पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Gwalior
  • Datiya
  • Ban On Buses Between MP And UP, Leaving Indiscriminately By Paying Money At Police Stations, Collecting Three Times The Fare From Passengers

अवैध वसूली:मप्र-उप्र के बीच बसों पर रोक, थानों-नाकों पर पैसे देकर धड़ल्ले से निकल रहीं, यात्रियों से तीन गुना किराया वसूली

दतिया6 दिन पहलेलेखक: रामू प्रजापति
  • कॉपी लिंक
उनाव थाने पर वसूली। - Dainik Bhaskar
उनाव थाने पर वसूली।
  • दतिया से झांसी जाने वाली बसों ने रूट बदला, अब चिरूला के बजाए उनाव होकर जा रहीं क्योंकि टोल प्लाजा के कैमरे में कैद होने का डर
  • बस ड्राइवर बोला- एक हजार रुपए तो थानों पर ही बांटने पड़ते हैं, एसपी बोले- अवैध वसूली करने वालों पर होगी कार्रवाई

कोरोना संक्रमण की रफ्तार थामने के लिए प्रदेश सरकार ने मप्र और उप्र की सीमा में बसों के आवागमन पर प्रतिबंध लगा दिया था। 28 अप्रैल से अंतरराज्यीय यात्री परिवहन प्रतिबंधित होने के साथ ही दतिया और झांसी के बीच यात्री बसें चलना बंद हो गई। बीच में यह प्रतिबंध बढ़ता चला गया और सात जून तक कर दिया गया। प्रतिबंध की अवधि बढ़ी तो बस संचालकों ने बसें चलाने के लिए रास्ते में पड़ने वाले थानों और नाकों पर सांठगांठ की।

दतिया से झांसी के लिए बसें टोल प्लाजा पर सीसीटीवी में रिकार्ड होने से बचने के लिए चिरूला होकर जाने के बजाए उनाव होते हुए जाने लगी। उनाव थाना और उनाव-झांसी सीमा पर बने नाके पर बस संचालक पैसे देकर धड़ल्ले से बस आगे बढ़ाते हुए निकल जाते हैं। इसका नतीजा यह हुआ कि दतिया से झांसी के बीच बस से प्रति यात्री तीस रुपए किराया लगता है लेकिन इन दिनों सौ रुपए वसूले जा रहे हैं।

बस ड्राइवर का दावा है कि थाना और नाकों पर तैनात पुलिसकर्मियों को प्रति चक्कर एक हजार रुपए देने पड़ते हैं। रविवार को दैनिक भास्कर ने बसों के अवैध संचालन पर दतिया शहर से लेकर उनाव-झांसी बॉर्डर तक स्टिंग किया। इसमें पुलिसकर्मी खुलेआम पैसा ले रहे हैं। इसका वीडियाे दैनिक भास्कर के पास सुरक्षित है।

भास्कर सवाल- सरकार! जब बसें थानों पर पैसा देकर निकल ही रहीं हैं तो नियमानुसार चालू क्यों नहीं करा देते, तीन गुना किराया वसूलकर यात्रियों से लूट क्यों करवा रहे, किराया तीस की जगह वसूल रहे सौ रुपए

पुलिसकर्मी दौड़ता हुआ आया और बस ड्राइवर के हाथ से रुपए लेकर वापस थाने के अंदर चला गया

रविवार की सुबह 8.30 बजे बस स्टैंड पर बस क्रमांक यूपी 93 एटी 4220 में झांसी जाने वाले यात्रियों को बैठाया जा रहा था। सुबह 10 बजकर पांच मिनट पर बस स्टैंड से उनाव के लिए रवाना हुई। दैनिक भास्कर टीम बाइक से बस के पीछे थी। ठीक 10 बजकर 36 मिनट पर यात्री बस उनाव थाने के सामने रुकी। यहां एक पुलिसकर्मी दौड़ता हुआ आया और ड्राइवर के हाथ से रुपए लेकर वापस थाने के अंदर चला गया।

पुलिसकर्मी ने बस के पास जाकर ड्राइवर से लिए रुपए, तब बॉर्डर पार कर झांसी के लिए रवाना हुई

झांसी बॉर्डर नाके पर वसूली
झांसी बॉर्डर नाके पर वसूली

बस आगे बढ़ी और बस स्टैंड पर पहुंची। यहां कंडक्टर ने चार-पांच यात्रियों को बैठाया फिर झांसी के लिए चल दी। ठीक 10 बजकर 41 मिनट पर बस उनाव-झांसी बॉर्डर पर पहुंची। यहां आर्मी की वर्दी में बैठे पुलिसकर्मी ने बस के पास जाकर ड्राइवर से रुपए लिए और बस वहां से निकलते हुए बॉर्डर पार कर झांसी के लिए रवाना हो गई।

ट्रक ड्राइवर से रुपए लेने के बाद रवाना हुआ ट्रक उनाव झांसी से आने वाले वाहनों पर कोई रोक नहीं

झांसी बॉर्डर नाके पर वसूली
झांसी बॉर्डर नाके पर वसूली

10 बजकर 42 मिनट पर ट्रक उनाव से झांसी जाने के लिए नाके पर रुका। उसी पुलिसकर्मी ने ट्रक ड्राइवर से रुपए लिए और ट्रक रवाना हो गया। भास्कर टीम ने देखा पुलिसकर्मी केवल वसूली कर रहे थे, उनाव-झांसी की तरफ जा रहे किसी वाहन को रोक-टोक नहीं रहे थे। वसूली कर वापस कुर्सी पर बैठ जाते थे। जबकि एक 8-10 साल का बच्चा वाहनों के निकलने के लिए नाका खोलने और बंद करने में लगा था।

भास्कर स्टिंग; एक हजार रु. तो बंटेंगे चलतन में, पुलिस को ऐसे पकड़ाने पड़त

सुबह 8.30 बजे बस क्रमांक यूपी 93 एटी 4220 ड्राइवर से किराए और झांसी जाने को लेकर हुई बातचीत के अंश-

भास्कर- भैया ये बस कहां जा रही हैं?
ड्राइवर- झांसी जा रही है...
भास्कर- कितने बजे चलेगी?
ड्राइवर- साढ़े नौ बजे।
भास्कर- दो सवारी हैं कितना किराया है?
ड्राइवर- दो होयें चाएं पांच, 100-100 रुपए लगेंगे, एक हजार रुपया तो बंटत हैं जाबें में...
भास्कर- ज्यादा किराया ले रहे हो तुम?
ड्राइवर- एक हजार तो बंटेंगे, चलतन में (उंगलियों से बताते हुए) ऐसें पकड़ाने पड़त थानों पे,
भास्कर- पहले तो 50 रुपए लगते थे?
ड्राइवर- भाईसाहब यूपी एलाऊ नईंया अबे जावो।
भास्कर- फिर कहां से जाते हो?
ड्राइवर- उनाव से जात हैं...पांच सौ थाने पे और पांच सौ बॉर्डर पे देने पड़त।

सीधी बात; अमन सिंह राठौड़, पुलिस अधीक्षक, दतिया

जांच के बाद पैसे लेने वालों पर कार्रवाई की जाएगी, बस संचालकों पर भी होगी कार्रवाई

सवाल- एमपी-यूपी के बीच बसों का आवागमन बंद है तो फिर चोरी छिपे संचालन क्यों हो रहा है। जवाब- बसों का आवागमन बंद है। यदि चोरी छिपे संचालन हो रहा है तो कार्रवाई की जाएगी। सवाल- बसों को थानों और नाकों के सामने से पैसे लेकर निकलने दिया जा रहा है। जवाब- थानों पर पैसों का लेनदेन करके बसों को निकलने दिया जा रहा है तो यह गंभीर मामला है। जांच के बाद दोषियों पर कार्रवाई होगी। सवाल- नाकों पर बैठे पुलिसकर्मी सिर्फ अवैध वसूली कर रहे हैं। वाहनों को रोक-टोक नहीं रहे हैं। जवाब- इसे भी शीघ्र दिखवाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...