पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

रतनगढ़ मंदिर खोलने का रात में ही आदेश जारी:पीतांबरा पीठ पर दर्शन करने उमड़े श्रद्धालु, कुल देवी बड़ी माता मंदिर पर लगा रहा ताला, निराश होकर लौटीं महिलाएं

दतिया12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

रतनगढ़ माता मंदिर को खोलने का आदेश सेंवढ़ा एसडीएम ने शुक्रवार रात में ही जारी कर दिया था। इसलिए शनिवार को सुबह मंदिर खुला और पूरे दिन सैकड़ों दर्शनार्थियों ने दर्शन लाभ लिया। नवरात्र के प्रथम दिन शनिवार की वजह से श्री पीतांबरा पीठ पर देश के कोने-कोने से हजारों श्रद्धालु छह बजे ही मंदिर पर दर्शन करने पहुंच गए लेकिन माता का दरबार साढ़े आठ बजे खुला और श्रद्धालुओं को ढाई घंटे तक मेन गेट पर ही लाइन में लगकर इंतजार करना पड़ा।

लेकिन जिले के बाकी देवी मंदिरों के ताले नहीं खुले। विजय काली बड़ी माता मंदिर पर नवरात्र के पहले दिन ही 10 हजार से अधिक महिलाओं ने मंदिर के बाहर से ही जल चढ़ाया। महिला माता को नजदीक जल न अर्पित करने की वजह से जिला प्रशासन में बैठे अधिकारियों को कोसती नजर आईं।

बता दें कि कोविड-19 की वजह से मंदिरों को बंद किया गया था। लेकिन भारत सरकार के अनलॉक-5 में सभी मंदिरों को खोलने की अनुमति दे दी गई। यहां तक कि दो दिन पहले मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के सभी मंदिर नवरात्र में खोलने की घोषणा की। गृह मंत्रालय ने भी मंदिर खोलने के आदेश जारी कर दिए थे। लेकिन जिला प्रशासन मंदिर खोलने की हिम्मत नहीं जुटा पाया।

सिर्फ रतनगढ़ मंदिर को खोलने का ही आदेश शुक्रवार को जारी हुआ। शहर की कुल देवी विजय काली बड़ी माता, खैरी माता मंदिर, रामगढ़ की काली माता मंदिर समेत जिला प्रशासन के अधीन सभी मंदिर बंद रहे। जिससे श्रद्धालुओं की भावनाएं काफी आहत हुईं। शनिवार को नवरात्र के प्रथम दिन श्री पीतांबरा पीठ पर छह बजे ही हजारों लोग दर्शन करने लाइन में लग गए थे।

इन श्रद्धालुओं को ढाई घंटे इंतजार के बाद सुबह साढ़े आठ बजे प्रवेश मिला। पूरे दिन पीतांबरा पीठ पर दर्शनार्थियों की भीड़ देखने को मिली। खास बात यह है कि पीतांबरा पीठ नवरात्र में सुबह 6 बजे खोलने की मांग की जा रही है लेकिन मंदिर प्रबंधन के कुछ लोग सुबह 6 बजे मंदिर खोलने के लिए तैयार नहीं हैं।

सीढ़ियों पर जल चढ़ाकर लौटी महिलाएं...
शहर की कुल देवी बड़ी माता मंदिर पर नवरात्र के पहले दिन सुबह 4 ही महिलाएं कोसों दूर से नंगे पैर चलते हुए मंदिर पर पहुंची लेकिन मंदिर का चैनल गेट बंद होने से महिलाएं निराश हो गईं। महिलाओं ने सीढिय़ों पर ही जल चढ़ाया और दूर से ही दर्शन कर लौटीं। महिलाओं में काफी आक्रोश भी देखा जा रहा था। खैरी माता मंदिर पर भी ताला लगा रहा।

खुल गए रतनगढ़ मंदिर के पट, सुरक्षा के लिए तैनात हुआ फोर्स, भक्तों ने किए दर्शन
रतनगढ़ माता मंदिर शनिवार को श्रद्धालुओं के लिए खोल दिया गया। मंदिर पर सुबह से दर्शन करने के लिए लोगों का पहुंचना प्रारंभ हो गया, लेकिन यह संख्या आमतौर पर नवरात्र के दौरान लगने वाली भीड़ की तुलना में काफी कम थी। लगभग 10000 लोगों ने माई के दर्शन किए।

मंदिर में पुजारी पंडित राजेश कटारे द्वारा सुबह 8 बजे आरती के दौरान श्रद्धालुओं से मास्क लगाकर आने तथा सामाजिक दूरी के साथ परिसर में रहने का आह्वान भी किया गया। पुजारी ने बताया कि सुबह 8 बजे एवं शाम 7 बजे नियमित आरती होगी। इसके अलावा माई की भव्य झांकी के दर्शन लोगों को सोशल मीडिया पर लाइव कराए जाते रहेंगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- परिस्थितियां आपके पक्ष में है। अधिकतर काम मन मुताबिक तरीके से संपन्न होते जाएंगे। किसी प्रिय मित्र से मुलाकात खुशी व ताजगी प्रदान करेगी। पारिवारिक सुख सुविधा संबंधी वस्तुओं के लिए शॉपिंग में ...

और पढ़ें