श्रीमदभागवत कथा:50 हजार से अधिक श्रद्धालुओं ने किया प्रसाद ग्रहण; बड़ी संख्या में  भंडारे का प्रसाद ग्रहण करने के लिए  पहुंचे लोग

इंदरगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

शीतला माता मंदिर पर सात दिनों तक चली श्रीमदभागवत कथा के समापन पर यज्ञ, हवन और पूर्णाहुति के बाद सोमवार को विशाल भंडारे कराया गया। इस दौरान नगरीय क्षेत्र के साथ आसपास के ग्रामीण इलाकों से भी लोग बड़ी संख्या में भंडारे का प्रसाद ग्रहण करने के लिए पहुंचे। देर रात तक लोगों के आने के साथ भंडारा चलता रहा। इस दौरान भंडारे में समिति के सदस्य और नगर के गणमान्य नागरिकों ने सहयोग किया।

इससे पूर्व शीतला माता मंदिर पर चल रही श्रीमदभागवत कथा में कथावाचक धर्मध्वजाचार्य महाराज ने सात दिनों तक अजामिल उपाख्यान, ध्रुव चरित्र, नरसिंह अवतार, द्रौपदी चीरहरण, श्रीकृष्ण जन्म, राम जन्म, शिक्षा, बाल-लीलाएं, श्रीकृष्ण और रुक्मिणी विवाह के साथ श्रीकृष्ण और सुदामा की मित्रता के प्रसंग सुनाकर लोगों को भावविभोर किया। इसके बाद हवन और यज्ञ कार्यक्रम किए गए।

सोमवार की सुबह 10 बजे से कन्या भोज शुरू हुआ जो कि देर रात तक चलता रहा। भंडारे में साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखा गया भंडारे में संपूर्ण नगर इंदरगढ़, ग्राम दोहर, जोनिया, नेतुआपुरा, ररुआ जीवन, देलुआ आदि गांवों के 50 हजार से अधिक लोग शामिल हुए।

खबरें और भी हैं...