पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

परेशानी :केबल जलने से बार बार फॉल्ट, रात में साढ़े पांच घंटे गुल रही बिजली

भांडेर15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • लोग बोले- मेंटेनेंस के नाम पर की जाती है अघोषित बिजली कटौती, नहीं रुक रही लाइन फॉल्ट होने की समस्या
Advertisement
Advertisement

उमस एवं गर्मी के बढ़ने के साथ ही विद्युत कटौती का सिलसिला भी तेज हो रहा है। दिन के अलावा रात में बिजली कब आए और कब जाए इसका कोई पता नहीं। अंधाधुंध विद्युत कटौती से सबसे अधिक परेशानी मासूम बच्चों को हो रही है। ग्रामीण अंचलों के अलावा नगर में नगरीय क्षेत्र में भी विद्युत कटौती का सिलसिला लगातार बढ़ता ही जा रहा है। दिन हो या रात विद्युत अधिकारी कब परमिट ले लें, इसका कोई पता नहीं। एक बार बिजली के जाने के बाद दोबारा से सप्लाई शुरू होने में कम से कम एक घंटे का समय जरूर लगता है। इस बीच भीषण गर्मी और उमस के चलते लोग बुरी तरह तिलमिला उठते हैं।  विद्युत कटौती का यह सिलसिला पिछले 15 दिनो से लगातार बढ़ता ही जा रहा है। सोमवार की रात को भी बिजली की आंख मिचौनी का सिलसिला जारी रहा। केबल जलने से नगर पालिका फीडर पर रात 8 बजे से रात 11 बजे तक सप्लाई बंद रही और इसके बाद रात 11.30 बजे फिर बिजली चली गई, इसके बाद रात दो बजे सप्लाई बहाल हुई।  जिससे नगर पालिका फीडर पर आने वाले मोहल्ले पोस्ट ऑफिस के पास, हनुमंतपुरा मोहल्ला, छिपैटी मोहल्ला, नगर पालिका चौराहा, विधायक काॅलोनी, चिरगांव रोड में लोग परेशान हुए। वहीं सीटोला मोहल्ला में सुल्तान खान के घर के पास केवल जलने से रात 12 बजे एक घण्टे के लिए सप्लाई बंद रही। रात के समय बिजली आपूर्ति बंद होने से सबसे अधिक परेशानी कामकाजी महिलाओं के अलावा मासूम बच्चों को होती है।

मेंटेनेंस के नाम पर की जा रही बिजली की कटौती
विद्युत अधिकारियों द्वारा अनुरक्षण के कार्य के नाम पर विद्युत कटौती की जा रही है। कभी फाल्ट तो कभी अत्यधिक लोड बताकर विद्युत आपूर्ति को दो-दो, तीन-तीन घंटे बंद रखा जाता है। जबकि नगर में आईपीडीएस के तहत 4 करोड 93 लाख की लागत से नई लाईनों व ट्रांसफार्मरों का स्ट्रेक्चर तैयार किया गया था। फिर भी लाईन फाॅल्ट होने मुक्ति नहीं मिल पा रही है। इन्वर्टर भी साथ छोड़ने लगते हैं। सबसे अधिक परेशानी उस समय होती है जब विद्युत कटौती लंबी होने से इन्वर्टर भी जवाब देने लगते हैं। जब लोग बाहर निकलकर सोने का प्रयास करते हैं लेकिन चैन की नींद भी नहीं सो पाते।

इधर... दतिया में गंदा पानी निकासी के लिए दिया आवेदन

श्री पीतांबरापुरी नागेश्वर मंदिर के पास गली नंबर 3 के रहवासियों ने मंगलवार को कलेक्टर के नाम एक आवेदन देकर गली के प्लाट में भरे गंदे पानी की निकासी के साथ बारिश के पानी की निकासी की व्यवस्था करने की मांग की। आवेदन में बताया गया कि वहां पर डॉ. त्रिपाठी के खाली प्लाटों पर वर्षों से गंदे पानी का भराव है। बारिश में यह और अधिक हो जाता है। गंदे पानी के कारण क्षेत्र में मच्छर पनपते है। जिससे गंभीर बीमारियों के फैलने का अंदेशा बना रहता है। आवेदन देने वालों में हरिहर समाधिया, राजीव त्रिपाठी, प्रवीण श्रीवास्तव, राजेन्द्र श्रीवास्तव आदि प्रमुख रूप से शामिल रहे।

Advertisement
0

आज का राशिफल

मेष
मेष|Aries

पॉजिटिव - आज का दिन पारिवारिक और आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदायी है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति का अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ निश्चय से पूरा करने की क्षमत...

और पढ़ें

Advertisement