• Hindi News
  • Local
  • Mp
  • Datia
  • Childhood Friends Will Build Teen Sheds For Cows In Memory Of Their Late Friend, So That They Can Be Remembered

सच्ची मित्रता:बचपन के मित्र अपने स्वर्गवासी मित्र की याद में गायों के लिए बनवाएंगे टीन शेड, ताकि उनकी याद आती रहे

दतियाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
भुवनेश्वर त्रिपाठी। - Dainik Bhaskar
भुवनेश्वर त्रिपाठी।
  • इंजीनियर भुवनेश्वर त्रिपाठी के बचपन के मित्रों ने लिया निर्णय, राशि एकत्रित होना शुरू

बगैर रक्त संबंधों के अगर कोई रिश्ता सबसे बड़ा माना जाता है तो वह है मित्र । कुछ लोगों ने यह साबित भी कर दिया। कोरोना से मित्र का निधन हो जाने के बाद बचपन के सभी मित्रों ने यादों में अपने स्वर्गवासी मित्र को जिंदा रखने के लिए गायों के लिए टीन शेड बनवाने का निर्णय लिया है। सोशल मीडिया पर बचपन ग्रुप से सभी जुड़े थे। मित्र के निधन के खबर के बाद सभी सक्रिय हो गए। टीन शेड के लिए रात्रि भी एकत्रित होने लगी। शीघ्र ग्वालियर हाईवे पर गोविन्द बाग के पास टीन शेड का निर्माण शुरू होगा।

कुंजनपुरा निवासी त्रिपाठी परिवार के भुवनेश्वर त्रिपाठी कोरोना से जंग हार गए। जैसे ही उनके बचपन के मित्रों को यह पता चला लोग यादों में अपने मित्र का जिंदा रखने की सोचने लगे। मोहल्ले में बचपन साथ में बिताने वाले वर्तमान में ग्वालियर स्वास्थ्य विभाग में पदस्थ मृगांग ढेंगुला में ग्रुप पर गायों के लिए टीन शेड लगाने का प्रस्ताव रखा। भुवनेश्वर के सभी बचपन के साथियों ने पैसा एकत्रित करना शुरू कर दिया।

निर्णय लिया गया कि गोविन्द बाग के पास सिंधी समाज के लोग गायों के चारा भूसा डालते है। बारिश में गौ माता भीगती है तो गर्मी में धूप की तपन सहती है। सभी ने वहां गायों के लिए टीनशेड निर्माण का निर्णय लिया। निर्णय होते ही मृगांग ने 11 हजार रुपए देने की बात ग्रुप पर लिखी । इसके बाद रामकुमार गुप्ता, मोहन सिंह यादव, राजेन्द्र त्रिपाठी, हर्षवर्धन श्रोत्री, अनिल मित्तल आदि से अपनी सामर्थानुसार रुपए देने की स्वीकृति देते हुए पैसा दिए। पैसा एकत्रित होते ही टीन शेड निर्माण की प्रक्रिया शुरू कर दी गई।

50 हजार से अधिक राशि में बनेगा टीन शेड
पैसा एकत्रित कर रहे मृगांग ढेंगुला ने बताया कि टीनशेड निर्माण में 50 हजार से अधिक की राशि खर्च होगी। मित्र की याद बनी रहे। इसलिए उसकी याद में यह शेड हम सभी बचपन के साथी लगा रहे है। ताकि दतिया आने पर शेड को देख कर मित्र की याद ताजा बनी रहें।

खबरें और भी हैं...