छह महीने पहले बड़ी मशक्कत के बाद लगभग 450 लोगों को दूसरी मिल सकी। शेष लोगों को तब से अब तक दूसरी किश्त भी नहीं मिली है। वहीं तीसरी किश्त अभी तक जारी नहीं हुई। यानि अभी तक एक भी आवास पूरी तरह बनकर तैयार नहीं हुआ। नगर पंचायत की लेटलतीफी से गरीब परिवार के लोग जिन्होंने आवास का सपना देखा था, आज वह खुले आसमान के नीचे पॉलीथिन व टीनशेड लगाकर गुजर बसर करने के लिए मजबूर हैं।

अपात्रों के नाम काटे जाएंगे

एसडीएम के निर्देश पर पीएम आवास के हितग्राहियों का सत्यापन कराया जा रहा है। इसके लिए 8 टीमें गठित की गई है। टीम के सदस्य घर घर पहुंचकर हितग्राहियों का सत्यापन करेंगे। जो हितग्राही पात्रता की श्रेणी में नहीं आएंगे, उनके नाम काटे जाएंगे। - विजय बहादुर, सीएमओ नपं

खबरें और भी हैं...