पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कार्रवाई:इंदरगढ़ में 100 अवैध दुकानों में से सिर्फ चार पर चली जेसीबी, भांडेर में 31 दुकानों को दिया 24 घंटे का वक्त

इंदरगढ़7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
इंदरगढ़ में दुकानें तोड़ती जेसीबी मशीन। - Dainik Bhaskar
इंदरगढ़ में दुकानें तोड़ती जेसीबी मशीन।
  • इंदरगढ़ में दुकानों पर चली जेसीबी, भांडेर में आज हटेगा

जिले में चल रही अतिक्रमण हटाओ मुहिम में प्रशासन का भेदभाव देखने को मिल रहा है। दतिया, सेंवढ़ा के बाद अब इंदरगढ़ में भी प्रशासन ने गुरुवार को प्रशासन ने अतिक्रमण के नाम पर चार दुकानों पर जेसीबी चलाई। जबकि यहां एक सैकड़ा से अधिक दुकानें अतिक्रमण की जद हैं। प्रशासन का अमला सुबह पहुंचा और एक घंटे का वक्त सामान खाली करने के लिए दिया। इसके बाद जेसीबी मशीनें चलीं। करीब पांच हजार वर्गफीट जमीन को दुकानें तोड़कर मुक्त कराया। वहीं भांडेर में नगर परिषद ने 31 दुकानों को नोटिस थमा कर 24 घंटे का वक्त दिया है।

नगर परिषद, राजस्व और पुलिस विभाग गुरुवार को सुबह इंदरगढ़ के ग्वालियर रोड पर पहुंचा। यहां ग्वालियर रोड पर रामसिंह साहू, ग्वालियर चौराहा पर बहादुर सिंह यादव, अतर सिंह कुशवाहा और राजू बघेल को दुकानें खाली करने के लिए एक घंटे का समय दिया गया। दुकानदारों ने आनन फानन में दुकानों को खाली किया। इसके बाद जेसीबी मशीनों से दुकानों को तोड़ा गया। नगर में यह चर्चा जोरों पर रही कि प्रशासन केवल कुछ लोगों को ही अतिक्रमण मानकर तोड़ रहा है जबकि ग्वालियर रोड पर एक सैकड़ा से अधिक दुकानें हैं जो अतिक्रमण में हैं।

एक दुकानदार ने एक पत्र भी प्रशासनिक अफसरों को दिखाया और कहा कि हाईकोर्ट के आदेश हैं कि इन सभी दुकानों को तोड़ना है लेकिन प्रशासन ने उसे अनदेखा करते हुए दूसरी तरफ चले गए। वहीं भांडेर नगर में सड़क किनारे स्थित 31 दुकानों को चिन्हित कर उन्हें नोटिस दिया गया। नोटिस में 24 घंटे का समय दुकानें खाली करने के लिए दिया गया। शुक्रवार को सुबह प्रशासन इन दुकानों की तुड़ाई करेगा।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आपकी प्रतिभा और व्यक्तित्व खुलकर लोगों के सामने आएंगे और आप अपने कार्यों को बेहतरीन तरीके से संपन्न करेंगे। आपके विरोधी आपके समक्ष टिक नहीं पाएंगे। समाज में भी मान-सम्मान बना रहेगा। नेग...

    और पढ़ें