पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

अनदेखी:इंदरगढ़ कामद रोड पर गड्ढे, वाहन चालक हो रहे दुर्घटना का शिकार, नहीं हो रही सुनवाई

इंदरगढ़8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कबीर आश्रम से मुरगुवां पहुंच मार्ग तक उखड़ी पड़ी सड़क। - Dainik Bhaskar
कबीर आश्रम से मुरगुवां पहुंच मार्ग तक उखड़ी पड़ी सड़क।
  • कबीर आश्रम से मुरगुवां पहुंच मार्ग तक की हालत खराब

इंदरगढ़ कामद रोड कबीर आश्रम से मुरगुंवा पहुंच मार्ग तक की सड़क गड्ढों में तब्दील हो गई है। सड़क पर जगह-जगह गड्ढे उभर आए हैं जिससे यहां से निकलने वाले वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, गड्ढों की वजह से आए दिन दुर्घटनाएं भी हो रही है। बावजूद सड़क की मरम्मत नहीं कराई जा रही है स्थानीय लोगों ने सड़क की मरम्मत कराए जाने की मांग की है।

इंदरगढ़ से मुरगंवा पहुंच मार्ग तक लगभग 7.5 किलोमीटर की सड़क का निर्माण नवंबर 2016 में मध्यप्रदेश शासन लोक निर्माण विभाग दतिया द्वारा 339.11 लाख रुपए की लागत से कराया गया था, हालांकि उस वक्त ग्रामीणों की मांग पर सड़क का निर्माण तो करा दिया, लेकिन गुणवत्ता पर ध्यान नहीं दिया। ग्रामीणों द्वारा बताया गया कि जब यह सड़क डली थी उसके कुछ ही महीने बाद यह सड़क उखड़ना शुरू हो गई थी। सड़क का निर्माण इस प्रकार किया गया कि बरसात का पानी सड़क पर भरता है, जिससे सड़क में जगह-जगह गड्ढे हो गए हैं। वाहन चालकों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, कई बार रात के वक्त वाहन निकालते वक्त गड्ढों की वजह से दुर्घटनाएं हो चुकी है।

जिससे लोग घायल हो गए हैं, बारिश के दिनों में हालत बद से बदतर हो गए हैं। गड्ढों में जगह-जगह पानी भरा रहता है। जिससे वाहन चालकों को गड्ढों का अंदाजा तक नहीं रहता। गड्ढों की वजह से वाहन असंतुलित होकर दुर्घटनाग्रस्त हो रहे हैं, वाहन चालकों का कहना है कि सड़क की वजह से वाहनों का मेंटेनेंस बढ़ गया है। वहीं दुर्घटनाओं का अंदेशा भी बना रहता है यह सड़क आज से 2 वर्ष पूर्व से ही उखाड़ना शुरू हो गई थी। वर्तमान में हालत बद से बदतर हो गई है, जगह-जगह गड्ढे व उनमें जमा पानी की वजह से पैदल चलना भी दूभर हो गया है। यह मार्ग ग्राम वासियों को ग्राम से नगर तक जोड़ता है।

40 गांव के लोग परेशान
इस मार्ग पर ग्राम कुठोंदा दभैरा, कटापुर, महोनाजाट, अमावली, सिमथरा, बहेरा, रानीपुरा, मुरगुंवा, सोडा, बागुरधन, सूरापारा आदि 40 गांव के समस्त ग्राम वासियों के लिए यह मुख्य मार्ग है, जो ग्रामों को नगर से जोड़ता है। किसान अपनी अपनी फसलों को सोसायटी तक बेचने, यूरिया लेने के लिए, डीजल, पेट्रोल लेने के लिए एवं अन्य छोटी-बड़ी जरूरतों को पूरा करने के लिए ग्रामीण इसी मार्ग का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन रोड की हालत खराब होने से ग्रामीणों को परेशानी होती है।

खबरें और भी हैं...