समाज का अमानवीय चेहरा / सड़क पर 8 घंटे तड़पता रहा युवक, कोरोना के शक में किसी ने हाथ नहीं लगाया; मौत के बाद पहुंची एंबुलेंस

दतिया के भगुवापुरा तिराहे पर युवक 8 घंटे तड़पता रहा। दतिया के भगुवापुरा तिराहे पर युवक 8 घंटे तड़पता रहा।
समय से इलाज न मिलने पर उसकी मौत हो गई। समय से इलाज न मिलने पर उसकी मौत हो गई।
X
दतिया के भगुवापुरा तिराहे पर युवक 8 घंटे तड़पता रहा।दतिया के भगुवापुरा तिराहे पर युवक 8 घंटे तड़पता रहा।
समय से इलाज न मिलने पर उसकी मौत हो गई।समय से इलाज न मिलने पर उसकी मौत हो गई।

  • दतिया के सिलोचपुरा गांव का मामला, यहां भगुवापुरा तिराहे पर जिंदगी और मौत के बीच जंग लड़ता रहा युवक
  • युवक को सांस लेने में तकलीफ और पेट में दर्द हो रहा था, 8 घंटे तड़पने के बाद उसने दम तोड़ दिया

दैनिक भास्कर

Mar 27, 2020, 06:58 PM IST

सेंवढ़ा/दतिया. सिलोचनपुरा गांव में नाथूराम कुशवाह (35) की आठ घंटे तड़पने के बाद माैत हाे गई। कोरोना के शक में किसी ने उसे हाथ नहीं लगाया। हालांकि, लोग स्वास्थ्य विभाग को कॉल जरूर करते रहे। युवक की मौत दिल का दौरा पड़ने से हुई है।

नाथूराम मवेशी चराता था। उसकेे भाई अवधेश के पास गुरुवार तड़के फोन आया कि तुम्हारे भाई की हालत खराब है, उन्हें हम छोड़ने आ रहे हैं, तुम भगुवापुरा तिराहे आ जाओ। अवधेश साइकिल से तिराहे पर पहुंचा। यहां सुबह 6 बजे एक गाड़ी ने नाथूराम को छोड़ा। नाथूराम की हालत इतनी खराब थी कि वह साइकिल पर नहीं बैठ सका। काफी देर वाहन नहीं मिला तो ग्रामीणों ने प्रशासन को सूचना दी। सुबह 10 बजे वाहन के साथ गए आयुर्वेदिक डॉ. मुकेश प्रजापति ने तिराहे पर नाथूराम की हालत देखी तो उसे सांस लेने में तकलीफ और पेट दर्द हाे रहा था। डाॅ. प्रजापति ने इसकी सूचना सीएमएचओ डाॅ. एसएन उदयपुरिया को दी। सीएमएचओ ने 108 से अस्पताल भेजने के निर्देश दिए। चार घंटे के प्रयास के बाद दाेपहर दाे बजे एंबुलेंस पहुंची। तब तक नाथूराम की मौत हो चुकी थी।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना