रथ यात्रा / पहली बार भगवान भास्कर रथ यात्रा में नहीं करेंगे नगर भ्रमण

X

  • रथ यात्रा आज }5 सदी से हो रही रथ यात्रा, कोरोना के चलते भक्तों को मिलेंगे दूर से दर्शन लाभ, आज मंदिर की परिक्रमा करेंगे भास्कर भगवान

दैनिक भास्कर

Jul 01, 2020, 04:00 AM IST

दतिया. कस्बा उनाव में भगवान भास्कर सदियों से आषाढ़ शुक्ल एकादशी को नगर भ्रमण करते आ रहे है। लेकिन इस बार कोरोना संक्रमण के कारण पहली बार होगा कि भगवान नगर भ्रमण पर नहीं निकलेंगे। मंदिर परिसर में ही वह मूल मंदिर की पांच परिक्रमा कर रथ यात्रा की औपचारिकता पूरी करेंगे। वह भी सीमित भक्तों के साथ । यह निर्णय हाल ही में रथ यात्रा को लेकर हुई बैठक में लिया गया हैं। बता दें कि क्षेत्र में भगवान भास्कर की रथ यात्रा प्रसिद्ध है। इस दिन हजारों की संख्या में श्रद्धालु रथ यात्रा में शामिल होने व भगवान भास्कर के दर्शन करने पहुंचते हैं। 
मंदिर प्रबंधन समिति के सदस्य जय नारायण पंडा बताते है कि रथ यात्रा सदियों पुरानी हैं। मंदिर से जुड़े पंडा परिवारों के साथ रथ यात्रा व डोल ग्यारस मनाए जाने का 5 सौ साल पुराना रिकार्ड मौजूद है। रिकाॅर्ड के अनुसार ऐसा कभी नहीं हुआ कि आषाढ़ शुक्ल एकादशी को मनाई जाने वाले रथ यात्रा महोत्सव में भगवान भास्कर नगर भ्रमण पर न निकले हों। 

आज भगवान भास्कर करेंगे मंदिर की ही पांच परिक्रमा करेंगे 

समिति सदस्य जय नारायण बताते हैं कि हाल ही में नायब तहसीलदार मयंक तिवारी व प्रबंधन समिति के सदस्य सुनील पंडा, बच्चू लाल पंडा, परमेश्वरी पंडा आदि ने बैठक की। बैठक में तय किया गया कि रथ यात्रा के मेले में भीड़ को नहीं रोका जा सकता है। आने वाले श्रद्धालुओं को भी रथ के पास आने से रोकने में परेशानी होगी। ऐसे में तय किया गया कि भगवान भास्कर का रथ मंदिर प्रांगण में ही घूमेगा। भगवान भास्कर को मूल मंदिर की पांच परिक्रमाएं करा कर रथ यात्रा महोत्सव को पूरा किया जाएगा।

यह रहेगी व्यवस्था...
रथ यात्रा के दिन हवेली प्रांगण से भक्तों को प्रवेश दिया जाएगा। दक्षिणी द्वार से निकासी रहेगी। रथ के साथ शासन की गाइड लाइन के पालन करते हुए अधिकतम 50 पंडा, पुजारी, भक्त रह सकेंगे। शेष भक्तों को दूर से दर्शन करने का अवसर मिलेगा। प्रांगण में भीड़ एकत्रित न हो। इसलिए भक्तों के निकासी के बाद प्रवेश दिया जाएगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना