शहर की गलियों में अंधेरा:कीचड़ के बीच गड्‌ढे बन रहे हादसों का कारण

दतिया3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • मोहल्लों में लगभग सभी हाईमास्ट, हेलोजन व एलईडी हो चुकी हैं खराब, जिन्हें नहीं करा रहे सही

झांसी रोड पर टोल प्लाजा से ग्वालियर रोड स्थित पॉलिटैक्निक कॉलेज तक, झांसी चुंगी से सेंवढ़ा चुंगी तक, बम-बम महादेव से खैरी माता मंदिर तक, बायपास पर उनाव रोड से कलापुरम तक, ठंडी सड़क पर छोटे फव्वारे से बड़े फव्वारे तक और झांसी चुंगी से पांच नंबर बंदा तक पूरा शहर शाम होते ही दूधिया रोशनी में नहाने लगता है। लेकिन दुर्भाग्य है कि शहर के अंदर मोहल्ले, कॉलोनियां, बस्तियां अंधेरे में डूबी रहती हैं। शाम होते ही सन्नाटा पसर जाता है। ऐसा लगता है जैसे यहां कोई नहीं रहता है।

बरसात का सीजन चल रहा है। जिससे अंधेरी गलियों में लोग न केवल कीचड़ में निकलते वक्त परेशान होते हैं बल्कि बरसाती सीजन में सांप, बिच्छू, गोयरे भी निकल रहे हैं। नगर पालिका बाकी विकास कार्यों पर तो ध्यान दे रही है, लेकिन अंधेरे में डूबे गली मोहल्लों में लाइट लगवाने के लिए काम नहीं हो रहा है।

खबरें और भी हैं...