पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

तीसरी लहर को रोकने प्रशासन की तैयारी:प्रशासन की टीमें हर चौराहे पर तैनात, बिना मास्क वालों से कार्रवाई कर जुर्माना वसूला

दतिया16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कार्रवाई के लिए कलेक्टर भी घूम रहे बाजार में

कोरोना महामारी की तीसरी लहर को रोकने के लिए प्रशासन ने अभी से तैयारियां शुरू कर दी हैं। खबरें आ रही हैं कि अगस्त में तीसरी लहर की शुरूआत हो सकती है और नवंबर तक इसका असर रह सकता है। इसलिए जिले में अभी से इसको कंट्रोल करने के लिए प्रशासन ने कमर कस ली है।

कलेक्टर संजय कुमार ने रोको टोको अभियान को प्रभावी बनाने के लिए न केवल टीमें गठित की गई हैं बल्कि खुद मॉनीटरिंग कर रहे हैं। ताकि टीमें सतर्क रहें और कार्रवाई करती रहें। कलेक्टर खुद बिना किसी नियत समय के बाजार में पैदल निकलते हैं और घूमकर न केवल टीमों को देखते हैं बल्कि लोगों को भी बिना मास्क और बिना सोशल डिस्टेंस के देखकर खड़े होकर जुर्माना भी वसूल करवाते हैं। अगर यही सतर्कता जारी रही तो लॉकडाउन जैसी स्थिति नहीं बनेगी।

बता दें कि कोरोना महामारी को जिले में दस्तक दिए डेढ़ साल हो गई है। कोरोना महामारी की दूसरी लहर में एक दिन में मरीजों की संख्या 269 तक पहुंच गई थी जबकि मृतकों की संख्या एक दिन में सबसे ज्यादा 12 हो गई थी। मई महीने के दूसरे पखवाड़े से मरीज घटना शुरू हुए और जून महीने के दूसरे पखवाड़े से मरीजों की संख्या एक-दो रह गई। यही नहीं एक महीने से करीब 15 दिन ऐसे भी रहे जब कोरोना मरीजों की संख्या शून्य रही। यह प्रशासनिक इच्छा शक्ति के कारण ही संभव हो सका है।

जिला प्रशासन ने शुरू से ही सख्ती जारी रखी। बिना मास्क और सोशल डिस्टेंस का पालन न करने पर लगातार जुर्माने की कार्रवाई की गई। फिर चाहे दुकानदार हो या फिर आमजन। कलेक्टर कुमार ने टीमें बनाकर कार्रवाई कराई और खुद भी कर्मचारियों के साथ बाजार में घूमकर जुर्माने की कार्रवाई कराई। जब कलेक्टर खुद सड़कों पर उतरे तो टीम में शामिल अधिकारी, कर्मचारियों ने भी सख्ती दिखाई।

खबरें और भी हैं...